पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने सरकार पर किया हमला

Posted on: 10-01-2019

रायपुर। राज्यपाल के अभिभाषण पर सदन में कृतज्ञता ज्ञापन पर चर्चा के दौरान भाजपा विधायक व पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने सरकार पर जमकर हमला किया। उन्होंने एक सामाजिक कार्यकर्ता के बयान का उल्लेख करते हुए कहा कि चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशियों को नक्सलियों ने अंदर तक प्रचार करने जाने दिया। यही वजह है कि सत्ता में आते ही कांग्रेस ने नक्सल डीजी को राज्य के डीजीपी का चालू प्रभार दे दिया। इस दौरान किसानों की कर्जमाफी को लेकर सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि किसी भी किसान का कर्जमाफ नहीं हुआ है, इस वजह से इस सरकार को बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। उन्होंने सरकार से इस्तीफे की मांग की। चंद्राकर ने कर्ज माफी की घोषणा को राज्य के किसानों के साथ धोखा करार दिया। उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि अगर कर्ज माफी हुई है तो किसी भी किसान के खाते में ऋण माफी का नो ड्यूज लिखा हुआ दिखा दीजिए। उन्होंने कहा कि सरकार को यह बताना चाहिए कि वह सोसायटी एक्ट की किस धारा के तहत सोसायटियों को कर्ज माफी का निर्देश दे रही है। चंद्राकर ने चुनाव के दौरान कांग्रेस भवन में कर्ज माफी के लिए गंगाजल लेकर सौगंध खाने पर भी कटाक्ष किया। छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में भाजपा की 15 वर्षों के शासन का जिक्र करते हुए चंद्राकर ने कहा कि यह रिकार्ड है। यह रिकार्ड कोई नहीं बना पाया है। इस दौरान उन्होंने राजिम कुंभ का नाम बदले जाने को लेकर भी सरकार की आलोचना की। सरकार ने जितने ऋण माफी की घोषणा की है, उतना बजट में प्रावधान नहीं किया है। इससे सहकारी बैंक की स्थिति फिर खराब हो जाएगी। उन्होंने रायगढ़ बैंक का उल्लेख करते हुए कहा कि ऐसे में सभी सहकारी बैंक डिफाल्ट हो जाएंगे।