Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है





नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट ने छत्तीसगढ़ सरकार से करोड़ों रुपये के सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) घोटाले में एक गवाह द्वारा दायर याचिका पर जवाब मांगा है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि ट्रायल कोर्ट में मामले की कार्रवाई को पटरी से उतारने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। शीर्ष अदालत ने इस बारे में राज्य सरकार, छत्तीसगढ़ की आर्थिक अपराध शाखा और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो से भी जवाब मांगा है।

कोर्ट में याचिका दायर की गई  है कि मामले को राज्‍य से बाहर शिफ्ट किया जाए। जस्टिस आर एफ नरीमन, नवीन सिन्हा और इंदिरा बनर्जी की तीन जजों की बेंच ने नोटिस जारी किया है, जिसमें कुछ नौकरशाह भी शामिल हैं। पीठ ने कहा है कि इस मामले में नोटिस का जवाब चार सप्ताह में दायर किया जाए, जिसमें याचिका में शामिल आवेदनकर्ता भी शामिल हैं। 


याचिकाकर्ता हजारों करोड़ के नागरिक आपूर्ति घोटाले में एक महत्वपूर्ण गवाह है, जिसे कुख्यात रूप से एनएएन घोटाले के रूप में जाना जाता है। याचिकाकर्ता की ओर से पेश वरिष्ठ वकील महेश जेठमलानी और रवि शर्मा ने सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत द्वारा मामलों की निगरानी और छत्तीसगढ़ सरकार को उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई करने से रोकने के निर्देश देने का आग्रह किया।

नई दिल्ली। पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी की तबीयत सोमवार को बिगड़ गई। आर्मी हॉस्पिटल का कहना है कि मुखर्जी इस समय फेफड़ों के इंफेक्‍शन के कारण सेप्टिक शॉक में हैं। उनकी सेहत की एक टीम निगरानी कर रही है। वह डीप कोमा में और वेंटिलेटर सर्पोट पर हैं। सेप्टिक शॉक की वजह से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित होता है। इससे पूरे शरीर में सूजन आ जाती है। 


नई दिल्ली। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा। गलवान झड़प के 75 दिन बाद फिर उसने यथास्थिति का उल्लंघन किया है। सेना के मुताबिक, 29 अगस्त की रात चीनी सेना ने पूर्वी लद्दाख के भारतीय इलाके में घुसपैठ की कोशिश की। भारतीय जवानों ने चीनी सैनिकों की इस कोशिश को नाकाम कर दिया। भारत ने इसे यथास्थिति का उल्लंघन बताया है। 

भारत ने यह भी कहा कि हमारी सेना बातचीत के जरिए शांति कायम करने के लिए प्रतिबद्ध है, लेकिन हम अपनी सीमाओं की सुरक्षा करना जानते हैं। इस मुद्दे को सुलझाने के लिए चुशूल में ब्रिगेड कमांडर लेवल की बातचीत भी हो रही है। 15 जून को लद्दाख के गलवान में चीन और भारत के सैनिकों में हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें हमारे 20 जवान शहीद हो गए थे। 

सेना के पीआरओ कर्नल अमन आनंद ने कहा कि भारतीय सैनिकों ने पैंगॉन्ग त्सो झील के दक्षिणी किनारे पर चीनी सैनिकों की गतिविधि को पहले से भांप लिया था और घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम कर दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि सेना के जवानों ने भारतीय पोस्ट को मजबूत करने और जमीन पर तथ्यों को एकतरफा बदलने के लिए चीनी इरादों को विफल करने की कार्रवाई की।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट आज डिफाल्टर और भगौड़े मालिक विजय माल्या द्वारा अदालत की अवमानना मामले में पुनर्विचार याचिका पर अपना फैसला सुनाएगा। किंगफिशर एयरलाइंस के विजय माल्या ने शीर्ष अदालत के आदेश को न मानते हुए 40 मिलियन डॉलर यानी 4 करोड़ अमेरिकी डॉलर अपने बच्चों के नाम ट्रांसफर किए थे. सुप्रीम कोर्ट आज अपनी अवमानना के दोषी विजय माल्या की पुनर्विचार याचिका पर आदेश देगा।

