Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

सदन में गूंजा पुलिस अभिरक्षा में मौत का मामला, विपक्ष के हंगामे के बाद कार्रवाई स्थगित

02/03/2021
रायपुर। दंतेवाड़ा में पुलिस अभिरक्षा में हुई मौत का मामले में आज सदन में जमकर हंगामा हुआ। इस मामले में भाजपा ने स्थगन प्रस्ताव देकर चर्चा की मांग की। भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि ग्राम गुडसा की एक आदिवासी युवती पांडे कवासी की पुलिस अभिरक्षा में मौत हुई है। पुलिस ने नक्सली बताकर सरेंडर कराया था और बाद में उसकी अभिरक्षा में हत्या कर दी गई। वहीं भाजपा विधायक नारायण चंदेल ने कहा पूरे बस्तर क्षेत्र में ऐसी घटनाएं घटित हो रही है। आदिवासियों को प्रताड़ित किया जा रहा है।

भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कहा– विधानसभा सत्र जब जब चलती है पुलिस अभिरक्षा में मौत होती है। सरकार किसी मामले में जांच कराने से भागती है। जो नक्सली नहीं है उसे भी जबरदस्ती सरेंडर किया गया। सुबह से शाम तक पिता को मिलने नहीं दिया जाता और शाम को बता दिया जाता है कि बेटी ने आत्महत्या कर ली। भाजपा विधायक सौरभ सिंह ने कहा -पूरे बस्तर में नक्सलियों को सरेंडर करने का फर्जी खेल चल रहा है। यह मानवाधिकार का हनन है। भाजपा विधायक रजनीश सिंह ने कहा – प्रदेश में लगातार कानून व्यवस्था बिगड़ रही है। दंतेवाड़ा जैसी घटनाओं को अंजाम देकर जस्टिफाई करने की कोशिश की जाती है।

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा – दो सालों में नक्सलियों की कम सुरक्षा बलों में लगे जवानों की हत्याएं ज्यादा हुई है। नक्सलियों का मनोबल बढ़ा हुआ है। किसी भी आदिवासी को उठाकर ले जाना। थाने में हत्या करना और ये बताना कि आत्महत्या की है। इसे लेकर स्थानीय लोगों में नाराजगी है।
आसंदी ने कहा- स्थगन की सूचना आज ही मिली है। इसलिए इस पर निर्णय विचाराधीन है। भाजपा सदस्यों ने चर्चा की मांग को लेकर जमकर हंगामा किया, हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही 5 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई।