Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



ग्वालियर। पिछले साल कोरोना के चलते लगे लाकडाउन व तमाम सख्ती से होली अछूती रह गई थी। 8 मार्च 2020 को होली थी और कोरोना के कारण लाकडाउन 22 मार्च से प्रभावी हुआ था, मगर अब सालभर में (12 महीने) पड़ने वाले सभी त्यौहारों पर कोरोना का दुष्प्रभाव पड़ने वाला है। क्योंकि रक्षाबंधन, नवरात्र, दशहरा, दिवाली के बाद अब होली के रंग में कोरोना ने भंग डाल दिया है। इस साल होली पर जलूस आदि प्रतिबंधित रहेंगे।


17 मार्च से कहीं भी 100 से अधिक लोगों की भीड़ जुटाने के लिए प्रशासन से मंजूरी लेना होगी। ऐसे में होली मिलन समारोह या अन्य आयाेजन भी बिना प्रशासनिक मंजूरी के नहीं हाे सकेंगे। वहीं कोरोना संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए विभिन्न धार्मिक व सामाजिक संगठनों ने भी भव्य आयोजन करने की अपनी योजना को निरस्त कर दिया है। 


अचलेश्वर न्यास के कार्यकारी न्यासी नरेंद्र सिंघल ने बताया कि इस साल कोराना के कारण होली पर कोई भव्य आयोजन नहीं होगा। हर साल रंग पंचामी पर भगवान की शोभा यात्रा निकाली जाती है, जिसमें बड़ी संख्या में शहरवासी शामिल होते हैं। चल समारोह में जमकर होली खेली जाती है, प्रसाद वितरण होता है, मगर इस बार शायद ही यह आयोजन किया जाएगा। जल्द ही होली के संबंध में बैठक कर अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

जबलपुर। कोरोना महामारी फिर से तेजी से फैल रही है। जिसकी रोकथाम के लिए प्रशासन के निर्देश का पालन नहीं करने वालों पर कार्रवाई की जा रही है। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पेट्रोलपंप मैनेजरों और कर्मचारियों पर कार्रवाई की। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने पिछले कुछ दिनों से कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए कोविड-19 की गाइड लाइन का कड़ाई से पालन कराने निर्देश दिए थे। 15 मार्च को अपराध समीक्षा बैठक के दौरान जिले में पदस्थ सभी सीएसपी और टीआइ को निर्देश दिए थे।


जो लोग मास्क नहीं लगा रहे है और दूरी का पालन नहीं कर रहे है उन पर कार्रवाई करते हुए चालान किए जाए। इसके अलावा ऐसे दुकानदार जिनकी दुकानों में भीड़ अधिक है और वह ग्राहकों का नियमों का पालन करने नहीं कह रहे है उन नगर निगम और प्रशासन की टीम कार्रवाई कर रही है। निर्देश पर मंगलवार की रात नियमों का पालन नहीं करने वाले 542 लोगों पर कार्रवाई की गई, जिनसे 54 हजार 200 रुपये का समन शुल्क वसूल किया गया।

बुधवार को ओमती टीआइ एसपीएस बघेल अपनी टीम के साथ भ्रमण करते हुए लोगों को नियमों का पालन करने के लिए जागरूक कर रहे थे। तभी पुल नं 2 के पास स्थित मोखा पेट्रोल पंप, तीन पत्ती चोक के पास स्थित बोहरा पेट्रोलपंप, नेपियर टाउन स्थित अग्रवाल पेट्रोलपंप, तैयबअली पेट्रोल पंप की जांच की गई। कोरोना गाइड लाइन का कड़ाई से पालन न करने पर तैयबअली पेट्रोल पंप, अग्रवाल पेट्रोलपंप और बोहरा पेट्रोल पंप के मैनेजरों से 1-1 हजार रुपये का चालान और कर्मचारियों से 100-100 रुपये का समन शुल्क वसूल किया गया।