9 मई 2017 को कोर्ट ने विजय माल्या को डिएगो डील के 40 मिलियन डॉलर अपने बच्चों के एकाउंट में ट्रांसफर करने और सम्पत्ति का सही ब्यौरा न देने के लिए अवमानना का दोषी करार दिया था, हालांकि इस पर सज़ा तय होने से पहले माल्या ने पुनर्विचार याचिका दाखिल कर दी थी। पुनर्विचार अर्ज़ी खारिज होने की स्थिति में माल्या की सज़ा तय की जाएगी।


मुंबई। पूरा देश अब तक कोरोना वायरस से जंग लड़ रहा है मगर गुज़रते दिनों तक इसका संक्रमण भी तेज़ी से बढ़ रहा है। सिनेमा और मनोरंजन जगत में भी इस महामारी ने पांव पसारे हैं। जाने-माने सेलेब्रिटीज भी इसकी चपेट में आ चुके हैं। देश की सबसे सम्माननीय गायिका लता मंगेशकर की बिल्डिंग को सील कर दिया गया है। दक्षिण मुंबई के चांबला हिल इलाके में प्रभुकुंज बिल्डिंग में लता मंगेशकर रहती हैं, जिसे अब बीएमसी ने सील कर दिया गया है। 

बिल्डिंग में रहने वालों लोगों में बुजुर्गों की संख्या ज्यादा है। एहतियातन बीएमसी ने ये फैसला लिया कि बिल्डिंग को सील कर दिया जाए। लता मंगेशकर के परिवार ने एक बयान जारी किया है। बयान में लिखा गया है कि `हम लोगों को शाम से ही कॉल आ रही है कि प्रभुकुंज बिल्डिंग सील कर दी गई है। बिल्डिंग की सोसायटी और बीएमसी ने मिलकर ये फैसला लिया है।

बुजुर्गों की सुरक्षा को देखते हुए बिल्डिंग को सील किया जा रहा है। कोरोना वायरस से बहुत ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है। खासकर इसका प्रकोप बुजुर्गों पर ज्यादा देखा जा रहा है। कोरोना प्रकोप को देखते हुए हमारी सोसायटी में गणेश चतुर्थी का सेलिब्रेशन बहुत सादगी से किया जा रहा है। आप सभी से मेरा निवेदन है कि हमारे परिवार वालों की सेहत को लेकर किसी प्रकार की अफवाहें ना फैलाएं।

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पार्टी के 23 नेताओं ने ऊपर से नीचे तक बदलाव को लेकर पत्र लिखा। उनमें से एक पूर्व केंद्रीय मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल भी हैं। उनका कहना है कि कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में उनके द्वारा जताई गई चिंताओं पर न तो बात हुई और न ही उसे साझा किया गया। इतना ही नहीं जब पत्र लिखने वाले नेताओं पर हमला हुआ तब कोई भी नेता बीच में नहीं आया। 

सिब्बल का कहना है कि कांग्रेस को एक अध्यक्ष की जरूरत है और पत्र में उल्लिखित चिंताओं का जल्द से जल्द समाधान किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हमेशा भाजपा पर संविधान का पालन नहीं करने और लोकतंत्र की नींव को नष्ट करने का आरोप लगाती है। कांग्रेस नेता ने कहा, हम क्या चाहते हैं? हम अपने (पार्टी के) संविधान का पालन करना चाहते हैं। उस पर आपत्ति कौन कर सकता है।

कपिल सिब्बल ने कहा, इस देश में राजनीति, मैं किसी पार्टी विशेष की बात नहीं करता, अब मुख्य रूप से वफादारी पर आधारित है। हमें वह चीज चाहिए जो वफादारी प्लस कहलाती है। वह प्लस क्या है? वह प्लस योग्यता, समावेशिता, कारण के प्रति प्रतिबद्धता और उस प्लस को सुनने और संवाद करने में सक्षम होने के बारे में है। यही राजनीति होनी चाहिए।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पत्र ने एक पूर्णकालिक और प्रभावी नेतृत्व, जो दिखाई दे और सक्रिय हो, सीडब्ल्यूसी के चुनाव और पार्टी के पुनरुद्धार के लिए सामूहिक रूप से संस्थागत नेतृत्व तंत्र की तत्काल स्थापना की मांग की। लेकिन पत्र के कारण पार्टी के अंदर एक बहस शुरू हो गई जो मुख्यमंत्रियों और राज्य इकाइयों के लिए निष्ठा परीक्षा हो गई। उन्होंने गांधीवाद के प्रति निष्ठा जताई और पत्र लिखने वालों को दरकिनार कर दिया।

सिब्बल ने कहा कि सीडब्ल्यूसी को इस बात से अवगत कराया जाना चाहिए था कि पत्र में क्या कहा गया है। उन्होंने कहा, ‘यह मौलिक चीज है जो होनी चाहिए थी। यही इन 23 लोगों ने लिखा है। यदि हमने जो कुछ भी लिखा है, उसमें आपको गलती मिलती है तो निश्चित रूप से, हमसे सवाल किए जाने चाहिए। बैठक में हमारी किसी भी चिंता, अनुरोध पर बात नहीं हुई। फिर भी हमें असंतुष्ट कहा गया है।

इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद ने कहा कि मेरा उद्देश्य गांधी परिवार को चुनौती देना या उनका निरादर करना नहीं है। मैं केवल पार्टी को और मजबूत करना चाहता हूं। उन्होंने कहा, मंशा कांग्रेस को मजबूत करने की थी। मैं पिछले 34 साल से कार्य समिति में हूं। जिनको कुछ भी नहीं मालूम और अप्वाइंटमेंट वाला कार्ड मिल गया है वो सब विरोध करते हैं, वो सब बाहर जाएंगे।` उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस पार्टी को 50 वर्षों तक विपक्ष में बैठना है तो सीडब्ल्यूसी के चुनाव मत कराओ। मुझे इससे क्या फायदा है। हमारा रिश्ता गांधी परिवार से पारिवारिक है।


सत्ताधारी पार्टी भाजपा ने एक साल में 4.61 करोड रूपए का विज्ञापन फेसबुक को दिया है जबकि कांग्रेस ने इस अवधि में फेसबुक को 1.84 करोड़ रुपये के विज्ञापन दिए हैं। अभी नई नवेली राजनीति पार्टी आम आदमी पार्टी भी इस दौड़ में पीछे नहीं है। फेसबुक को विज्ञापन देने में ये तीसरे नंबर पर है। डिजिटल विज्ञापन के विवरण को देखा जाए तो इसमें कांग्रस और आम आदमी पार्टी पीछे है। 

फेसबुक के राजनीतिक विज्ञापनों की कैटेगरी में टॉप 10 की लिस्ट में आम आदमी पार्टी का भी नाम शामिल है जिसने फेसबुक को करीब 69 लाख रुपये के विज्ञापन दिए हैं। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक फरवरी 2019 से अब तक फेसबुक इंडिया को इस राजनीतिक विज्ञापन की कैटेगरी के तहत कुल 59.65 करोड़ रुपये के विज्ञापन दिए गए हैं। ये विज्ञापन सिर्फ वेबसाइट और इसके एप पर ही नहीं बल्कि फेसबुक के अन्य प्लेटफॉर्म जैसे इंस्टाग्राम, ऑडिएंस नेटवर्क और मैसेंजर पर भी मिले हैं। 

दिल्ली। एक रेस्टोरेंट को ग्राहक से आइसक्रीम के दस रूपये ज्यादा लेना काफी भारी पड़ गया। कोर्ट ने रेस्टोरेंट पर दो लाख का जुर्माना लगाकर तगड़ा सबक सिखाया। मुंबई की एक उपभोक्ता अदालत ने एक रेस्टोरेंट पर दो लाख का जुर्माना लगाते हुए कहाकि ग्राहकों से वस्तुओं की एमआरपी से अधिक कीमत वसूल करना अपराध है। ग्राहकों के हित के लिए रेस्टोरेंट और दुकानों द्वारा इस तरह की बेईमानी और धोखाधड़ी करके व्यापार करना ठीक नहीं है। इसके बाद अदालत ने कड़ी चेतावनी देते हुए रेस्टोरेंट पर जुर्माना ठोंक दिया।

दरअसल, मुंबई के एक रेस्टोरेंट ने भास्कर जाधव नामके शख्स से एक आइसक्रीम के फैमिली पैक के लिए 175 रुपये लिए थे। इस पैकेट की एमआरपी 165 रुपए थी। ये घटना 2015 की है। जाधव ने रेस्टोरेंट की इस हरकत के विरोध में दक्षिण मुंबई जिला उपभोक्ता विवाद निवारण फोरम में शिकायत दर्ज कराई थी। जाधव ने शिकायत में कहा कि बिल में अतिरिक्त कीमत देखकर वे हैरान हो गए। उन्होंने रेस्टोरेंट से इसे बारे में बात की लेकिन उनकी बात सुनी नहीं गई। जिसके बाद उन्होंने अदालत का रुख किया और अदालत ने रेस्टोरेंट पर जुर्माना ठोंक दिया।


परभणी से शिवसेना सांसद संजय जाधव ने उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर कहा है कि वे उनका इस्तीफा स्वीकार करें। जाधव ने शिवसेना कार्यकर्ताओं की लगातार उपेक्षा और उत्पीड़न होने व उन्हें न्याय न मिलने पर अड़ी नाराजगी जताते हुए अपना इस्तीफा सौंप दिया है। शिवसेना सांसद ने सहयोगी दलों एनसीपी और कांग्रेस नेताओं पर करारे हमले भी किए।

सांसद संजय जाधव ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर कहा है कि जिंतुर कृषि उत्पन्न बाजार समिति में गैर सरकारी प्रशासक मंडल की नियुक्ति करने के लिए पिछले दस महीनों से मैं आपके पास दौड़ रहा था लेकिन आपने मेरी बात तक नहीं सुनी। यहां कांग्रेस और एनसीपी नेताओं ने शिवसेना के कार्यकर्ताओं का लगातार उत्पीड़न कर रखा है लेकिन हमारी सुनने वाला कोई नहीं है। इससे तंग आकर मैं अपना इस्तीफा सौंप रहा हूं।

नई दिल्ली। पूर्वी दिल्ली में बसे त्रिलोकपुरी इलाके से शर्मनाक घटना सामने आई है। यहां एक आदमी ने अपनी पत्नी को बीते कई महीनों से जंजीरों में बांधकर रखा हुआ था। 32 वर्षीय इस महिला को शारीरिक और मानसिक तौर पर प्रताड़ित किया जा रहा था, जिससे पीड़िता का मानसिक स्वास्थ्य भी बिगड़ गया है। दिल्ली महिला आयोग ने इस महिला के घर जाकर उसे जंजीरों से आजाद किया है। महिला को उपचार के लिए हॉस्पिटल ले जाया गया है और आरोपी पर कानूनी कार्रवाई की तैयारी की जा रही है।



नई दिल्ली। पेट्रोल की कीमतों में आज लगातार पाँचवें दिन तेजी रही, जबकि डीजल की कीमत लगातार 24वें दिन स्थिर रही। देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का मूल्य 13 पैसे बढकर 81.62 रुपये प्रति लीटर पर पहुँच गया। यह 21 अक्टूबर 2018 के बाद का उच्चतम स्तर है। कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में भी इसकी कीमत 12-12 पैसे की वृद्धि के साथ क्रमश: 83.13 रुपये, 88.28 रुपये और 84.64 रुपये प्रति लीटर हो गई।

डीजल की कीमत दिल्ली में 73.56 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर रही। कोलकाता में इसका मूल्य 77.०6 रुपये पर, चेन्नई में 78.86 रुपये पर और मुंबई में 8०.11 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर पर बना रहा।  देश के चार प्रमुख महानगरों में पेट्रोल-डीजल की कीमत (रुपये प्रति लीटर में)  इस प्रकार रही: महानगर पेट्रोल डीजल,दिल्ली 81.62(+13 पैसे) 73.56(स्थिर),कोलकाता 83.13(+12 पैसे) 77.06(स्थिर),मुंबई 88.28(+12 पैसे) 80.11(स्थिर),चेन्नई 84.64(+12 पैसे) 78.86(स्थिर) 

