Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



नई दिल्‍ली। संसद में नेताओं के बीच अब नया मुद्दा उठ गया है। बॉलीवुड में ड्रग्‍स का मामला अब संसद में नेताओं के बीच बयानबाजी की वजह बन चुका है। सोमवार को लोकसभा सांसद रवि किशन ने सदन में ड्रग्‍स का मामला उठाया तो आज सपा सांसद जया बच्‍चन ने अपने इस बयान की निंदा करते हुए बिना नाम लिए उनपर जमकर हमला किया। ऐसे में रवि किशन एक बार फिर सामने आए और अपने ऊपर किए गए हमले का जवाब दिया। जया बच्‍चन के बयान को लेकर कंगना ने भी एक ट्वीट करके उनसे सवाल पूछा।

रवि किशन ने जया बच्‍चन पर पलटवार करते हुए कहा, मुझे कोई थाली नहीं मिली, मैंने थाली को खुद परोसा। मेरा इतिहास पढ़ लो। मैं वहीं आदमी हूं, जिसने कहा था कि जिंदगी झंडवा, फिर भी घमंडवा। मैंने यह इसलिए बोला, क्‍योंकि न तो मुझे कोई काम देता था और न ही पैसे मिलते थे। मुझे महादेव और देश की जनता ने सुपरस्‍टार बनाया। मेरे ऊपर किसी की नजर नहीं गई और न ही मुझे किसी ने लॉन्‍च किया। मैंने स्‍वयं को लॉन्‍च किया। मैं एक पुजारी का बेटा था, मुझे कोई जानता नहीं था। उन्‍होंने कहा, मेरा इतिहास भी तो जान लो, लोग चलकर चलकर ऊपर आते हैं, मैं रेंगकर ऊपर आया हूं। जितना इंडस्ट्री पर जया जी का अधिकार, उतना ही मेरा भी।

जया बच्‍चन के सदन में दिए गए बयान के बाद कंगना ने ट्वीट करते हुए लिखा, जी क्‍या आप तब भी ऐसी बात करतीं अगर मेरी जगह आपकी बेटी श्वेता को पीटा, नशा और छेड़छाड़ की जाती है, क्या आप तब भी ऐसी ही बात कहेंगी यदि अभिषेक बदमाशी और उत्पीड़न की शिकायत करते और एक दिन फांसी पर लटके मिले? हमारे लिए भी करुणा दिखाओ। आपको बता दें कि सदन में रवि किशन के बॉलीवुड में ड्रग्‍स को लेकर दिए गए बयान पर समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन ने उनपर निशाना साधा है।

जया बच्‍चन ने कहा कि ड्रग्स को लेकर बॉलीवुड को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है। जया बच्चन ने कहा, कल लोकसभा में एक सांसद ने बॉलीवुड के बारे में एक बयान दिया। वह खुद बॉलीवुड उद्योग से हैं। जिन लोगों को नाम और प्रसिद्धि मिली है, उनमें से कुछ ने इसे `गटर` कहा है। उन्होंने आगे कहा, यह फिल्म उद्योग ही है, जिसने कई लोगों को नाम और प्रसिद्धि दी। मुट्ठी भर लोगों द्वारा कुछ चीजों के लिए इंडस्ट्री को लगातार बदनाम करने की प्रक्रिया चलती रही है। यह लोग जिस थाली में खाते हैं, उसी में छेद करते हैं।

भोपाल। रविवार को सोशल मीडिया में भोपाल का एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें एक युवक वन विहार के प्रवेश द्वार के पास एक बेसहारा कुत्ते को ब़़डे तालाब में फेंकता हुआ दिखाई दे रहा है। इसके बाद वह मुस्कुराते हुए वहां से चला जाता है। पशुप्रेमियों की शिकायत के बाद श्यामला हिल्स थाने में सलमान नाम के युवक के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के तहत केस दर्ज कर लिया गया है।

श्यामला हिल्स थाना प्रभारी तरण भाटी ने बताया कि कुछ पशु प्रेमियों ने रविवार शाम को थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई। उसमें बताया कि उनके पास एक वीडियो आया है। वीडियो में वन विहार के पास एक युवक कुत्ते को क्रूरतापूर्वक उठाकर तालाब में फेंक रहा है। उस युवक का नाम सलमान पता चला है। वह काजी कैंप का रहने वाला है। शिकायत के आधार पर आरोपित सलमान के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

मुंबई। बीते कई दिनों से जारी तनाव के बाद कंगना रनौत सोमवार की सुबह मुंबई से हिमाचल प्रदेश स्थित अपने घर के लिए रवाना हो गई हैं। उनके साथ उनकी बहन रंगोली चंदेल और उनका एक सहयोगी भी साथ रहा हैं। मुंबई से रवाना होने से पहले उन्होंने एक बार फिर महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ हमला किया।कंगना ने मुंबई को पीओके बताने वाले बयान को भी दोहराया। 