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस की रफ्तार बेकाबू होती जा रही है। समय रहते कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए, तो आने वाले समय में भयावह आंकड़ा देखने को मिल सकता है। रायपुर और दुर्ग समेत कई जिलों में लगातार कोरोना मरीज बढ़ रहे है। इसके साथ ही मौतों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। रोड सेफ्टी वर्ल्ड क्रिकेट सीरीज में भी भारी लापरवाही बरती जा रही है। एक वजह कोरोना फैलने का यह भी हो सकता है। अब बिना दर्शकों के ही बाकी मैच कराने का मुद्दा उठ रहा है। 


प्रदेश में कोरोना के 856 नए पॉजिटिव मरीज सामने आए है। 8 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। राहत की बात यह है कि इस बीमारी से 266 मरीज़ स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किए गए है। पिछले कई महीनों बाद यह अब तक का सबसे अधिक आंकड़ा है। यानी अब कुल मिलाकर संक्रमितों की संख्या फिर बढ़ने लगी  है। 


आज रायपुर में 306 कोरोना मरीज, दुर्ग में 233, बिलासपुर में 56, सरगुजा में 42, धमतरी में 30, राजनांदगांव में 27, रायगढ़ में 24 और कोरिया-महासमुंद में 17-17 कोरोना मरीज मिले हैं. आज रायपुर में 2, दुर्ग में 4 और सरगुजा में 2 मरीज की कोरोना से मौत हुई है। 


स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक कोरोना से अब तक 3 लाख 9 हजार 979 लोग ठीक हो चुके है। अभी तक कोरोना से 3 हजार 909 लोगों की मौत हुई है। राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 4 हजार 98 है।  प्रदेश में आज 40 हजार 63 लोगों का कोरोना सैंपल लिया गया है।@GI@

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज अधिकारियों के साथ कोरोना समीक्षा की बैठक की. जिसमें प्रदेश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री ने नाइट कर्फ्यू लगाने के निर्देश दिए.राजधानी भोपाल और इंदौर में कल से नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा. वहीं प्रदेश के 8 शहरों जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, रतलाम, छिंदवाड़ा, बुरहानपुर, बैतूल, खरगौन में रात 10 बजे के बाद बाजार बंद रहेंगे.


निर्देश के मुताबिक इन शहरों में कर्फ्यू जैसी स्थिति नहीं रहेगी, लेकिन बाजार पूरी तरह से बंद रहेंगे. यह आदेश कल यानी 17 मार्च से लागू होगा. महाराष्ट्र से आने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग जारी रहेगी. साथ ही उन्हें एक हफ्ता आइसोलेशन में रहना होगा.


आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में कोरोना का खतरा खत्म होते-होते दोबारा बढ़ गया है. जिसका हॉटस्पॉट इंदौर शहर बना हुआ है. मध्य प्रदेश में सबसे अधिक मरीज इंदौर से ही सामने आ रहे हैं. इन बढ़ते मामलों ने प्रशासन की चिंता काफी बढ़ा दी है. मुख्यमंत्री ने कुछ दिन पहले ही इस बात के संकेत दे दिए थे. उन्होंने कहा था कि कोरोना को बढ़ने नहीं देना है, वरना लॉकडाउन की स्थिति पैदा हो सकती है.@GI@

गरियाबंद। सुपेबेड़ा में किडनी रोग से पीड़ित एक और मरीज की सोमवार देर रात मौत हो गई। राज्य के सरकारी अफसरों की बातों को दरकिनार कर परिजन उसका ओडिशा में अपने एक रिश्तेदार के घर में रखकर उपचार करा रहे थे। गरियाबंद स्वास्थ्य विभाग की ओर से मरीज की मौत होने की पुष्टि की गई है। अगले दिन मंगलवार को अंतिम संस्कार किया गया है। अब तक सुपेबेड़ा में किडनी रोग से पीड़ित 75 मरीज दम तोड़ चुके हैं।@GI@

जानकारी के मुताबिक, सुपेबेड़ा निवासी जयशन पटेल (49) में दो साल पहले किडनी रोग से पीड़ित होने की पुष्टि हुई थी। परिजन उसे ओडिशा में नवरंगपुर जिले के पापड़ा हांडी में अपने एक रिश्तेदार के घर ले गए थे। वहां देशी तरीके से उसका उपचार किया जा रहा था। गरियाबंद में अस्पताल प्रबंधन को सोमवार रात करीब 10 बजे मौत की सूचना दी गई। इसके बाद ओडिशा से एंबुलेंस के जरिए उसका शव रात एक बजे सुपेबेड़ा लाया गया।

बीएमओ अंजू सोनवानी ने बताया कि इस बीच स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार जयशन की बीमारी को लेकर संपर्क में थी। परिजन करीब एक माह से उसका ओडिशा में उपचार करा रहे थे। उन्होंने बताया कि 13 मार्च को सीएमएचओ डॉ. एनआर नवरत्न मरीज के घर गए थे। उन्होंने जयशन को वापस लाने और अस्पताल में उपचार कराने के लिए भी कहा था, लेकिन परिजन तैयार नहीं हुए। उनका कहना था कि जयशन के स्वास्थ्य में सुधार है।@GI@

भोपाल। मध्य प्रदेश में एक बार फिर कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। एक ही दिन में यहां 797 कोरोना पाजिटिव मरीज मिले हैं। 74 दिनों बाद एक साथ इतनी संख्या में कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। मध्य प्रदेश में अब सक्रिय मरीजों की संख्या 5024 हो गई है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार सुबह कहा कि मध्य प्रदेश में जिस तरह कोविड-19 के पाजिटिव केस बढ़ रहे हैं, वह हमारे लिए सचेत होने का विषय है। आज मैं इससे संबंधित महत्वपूर्ण बैठक करूंगा जिसमें कुछ और फैसले लिए जाना संभावित है। 


जनता से यही अपील करता हूं कि इसे गंभीरता से लें, मास्क लगाएं और सारे नियमों का पालन करें।उधर इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर समेत कई इलाकों में अचानक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है। कोरोना वायरस से बचने के लिए बताए गए नियमों मास्क और शारीरिक दूरी का पालन नहीं करना संक्रमण की सबसे बड़ी वजह बन रहा है। शहरों के बाजारों में भीड़ के साथ लोग मास्क भी नहीं पहन रहे और कोरोना वायरस की चपेट में आ रहे हैं। मध्य प्रदेश सरकार इसको लेकर अलर्ट हो गई है और संक्रमण को रोकने के लिए सख्त कदम उठा रही है।


भोपाल में सोमवार को 196 मरीज मिले हैं। प्रदेश में संक्रमण दर यानी जांचें गए सैंपल में पाजिटिव का प्रतिशत लगातार बढ़ रहा है। रविवार को 14,605 सैंपलों की जांच में 797 मरीज मिले हैं। यानी संक्रमण दर 5.4 फीसद रही। इसके पहले 24 नवंबर को संक्रमण दर 5.4 फीसद थी। इसके बाद से संक्रमण दर इससे नीचे रही। फरवरी में एक दिन संक्रमण दर डेढ़ फीसदी से नीचे पहुंच गई थी।


पीएनबी की ओर से बताया जा चुका है कि इन दोनों बैकों के चेक 31 मार्च 2021 तक ही मान्य होंगे। इसी तरह देना बैंक और विजया बैंक का बैंक ऑफ बडौदा में मर्जर हो चुका है। सिंडिकेट बैंक का केनरा बैंक में विलय हुआ है। हालांकि इस बैंक की चेकबुक के लिए ग्राहकों को 30 जून 2021 तक का समय दिया गया है। आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक अब यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का हिस्सा हैं। इलाहाबाद बैंक को सरकार अब इंडियन बैंक का हिस्सा बना चुकी है।

जिन बैंकों का मर्जर हो चुका है, उनके ग्राहकों को पहले ही सूचना दी जा चुकी है। साथ ही जिस बैंक में मर्जर हुआ है, उनकी नई चेकबुक भी जारी की जार ही है। ग्राहकों से कहा जा रहा है कि वे इस महीने तक ही पुराने चेक का इस्तेमला करें और इसके बाद यदि जरूर होती है तो नई चेकबुक का उपयोग करें। बैंकों ने विश्वास दिलाया है कि इस दौरान ग्राहकों को किसी तरह की परेशानी नहीं होने दी जाएगी।

रांची। रांची पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। बिहार की राजधानी पटना से बंगाल जा रहे एक व्यसायी से करोड़ों की संपति लूट कर भाग रहे अपराधियों को पुलिस द्वारा जाल बिछाकर पकड़ लिया गया है। अपराधियों के पास से व्‍यवसायी से लुटे गए करोड़ों की संपत्ति बरामद कर ली गई है। पुलिस अपराधियों से पूछताछ कर रही है। अपराधी गिरोह के दूसरे सदस्‍यों को पकड़ने के लिए कई ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है।

ओरमांझी थाना में रविवार को प्रेस वार्ता में रांची के एसएसपी रांची सुरेंद्र कुमार झा ने बताया कि एक इनोवा कार डब्लयूबी02एएल-9764 में सवार होकर व्यवसायी 56 केजी चांदी, 2.395 केजी सोना और 1.46 करोड़ रुपये नगद लेकर बिहार से बंगाल जा रहा था। इसकी भनक अपराधियों को लग गई। झारखंड के कोडरमा के पास अपराधियों ने व्यवसायी सहित उसकी इनोवा कार को कब्जे में कर लिया।@GI@

वे व्‍यवसायी के साथ कार में सवार होकर अपने ठिकाने की ओर भाग रहे थे। इस बीच गुप्त सूचना मिलने के बाद राज्य के सभी इंट्री प्‍वाइंट पर सघन वाहन जांच शुरू कर दी गई। रांची जिले के ओरमांझी में शास्त्री चौक के पास ग्रामीण डीएसपी नौशाद आलम, डीएसपी मुख्यालय प्रवीण कुमार सिंह व थाना प्रभारी श्यामकिशोर महतो के नेतृत्व में आने-जाने वाले वाहनों की सघन जांच की जा रही थी।

इस दौरान सिकिदिरी रोड से पहुंचे इनोवा कार को रोक उसमें सवार लोगों से पूछताछ की गई। इस गाड़ी में मौजूद रहे दोनों अपराधी बिहार के रहने वाले हैं। पांडेपुर थाना सिकरौल जिला बक्सर के धीरज कुमार व अंकुरा थाना एनटीपीसी औरंगाबाद के राहुल यादव को पुलिस ने मौके से गिरफ्तार कर लिया है। अपराधियों के पास से एक लोडेड पिस्टल 7.65 बोर भी बरामद किया गया है।@GI@


बताया गया कि लूट की इस बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए घटना से पूर्व व्‍यवसायी की रेकी की गई थी। अपराधियों को पकड़ने में ओरमांझी थाना के बुद्धेश्‍वर उरांव एएसआई, अनुराग कुमार आरक्षी, सनोज कमार दास आरक्षी व दिनेश कुमार यादव शामिल हैं। एसएसपी के साथ प्रेसवार्ता में ग्रामीण एसपी नौशाद आलम, सीटी एसपी सौरभ कुमार, थाना प्रभारी श्याम किशोर महतो, बीडीओ कुमार अभिनव स्वरूप उपस्थित रहे।

मुंबई। मुकेश अंबानी के घर के निकट विस्फोटक लदी स्कार्पियो मिलने के बाद से ही राज्य का एकमात्र, लेकिन मजबूत विपक्षी दल भाजपा सरकार पर आक्रामक नजर आ रहा है। अब सचिन वझे की गिरफ्तारी के बाद उसे अपने आरोपों को धार देने का मौका मिल गया है। लेकिन शिवसेना अब भी सचिन वझे को अच्छा अधिकारी बताने में ही जुटी है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि सचिन वझे का बचाव करके मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र की गरिमा को ठेस पहुंचाया है।

नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फड़नवीस पहले से कहते आ रहे थे कि स्कार्पियो अंबानी के घर के निकट खड़ी किए जाने की रात जो इन्नोवा स्कार्पियो के चालक लेकर वापस गई, वह अभी भी मुंबई में ही है। आज रात वही कार पुलिस मुख्यालय में पाए जाने व सचिन की गिरफ्तारी के बाद उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री और गृहमंत्री ऐसे सचिन का बचाव कर रहे थे, जैसे वही उनके वकील हों। फड़नवीस के अनुसार, मुझे लगता है कि अभी जांच का केवल एक ही पक्ष सामने आया है। मनसुख हिरेन की मौत का मामला अभी हल नहीं हुआ है। आगे जांच से पता चलेगा कि इसमें कौन शामिल था और उसका इरादा क्या था।

भाजपा विधायक राम कदम ने सचिन वझे के नार्को टेस्ट की मांग उठा दी है। उन्होंने कहा कि क्या सरकार इस बात को लेकर चिंतित है कि वझे की जांच सरकार तक पहुंच सकती है और कुछ नए खुलासे हो सकते हैं ? जबकि विधान परिषद में नेता विरोधी दल प्रवीण दरेकर ने कहा है कि अब उद्धव ठाकरे को जवाब देना चाहिए। क्योंकि वह सचिन वझे का बचाव कर रहे थे। शिवसेना के विरुद्ध अक्सर आक्रामक रहने वाले भाजपा नेता किरीट सोमैया ने कहा कि ठाकरे सरकार सचिन वझे का बचाव कर रही थी। 



मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर सुबह 10:23 बजे मई, 2021 में डिलिवरी वाली चांदी की कीमत 357 रुपये यानी 0.53 फीसद की तेजी के साथ 67,201 रुपये प्रति किलोग्राम पर चल रही थी। इससे पिछले सत्र में मई, 2021 में अनुबंध वाली चांदी की कीमत 66,844 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही थी।

 इसी तरह जुलाई, 2021 में डिलिवरी वाली चांदी की कीमत 363 रुपये यानी 0.53 फीसद की बढ़त के साथ 68,235 रुपये प्रति किलोग्राम पर चल रही थी। इससे पिछले सत्र में जुलाई कॉन्ट्रैक्ट वाली चांदी की कीमत 67,872 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही थी।
 
ब्लूमबर्ग के मुताबिक कॉमेक्स पर सोने का भाव 4.60 डॉलर यानी 0.27 फीसद की बढ़त के साथ 1,724.40 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रहा था। हाजिर बाजार में सोने का मूल्य 1.74 डॉलर यानी 0.10 फीसद की गिरावट के साथ 1,725.37 डॉलर प्रति औंस पर चल रही थी। 
 
कॉमेक्स पर चांदी की कीमत 0.09 डॉलर यानी 0.34 फीसद की बढ़त के साथ 26 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रही थी। इसी तरह हाजिर बाजार में चांदी की कीमत 0.01 डॉलर यानी 0.05 फीसद की गिरावट के साथ 25.91 डॉलर प्रति औंस पर चल रही थी। 

पुणे। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब राज्य सरकार ने पुणे में भी नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है. पुणे में 31 मार्च तक रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा. इसके साथ ही अकोला जिला प्रशासन ने सोमवार तक लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है. इससे पहले महाराष्ट्र सरकार ने नागपुर में 15 से 21 मार्च तक लॉकडाउन लगाने का फैसला किया था.
नाइट कर्फ्यू के दौरान पुणे में 31 मार्च तक स्कूल-कॉलेज 31 मार्च तक बंद रहेंगे. इसके साथ ही होटल, रेस्टोरेंट और बार को रात 10 बजे बंद करने का आदेश दिया गया है, हालांकि रात 10 से 11 बजे तक होम डिलिवरी सर्विस चालू रहेगी. इसके साथ ही होटल-रेस्टोरेंट को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ही चलाने की निर्देश दिया गया है. नाइट कर्फ्यू के दौरान मॉल, बाजार, सिनेमाहॉल को भी रात 10 बजे तक बंद करने का आदेश दिया है. इसके अलावा शादी समारोह और तेरहवी में सिर्फ 50 लोगों को शामिल होने की मंजूरी दी गई है। 
महाराष्ट्र के अकोला में शुक्रवार यानी आज रात 8 बजे से सोमवार की सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन लगाने का फैसला किया गया है. इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़ सारी दुकानें बंद रहेंगी. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अकोला जिला प्रशासन की तरफ से आदेश जारी किया गया है. अकोला में कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 4849 है. पिछले दस दिनो में जिले में करीब 4 हजार नए मामले सामने आए हैं. फिलहाल अकोला शहर में सभी तरह की दुकानें सुबह 9 से शाम तक 5 बजे तक खोलने का आदेश है. यानी की सप्ताह के 5 दिन दुकानें सुबह 9 से शाम 5 बजे खुलेंगी और हर शनिवार व रविवार को पूरी तरह से बंद रहेंगी.
महाराष्ट्र में लगातार बढ़ रहे कोरोना के नए मामलों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है. कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए उद्धव सरकार ने मुंबई से सटे ठाणे इलाके में लॉकडाउन की घोषणा के बाद जलगांव जिले में 3 दिन का जनता कर्फ्यू लगा दिया है. साथ ही नागपुर में 15 से 21 मार्च तक लॉकडाउन और जलगांव में 12 से 14 मार्च तक जनता कर्फ्यू की घोषणा की गई है. इसके अलावा नासिक में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया गया हैं। 

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने विधानसभा चुनावों के मद्देनजर शुक्रवार को एक खास फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकारों के लिए जारी एक आदेश में साफ कहा है कि राज्य चुनाव आयुक्तों को स्वतंत्र शख्स होना अनिवार्य है। राज्य में ऐसे किसी शख्स को नियुक्त नहीं किया जा सकता, जो राज्य सरकार के अंतर्गत किसी पद पर नियुक्त हो या कार्यरत हो। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि राज्‍य सरकार से जुड़े किसी भी व्‍यक्ति को चुनाव आयुक्‍त नियुक्‍त करना भारत के संविधान के खिलाफ है।

गौरतलब है कि शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने गोवा सरकार के सचिव को राज्य चुनाव आयुक्त का अतिरिक्त प्रभार देने के मामले पर सुनवाई की और यह फैसला सुनाया। कोर्ट ने कहा जो शख्स सरकार में कोई पद संभाल रहा हो उसे राज्‍य के चुनाव आयुक्‍त के पद पर कैसे नियुक्त किया जा सकता है। इस मामले की सुनवाई जस्टिस आरएफ नरीमन ने की और उन्होंने गोवा सरकार पर सवाल उठाया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि लोकतंत्र में चुनाव आयोग की स्वतंत्रता से समझौता नहीं किया जा सकता।

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि सरकार में किसी पद को संभाल रहे व्‍यक्ति को राज्य चुनाव आयुक्त का अतिरिक्त प्रभार सौंपना संविधान की भावनना के खिलाफ है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक गोवा में जिस तरह ये राज्‍य चुनाव आयुक्‍त का पद सरकार के सचिव को दिया गया है वह काफी हैरान करने वाला कदम है। एक सरकारी कर्मचारी, जो सरकार के साथ रोजगार में था बाद में गोवा का चुनाव आयोग का प्रभारी बनता है। सरकारी अधिकारी ने पंचायत चुनाव कराने के संबंध में हाई कोर्ट के फैसले को पलटने का प्रयास किया।

लखनऊ। अजीम मंसूरी शादी करना चाहते हैं। बहुत ढूंढने के बाद भी जब उन्हें दुलहन नहीं मिली तो वह थाने पहुंच गए। थाने में उन्होंने पुलिसवालों से शादी करवाने की गुहार लगाई है। 26 साल के अजीम का कहना है कि जब भी उनके घर में कोई शादी का रिश्ता लेकर आकर उन्हें देखकर लौट जाता है। उनका परिवार भी उनकी शादी कराने का कोई प्रयास नहीं कर रहा है। कारण है उनका कद, जो सिर्फ 2 फीट के हैं। अजीम ने कहा कि एक पब्लिक सर्वेंट होने के नाते पुलिस उनकी मदद करे।
अजीम छह भाई-बहनों में सबसे छोटे हैं। उन्होंने कहा कि जब वह पांचवी में पढ़ते थे तो उनके कद को लेकर लोग मजाक उड़ाते थे। एक दिन स्कूल में हद हो गई, वह परेशान हो गए और पढ़ाई छोड़ दी। उसके बाद वह अपने एक भाई के साथ कॉस्मेटिक शॉप में बैठने लगे। उनके पिता एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं। अजीम ने बताया कि जब वह 21 साल का हुआ, तो उसके माता-पिता ने उसके लिए दुलहन ढूंढनी शुरू की।
अजीम के बहनोई कासिम ने कहा हम बहुत कोशिश करते हैं। रिश्ते आते हैं लेकिन अजीम की हाइट के कारण लोग रिश्ता ठुकराकर चले जाते हैं। अजीम ने कहा कि उन्हें दुलहन चाहिए। वह तनाव के कारण रातभर सो नहीं पाते हैं। उन्होंने कहा, मैं इतने लंबे समय से कोशिश कर रहा हूं। क्या कोई ऐसा नहीं है जिसके साथ मैं अपना जीवन गुजार सकूं। अब मैं पब्लिक सर्वेंट पुलिस से मदद मांगने आया हूं।
अजीम ने बताया कि इससे पहले उन्होंने लखनऊ में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की थी, मैंने उनसे विनती की, मेरी मदद करें। 2019 में, एक पुलिस वाले का वीडियो वायरल हुआ था जो अजीम की शादी करवाने की बात कह रहा था। पुलिसवालों ने कहा कि अज़ीम ने शिकायत में यह भी आरोप लगाया है कि उसका परिवार, उसकी शादी करवाने का प्रयास नहीं कर रहा है।@GI@

मल्टीमीडिया टेक्स। एप्पल का सबसे पावरफुल कंप्यूटर iMac Pro बंद होगा। कंपनी की तरफ से इसका ऐलान कर दिया गया है। एप्पल  ने iMac Pro को साल 2017 में लॉन्च किया था। लॉन्चिंग के बाद से प्रोफेशनल वर्ल्ड में All in one iMac Pro को काफी पसंद किया जाता रहा है। लेकिन अब कंपनी इसका प्रोडक्शन बंद करने जा रही है। रिपोर्ट की मानें, तो Apple की तरफ से केवल स्टॉक में रखे iMac की बिक्री की जाएगी। कंपनी कोई नया iMac नहीं बनाएगी। ग्राहक iMac Pro के मिलिटेड स्टॉक को 4999 डॉलर (करीब 3,63,715 रुपये) में खरीद पाएंगे।  

iMac को अब तक के सबसे पावरफुल iMac के तौर पर जाना जाता है। यह खासतौर पर क्रिएटिव और  प्रोफेशनल्स जगत के  लोगों के लिए बनाया गया था, जो थ्री डी ग्राफिक्स पर काम करते है। iMac Pro के बंद होने की खबरों के बीच संभावना जताई जा रही है कि कंपनी नेक्स्ड जनरेशन का iMac कंप्यूटर लॉन्च कर सकती है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में भी इस ओर इशारा किया गया है। जिसमें जानकारी दी  गई थी कि एप्पल 21.5-इंच और 27-इंच मॉडल को बदलने के लिए इस साल iMacs की नई रिलीज़ के लिए तैयार है।  हालांकि इसकी ऑफिशियल जानकारी मौजूद नहीं है। 








बैतूल। नारी सशक्तिकरण, बालिका उत्थान और शिक्षा क्रांति की अलख जगाने वाली सावित्री बाई फुले की पुण्यतिथि पर अजास संगठन ने जिला चिकित्सालय में रक्तदान कर रक्तांजली दी। अजास जिला अध्यक्ष लीलाधर नागले, मीडिया प्रभारी पंकज डोंगरे ने बताया कार्यक्रम में प्रांतीय संयुक्त सचिव अजास करणलाल चन्देलकर, महिला प्रभारी चन्दप्रभा चौकीकर, प्रदेश उपाध्यक्ष अजास वंदना झरबड़े, देवेंद्र बर्थे, जिला अध्यक्ष अजास लीलाधर नागले, डॉ पी.आर.सोनारे बुद्धिस्ट सोसायटी सचिव, 

सचिव अजास रूपबसन्त झरबड़े, सह सचिव और स्वास्थ्य कर्मी पंकज डोंगरे, शिक्षक और कवि ओम प्रकाश साहू, शिक्षक मनोहर साहू, नारायण मनोहरे, वर्षा खातरकर, नीतीश वाईकर द्वारा माता सावित्री की फोटो के समक्ष मोमबत्ती प्रज्वलित कर पुष्प अर्पण किया। रक्तक्रांति वीर और शिक्षक शैलेन्द्र बिहारिया द्वारा रक्तदाताओं के लिए फल और ज्यूस की व्यवस्था के साथ रक्तदान से सम्बंधित आवश्यक व्यवस्था में सहयोग किया। ओम प्रकाश साहू, शैलेन्द्र बिहारिया द्वारा ओजस्वी कविता के माध्यम से रक्त वीरों को सम्मानित किया।