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट में शादी से पहले दुष्कर्म के एक मामले की चल रही कार्यवाही पर अंतरिम रोक लगा दी है। याचिकाकर्ता ने हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती देते हुए मुकदमे को खारिज करने की मांग की है। जस्टिस एएम खानविलकर, जस्टिस दिनेश माहेश्वरी व जस्टिस संजीव खन्ना की पीठ ने सुनवाई के दौरान कहा, नई दिल्ली के साकेत कोर्ट के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश में चल रहे इस मुकदमे की आगे की कार्यवाही पर रोक लगाई जाती है।      
अभियोजन पक्ष के अनुसार याचिकाकर्ता व आरोपित के बीच जनवरी, 2013 में मुलाकात हुई। महिला विधवा थी। दोनों लिव इन में रहने लगे। अगस्त, 2013 में विवाद के बाद महिला ने दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करा दिया। वर्ष 2014 में दोनों ने शादी कर ली लेकिन कुछ मतभेदों के कारण मुकदमा जारी रहा। 16 अगस्त, 2019 को महिला ने मुकदमा रद किए जाने की स्वीकृति दे दी लेकिन दिल्ली हाई कोर्ट ने दो बार याचिका खारिज कर दी। सुप्रीम कोर्ट ने गत गुरुवार को दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी करते हुए मामले पर चार हफ्ते बाद की सुनवाई का फैसला किया।

बीते दिनों ऐसे ही एक मामले में ओडिशा उच्च न्यायालय  ने एक अहम टिप्पणी की थी। अदालत ने कहा था कि शादी का वादा कर शारीरिक संबंध बनाना दुष्‍कर्म के समान नहीं है। जस्टिस एसके पाणिग्रही ने एक निचली अदालत के आदेश को दरकिनार करते हुए और दुष्‍कर्म के आरोपी की जमानत अर्जी को मंजूर कर ली थी। यह केस ओडिशा के कोरापुट जिले से पिछले साल नवंबर में 19 साल की आदिवासी महिला की दुष्‍कर्म की शिकायत पर एक छात्र की गिरफ्तारी से जुड़ा था। अदालत ने सवाल उठाए थे कि क्या दुष्‍कर्म कानूनों का उपयोग सहमति जन्‍य शारीरिक संबंधों पर लागू किया जाना चाहिए। 

पुर्तगाल। पत्‍नी के तलाक लेने से नाराज एक सनकी पति ने जापानी समुराई तलवार से उसके नए प्रेमी के गुप्‍तांग काट दिए। इससे उनकी मौत हो गई। इस दौरान हत्‍यारे ने अपनी पूर्व पत्‍नी को केबल से बांध दिया था ताकि वह पूरे घटनाक्रम को देख सके। घटना पुर्तगाल के एक छोटे से गांव की है। उधर, पुलिस ने आरोपी को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू किया तो पता चला कि हत्‍यारे ने भी आत्‍महत्‍या कर ल‍िया है।


स्‍पानइआर्ड कार्लोस सांडे फिडल्‍गो का शव भी मिल गया। वह पेशे से बिजनसमैन थे और अपनी पूर्व पत्‍नी के नए र‍िश्‍ते से खुश नहीं थे। स्‍थानीय मीडिया में आई रिपोर्ट्स में कहा गया है कि हत्‍यारे ने अपनी पूर्व पत्‍नी के हाथों को केबल से बांध दिया था कि वह अपने नए प्रेमी के गुप्‍तांगों को काटे जाते समय देख सके। गुप्‍तांग काटे जाने से प्रेमी लुईस मिगुइल की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि हत्‍यारे ने अपनी पूर्व पत्‍नी के कार में जीपीएस ट्रैकर लगा दिया था ताकि उसे पता चल सके कि कहां जा रही है।

नई दिल्ली। देश में आज गणेश चतुर्थी का पर्व मनाया जा रहा है, लेकिन इस बार कोरोना महामारी के कारण कोई भी त्योहार पहले जैसे नहीं मनाया जा सकता है। इसलिए घरों में रहकर या कम लोगों के साथ इस त्योहार को मनाने के लिए लोग प्रयास कर रहे हैं। गणेश चतुर्थी के दिन गणपति बप्पा को लोग अपने घर लाते हैं। गणेश जी को अपने घर पर आदर-सत्कार के साथ स्थापित कर ग्यारहवें दिन उन्हें धूमधाम के साथ विसर्जित कर दिया जाता है। इस अवसर पर देश के राष्ट्रपति से लेकर प्रधानमंत्री तक सभी ने बधाई दी है।



गृह मंत्री अमित शाह ने भी समस्त देशवासियों को गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएं दी। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा, आप सभी को गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं। मंगलकर्ता-विघ्नहर्ता के आशीष की आज पूरे देश को आवश्यकता है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गणेश चतुर्थी के अवसर पर कहा, आप सभी को गणेश चतुर्थी के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं। 