कंगना रनौत ने ट्वीट पर लिखा कि भारी दिल के साथ मुंबई से जा रही हूं, जिस तरह से मैं इन दिनों लगातार आतंकित थी और मेरे काम की जगह के बाद मेरे घर को तोड़ने की कोशिश में लगातार हमले और गालियाँ पड़ीं, मेरे चारों ओर घातक हथियारों के साथ सतर्क सुरक्षा, कहना होगा कि यह पीओके के बराबर ही था। इसी के साथ कंगना ने महाराष्ट्र सरकार पर लोकतंत्र के चीरहरण का भी आरोप लगाया।

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद का रविवार को निधन हो गया। वह फेफड़े में संक्रमण को लेकर दिल्ली एम्स में भर्ती थे लेकिन हालत खराब होने के बाद रघुवंश प्रसाद सिंह को वेंटिलेटर पर रखा गया था। तीन दिन पहले ही उन्होंने लालू यादव को पत्र लिखकर राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) से इस्‍तीफा दे दिया था। उनके निधन पर जेडीयू नेता केसी त्‍यागी ने शोक प्रकट करते हुए कहा कि यह राजनीति की सबसे बड़ी क्षति है।   

एम्स में दो दिन पहले उनकी हालत बिगड़ गई थी। संक्रमण बढ़ गया था और सांस लेने में परेशानी होने के बाद उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उनका पटना के एम्स में इलाज किया गया था। कुछ ठीक होने के बाद उन्हें पोस्ट कोविड मर्ज के इलाज के लिए दिल्ली एम्स ले जाया गया था। अभी तीन दिन पहले ही उन्होंने राजद की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया था।

पुणे। कोरोना से मरने वालों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है. वहीं कोरोना मरीजों और उनके शवों के साथ हो रहे अमानवीय बर्ताव ने भी इंसानियत को शर्मसार किया है. पुणे में एक कोरोना मरीज को अस्पताल में न वेंटिलेटर मिला और न ही मौत होने के बाद उसके शव के लिए एंबुलेंस का इंतजाम किया गया. उसके शव को ठेले पर रखकर श्मशान घाट तक ले जाया गया। 

महाराष्ट्र में जहां कोरोना दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है. वहीं कोरोना संक्रमित मरीजों से जुड़ी लापरवाही भी देखने को मिल रही है. पुणे के एक अस्पताल में 40 साल के कोरोना संक्रमित व्यक्ति को पहले वेंटिलेटर नहीं मिला, जिसके चलते उसकी मौत हो गई. फिर उसके शव के लिए एंबुलेंस का इंतजाम भी नहीं हो सका. यह मामला पुणे शहर से लगभग 20 किलोमीटर दूर खानापुर गांव का है। @GI@



इंदौर। शहर के बीआरटीएस रोड स्थित एक कार शोरूम में एरोड्रम क्षेत्र में रहने वाला एक परिवार मंगलवार को कार खरीदने आया। शोरूम के सेल्स कंल्सटेंट नमन तिवारी ने बताया कि परिवार ने कार पहले से ही बुक कर दी थी। मंगलवार दोपहर करीब 3:30 बजे कार खरीदने वाले पति-पत्नी और सास-ससुर शोरूम पहुंचे। मुहूर्त के लिए सास ने बहू को कार चलाकर थोड़ी-सी आगे बढ़ाकर बंद करने के लिए कहा। इसी दौरान बहू से कार नहीं संभली और वह शोरूम के कांच फोड़कर तीन फीट नीचे दूसरी कार पर जा गिरी। हादसे में दोनों कारें बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुई हैं। गनीमत है कि कोई हताहत नहीं हुआ। 

जानकारी के अनुसार, बहू की मुहूर्त ड्राइव के वक्त उसका बेटा भी पास की सीट पर बैठा था। बहू ने कार चालू की और थोड़ी आगे बढ़ाकर ब्रेक लगाया तो पैर ब्रेक की बजाए एक्सीलरेटर पर चला गया। परिवार जो कार खरीद रहा था वह करीब साढ़े सात लाख रुपये की है और जिस कार पर वह गिरी उसकी कीमत लगभग 15 लाख रुपये है। दोनों गाड़ि‍यों का बीमा है, इसलिए परिवार को कारों में हुए नुकसान की राशि जमा नहीं करनी पड़ेगी। शोरूम को हुए नुकसान की पूर्ति के लिए कार खरीदने आए परिवार और शोरूम मालिक ने आपस में 50 फीसद खर्च वहन करने पर समझौता कर लिया है। 

मुंबई। बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना रनौत की प्रॉपर्टी पर बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) की तोड़फोड़ पर रोक लगा दी है । कंगना रनौत की याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने BMC को जवाब देने को कहा है। बुधवार को कंगना रनोट के हिमाचल से मुंबई पहुंचने से पहले ही बवाल हो गया। बृहन्मुंबई महानगर पालिका ने उनके मुंबई स्थित ऑफिस में अवैध निर्माण को लेकर 24 घंटे में दूसरा नोटिस भेजा। 

इसके बाद ही बीएमसी की एक टीम जेसीबी मशीन, क्रेन और हथौड़े लेकर पहुंच गई और ऑफिस में तोड़फोड़ की। टीम ने कार्रवाई 10.30 बजे से 12.40 बजे तक की। कंगना का यह ऑफिस बांद्रा के पाली हिल में है। उधर, कंगना ने इस कार्रवाई पर लगातार 5 ट्वीट किए। उन्होंने कहा, यह एक इमारत (ऑफिस) नहीं, राम मंदिर है, आज वहां बाबर आया है। उन्होंने कहा कि दुश्मनों ने साबित किया कि मुंबई को पीओके कहकर गलती नहीं की।

एक्ट्रेस ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से की थी, जिसके बाद विवाद खड़ा हो गया था। केंद्र ने उन्हें Y कैटेगरी की सुरक्षा दी है, इस दौरान 11 सुरक्षाकर्मी हमेशा उनके साथ रहेंगे। उधर, बीएमसी की कार्रवाई के खिलाफ कंगना को हाईकोर्ट से राहत मिल गई। कोर्ट ने कार्रवाई पर रोक लगा दी। अब अगली सुनवाई गुरुवार दोपहर 3 बजे होगी।

नई दिल्ली। राज्यसभा में उपसभापति पद के लिए जेडीयू सांसद हरिवंश ने बतौर एनडीए उम्मीदवार नामांकन दाखिल किया है। इधर भारतीय जनता पार्टी ने 14 सितंबर के लिए अपने सभी राज्यसभा सांसदों को तीन लाइन का व्हिप जारी किया है। आपको बता दें कि राज्यसभा के सांसद इसके लिए वोट करेंगे। अगर हरिवंश यह चुनाव जीतते हैं तो उनका यह दूसरा कार्यकाल होगा।

अगस्त, 2018 में कांग्रेस नेता पीजे कुरियन के कार्यकाल खत्म होने के बाद जेडीयू सांसद को उपसभापति बनाया गया था। मानसून सत्र के पहले दिन होने वाले राज्यसभा उपसभापति पद के चुनाव को लेकर विपक्ष भी एकजुट खड़ा दिखाई दे रहा है। इस मामले के जानकार लोगों ने बताया कि विपक्ष इस चुनाव में संयुक्त उम्मीदवार उतारने जा रहा है। 14 सितंबर से शुरू हो रहे सत्र में कांग्रेस समेत विपक्ष केंद्र सरकार को भारत-चीन मुद्दे पर घेरने की तैयारी कर रही है। हरिवंश नारायण सिंह का पहला कार्यकाल इस साल अप्रैल महीने में खत्म हो चुका है। 

वे दोबारा राज्यसभा में चुनकर आए हैं। बतौर एनडीए उम्मीदवार, हरिवंश ने कांग्रेस कैंडिडेट बीके हरि प्रसाद को हराते हुए 125 वोट हासिल किए थे, जबकि कांग्रेस उम्मीदवार को 105 वोट ही मिल सके थे। इस बार उपसभापति पद का चुनाव मानसून सत्र के पहले दिन 14 सितंबर को होगा। नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 11 सितंबर है। वहीं, बीते लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से ही निचले सदन में डिप्टी स्पीकर का पद भी खाली है।

मुंबई। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत केस से जुड़े ड्रग्स मामले में एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती को बुधवार को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के लॉकअप से भायखला जेल में शिफ्ट किया। इससे पहले एक्ट्रेस ने रात लॉकअप में बिताई। एनसीबी ने रिया को मंगलवार की दोपहर गिरफ्तार किया था। इसके बाद देर शाम कोर्ट में पेशी हुई। निचली अदालत ने जमानत याचिका खारिज करते हुए 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

जेल रूल बुक के मुताबिक, शाम को जेल में कैदियों की गिनती के बाद नए कैदी को नहीं लिया जाता। इसलिए उन्हें मंगलवार रात को एनसीबी के लॉकअप में रखा गया। सूत्रों के मुताबिक, लॉकअप में रिया पूरी रात ठीक से सो नहीं पाईं। वह रात में कई बार उठीं और बैरक में टहलती हुई नजर आईं। इस बीच, रिया और उसके भाई शोविक ने सेशन कोर्ट में जमानत के लिए फिर याचिका लगाई है।



