अश्लील तस्वीर वायरल करने की धमकी से त्रस्त छात्रा ने लगा ली थी फांसी

Posted on: 23-01-2019

पूरब टाइम्स। रामानुजगंज। व्हाट्सएप चैट के दौरान 21 जनवरी की दोपहर प्रेमी द्वारा एमएससी की छात्रा को उसकी अश्लील तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी लगातार दी जा रही थी। छात्रा उसके सामने गिड़गिड़ाती रही कि वह बदनाम हो जाएगी लेकिन युवक लगातार उसे प्रताडि़त कर तत्काल उसे मिलने बुला रहा था। इस बीच छात्रा ने अंतिम मैसेज में लिखा कि मैं मर जा रही हूं। इसके बाद उसने घर में फांसी लगा ली थी। इधर घटना से आक्रोशित परिजन व शहरवासियों ने आरोपी की गिरफ्तार की मांग को लेकर 22 जनवरी की सुबह अंबिकापुर-रामानुजगंज एनएच जाम कर दिया। परिजनों ने कहा कि जब तक आरोपी गिरफ्तार नहीं होता है तब तक वे बेटी की लाश नहीं जलाएंगे। मौके पर पहुंचे टीआई व नायब तहसीलदार द्वारा शाम तक गिरफ्तारी के आश्वासन के बाद चक्काजाम समाप्त हुआ। चक्काजाम करीब 3 घंटे तक चला। गौरतलब है कि रामानुजगंज के वार्ड क्रमांक-1में अस्पताल के बगल में रहने वाली 23 वर्षीय पूर्णिमा गुप्ता पिता ओमप्रकाश गुप्ता एमएससी की छात्रा थी। उसको नगर के ही वार्ड क्रमांक-13 में रहने वाले फिरदौस आलम द्वारा सोमवार की दोपहर व्हाट्सएप चैटिंग कर उसकी आपत्तिजनक फोटो वायरल करने की लगातार धमकी दी जा रही थी। उसने चैटिंग के दौरान युवती की फोटो डालकर उसका स्क्रीन शॉट भेजा व कहा कि बस इसे अपलोड करना है, इस पर काफी देर तक पूर्णिमा चैटिंग में फोटो नहीं डालने की बात लिखकर युवक के सामने गिड़गिड़ाती रही। युवती ने उसे यह भी कहा कि मुझे मार डालो लेकिन फोटो डालकर बदनाम मत करो। मेरे परिवार वाले जीते जी मर जाएंगे। इसके बावजूद फिरदौस आलम उसे धमकी देता रहा। काफी देर की बातचीत के बाद दोपहर लगभग 12.46 बजे अंतिम मैसेज लिखकर पूर्णिमा ने घर में ही फांसी लगाकर जान दे दी थी। इसके बाद परिजन उसे तत्काल अस्पताल ले गए, यहां जांच के बाद चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। युवक ने अधिकांश मैसेज कर दिए थे डिलीट : आरोपी युवक ने चैटिंग के बाद छात्रा के मोबाइल पर भेजे गए अधिकांश मैसेज को डिलीट कर दिया था। जबकि पुलिस द्वारा जब्त छात्रा के मोबाइल में उसके द्वारा लिखी सभी मैसेज मौजूद हैं।