मुंबई। मुंबई पुलिस ने अनुदान रोड नर्सिंग होम के एक डॉक्टर को गाली देने और धमकी देने के आरोप में महिला के खिलाफ केस दर्ज किया है। डॉक्टर ने भीड़ में जा रही महिला को मास्क लगाने के लिए कहा था, जिसके बाद महिला डॉक्टर पर बिफर पड़ी और धमकी देने लगी। मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। डीबी मार्ग पुलिस के अनुसार, डॉक्टर कविता तिलवानी बुधवार को पुलिस को शिकायत दी है। मालाबार हिल क्षेत्र निवासी तिलवानी अपने भाई के साथ ग्रांट रोड में एसपी नर्सिंग होम चलाते हैं।

दरअसल, 17 अगस्त को, आठ महीने की गर्भवती मरीज फैज़मा शेख को नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था। पुलिस ने कहा कि उसकी सीजेरियन डिलीवरी 18 अगस्त को हुई थी। पुलिस शिकायत में कहा गया है कि गुरुवार को जब शेख मरीज के कमरे में था, उसके करीब 20-22 रिश्तेदार उसे देखने के लिए नर्सिंग होम में आए थे। उनमें से कुछ मास्क नहीं पहने थे।

तिलवानी जब शेख को देखने के लिए रोगी के कमरे में गए तो उन्होंने देखा कि शेख के रिश्तेदारों ने उस जगह पर भीड़ लगा दी थी और तीन महिलाएं मरीज के बिस्तर पर बैठी थीं। इनमें कुछ बिना मास्क के थे। जब तिलवानी ने इसके लिए आपत्ति जताई और लोगों को मास्क पहनने और मरीज के कमरे से बाहर जाने के लिए कहा तो मरीज के बिस्तर पर बैठी एक महिला नफीसा अब्बास लकड़ावाला ने उसे गाली देना शुरू कर दिया और मारपीट करने की धमकी भी दी। 

बाद में बाकी कर्मचारियों के आने के बाद परिजन कमरे के बाहर निकल गए। इसके बाद तिलवानी ने डीबी मार्ग पुलिस स्टेशन को फोन किया और लकड़ावाला के खिलाफ महाराष्ट्र मेडिकेयर सर्विस पर्सन्स एंड मेडिकेयर सर्विस इंस्टीट्यूशंस (हिंसा और नुकसान की रोकथाम या संपत्ति को नुकसान) अधिनियम, 2010 की धारा 4 के तहत मामला दर्ज किया।

मुंबई। कोविड -19 महामारी के बीच गणेश उत्सव की शुरुआत शनिवार से हो रही है। 22 अगस्त को गणेश चतुर्थी मनाई जाएगी। इसके बाद अगले 10 दिनों तक गणेश उत्सव चलेगा। हालांकि इस बार कोरोना की वजह से बड़े पंडालों की अनुमति नहीं है, ऐसे में लोग घर पर ही गणेश जी को विराजमान करेंगें। बाॅलीवुड सेलेब्रिटीज इस उत्सव में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं। कुछ सितारों ने तो गणपति के आगमन की शुरुआत भी कर दी है।

एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी अपने घर गणपति बप्पा को ले आईं। उन्हें अपने घर के अंदर भगवान गणेश की मूर्ति ले जाते हुए देखा गया। इस नजर से शिल्पा बाॅलीवुड की पहली हस्ती हैं जिन्होंने सबसे पहले श्री गणेश का स्वागत किया है। इस बार का यह उत्सव शिल्पा के लिए काफी खास है क्योंकि उनकी बेटी की यह पहली पूजा होगी। इससे पहले शिल्पा अपने बेटे और पति राज कुंद्रा के साथ उत्सव को बड़ी धूमधाम से मनाती आई हैं।

शिल्पा के अलावा एक्टर नील नितिन मुकेश ने घर भी गणपति का आगमन हुआ है। इसकी कुछ तस्वीरें नील ने अपने अफिशल इंस्टाग्राम अकाउंट पर पोस्ट की। इन तस्वीरों में आप देखेंगे कि नील भगवान गणेश को चुन्नी से ढकरकर घर की ओर ले जा रहे हैं। हालांकि अभी उत्सव में एक दिन बाकी है। ऐसे में और भी सेलेब्रिटीज की गणेशोत्सव की तस्वीरें सामने आएंगी।