निर्मला भटनागर, वर्षा नागले, प्रदीपन संस्था चाईल्ड लाइन से वर्षा खातरकर, खलीता विश्वकर्मा, अजास अध्यक्ष लीलाधर नागले, अजास सदस्य देवेंद्र वाईकर, अमन साहू, नीलेश बर्डे, शिवरतन बिंजोडे, गुलाबराव माकोड़े द्वारा रक्त से माता सावित्री बाई फुले को रक्तांजली अर्पित की। रक्तांजली में अजास जिलाध्यक्ष लीलाधर नागले ने स्वयं आगे आकर अपनी पत्नी वर्षा नागले के साथ रक्तदान कर माता सावित्री बाई फुले को रक्तांजली दी।

रायपुर। कलेक्टर डाॅ एस भारतीदासन ने रायपुर जिले में कोरोना वायरस (कोविड़-19) प्रकरणों की बढ़ती संख्या को देखते हुए जिला प्रशासन के प्रत्येक स्तर पर कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम के लिए योजनाबद्ध एवं नियमित रूप से कार्य करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने ये निर्देश रेडक्रास सोसायटी के सभाकक्ष में आज आयोजित जिला कोविड टास्क फोर्स की बैठक में दिए। उन्होंने कहा कि कोविड के प्रसार को रोकने के लिए सभी इंन्सिडेट कमांडर फील्ड में जाकर कार्य करें, कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग का कार्य भी प्रभावी रूप से किया जाए।

कलेक्टर ने कहा कि यह देखा जा रहा है कि लोग मास्क को लेकर गंभीर नहीं है। उन्होंने ऐसे लोगों जिनके द्वारा कोविड के लिए जारी शासन-प्रशासन के नियमों और आदेशों का पालन नही किया जा रहा है, के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा होम आईसोलेशन के दिशा-निर्देशों का पालन अनिवार्य रूप से किया जाए। कलेक्टर ने यह भी कहा कि देश के अनेक राज्यों कोरोना के प्रकरण बढ़े है और पिछले वर्ष भी इसी समय कोरोना के प्रकरणों में तेजी से वृद्वि हुई थी और आगामी समय में भी प्रकरणों की संख्या बढ़ने की आशंका है, ऐसे में सभी संबंधित अधिकारी कार्य योजना बनाकर समयसीमा में समुचित कार्रवाई करें।

कलेक्टर ने नागरिकों से अपील की वे अपनी ओर से कोरोना से बचाव और सुरक्षा के लिए कोरोना संबंधी सामाजिक व्यवहार का पालन करें। मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें, सामाजिक दूरी बना कर रखें और सेनेटाईजर आदि का उपयोग करें। कलेक्टर ने जिले में कोरोना वायरस (कोविड-19) से बचाव एवं रोकथाम कार्य में संलग्न सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों तथा सभी इंसिडेंट कमांडर को एक्टिव सर्विलांस कार्य पर व्यक्तिगत रूप से ध्यान देने को कहा तथा इसका नियमित रूप से पर्यवेक्षण और समीक्षा करने को कहा। 

कलेक्टर ने कहा कि आपदा प्रबंधन कार्य में बाधा उत्पन्न करने वाले के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता, 1860 की धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51-60, एपिडेमिक डिसीजेज एक्ट, 1897 यथा संशोधित 2020 के सुसंगत प्रावधान सहपठित छत्तीसगढ़, एपिडेमिक डिसीजज कोविङ-19 रेगुलेशन 2020 के रेगुलेशन 14 के अधीन संबंधित पुलिस थाना में एफ.आई.आर. दर्ज कराई जाएगी। एफ.आई.आर दर्ज कराने का उत्तरदायित्व संबंधित इंसिडेंट कमांडर का होगा, जिसके लिये इसिडेंट कमांडर द्वारा अधीनस्थ अधिकारियों को प्राधिकृत किया जा सकता है।