पुलिस के अनुसार पीड़ित पंथालम में अपने रिश्तेदार के घर क्वारंटाइन में थी और शनिवार को उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। पुलिस ने बताया कि एंबुलेंस में दो मरीज थे। ड्राइवर ने एक मरीज को पहले गाड़ी से नीचे उतार दिया और फिर युवती को एक सुनसान जगह ले गया। आरोप है कि सुनसान जगह ले जाकर उसने युवती के साथ दुष्कर्म किया और फिर कोविड केयर सेंटर छोड़ दिया था।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को देश के सभी राज्यों को कोविड-19 के कारण प्रभावित बुजुर्गों के स्वास्थ्य व सुविधाओं के लिए उठाए गए कदमों की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। कोर्ट ने कहा है कि देश के सभी राज्य इस मामले में हलफनामा दायर करें। जिन राज्यों ने इस मामले में अब तक हलफनामा दायर नहीं किया था कोर्ट ने उन्हें और 4 सप्ताह का समय दिया। याचिका में बुजुर्गों के लिए सैनिटाइजर और मास्क मुहैया कराने के लिए राज्यों को निर्देश देने की मांग की गई है।

दरअसल महामारी के दौरान बुजुर्गों को पर्याप्त सुविधाएं मुहैया कराने को लेकर याचिका दायर की गई थी जिसपर आज सुनवाई हुई है। मामले की सुनवाई जस्टिस अशोक भूषण की अगुवाई वाली बेंच कर रही है। इससे पहले मामले में 4 अगस्त को बेंच ने निर्देश दिया था कि सभी योग्य बुजुर्गों को नियमित तौर पर पेंशन का भुगतान होना चाहिए और राज्य सरकारों की ओर से उन्हें आवश्यक दवाइयां, मास्क, सैनिटाइजर व अन्य जरूरी वस्तुएं मुहैया कराई जाएं। 

स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, सोमवार को देश में कोरोना वायरस से 70 फीसद मौतें हुई हैं जो देश के पांच राज्यों- महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, दिल्ली और आंध्र प्रदेश में हुईं।बता दें कि भारत अब दुनिया के संक्रमित देशों में दूसरे स्थान पर पहुंच गया है जहां पहले ब्राजील था। देश में अब कुल संक्रमितों की संख्या 42 लाख से अधिक हो गई है जबकि दुनिया में संक्रमण के मामले 2 करोड़ 70 लाख के पार पहुंच चुका है। 

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनोत को वाई श्रेणी की सुरक्षा मिली है। सूत्रों के मुताबिक, गृह मंत्रालय ने कंगना को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी है। दरअसल, कंगना रनोत और शिवसेना नेता संजय राउत के बीच जुबानी जंग तेज हो गई थी। संजय राउत ने कंगना को मुंबई न आने की नसीहत दी थी. इस पर कंगना ने मुंबई आने का चैंलेंज किया था।


केरल। केरल के पटनमिट्ठा जिले से रेप की हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक ऐंबुलेंस ड्राइवर ने कोविड-19 संक्रमित 19 साल की युवती के साथ कथित रूप से बलात्कार किया। घटना पटनमिट्ठा के अरममुला इलाके की है। आरोपी ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने बताया कि ऐंबुलेंस में दो मरीज थे। ड्राइवर ने एक मरीज को पहले उतार दिया। इसके बाद वह युवती को एक सुनसान जगह ले गया। वहां उसके साथ रेप किया और फिर उसे कोविड केयर सेंटर में छोड़ दिया। एक तरह पूरे देश में कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं। ऐसे में यह घटना बेहद चौंकाने वाली है।


फेसबुक के लिए 3 करोड़ इस्तेमाल करने वालों के साथ भारत एक बड़ा बाजार है. भाजपा को बढ़ावा देने वाली फेसबुक की नीतियां को लेकर अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल में प्रकाशित होने के बाद से भारत में राजनीतिक घमासान मचा हुआ है. अखबार में राजा सिंह के पोस्ट को जानबूझकर फेसबुक पर अनदेखा करने की बात कही गई है. इसके बाद से ही भाजपा और कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों के बीच जबानी जंग छिड़ चुकी है। 

वॉल स्ट्रीट जर्नल में रिपोर्ट प्रकाशित होने के बाद से संसदीय समिति ने बुधवार को मुद्दे पर चर्चा के लिए फेसबुक के प्रतिनिधि को आमंत्रित किया है. वहीं इस मुद्दे पर सूचना एवं तकनीकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने फेसबुक के मुखिया मार्क जुकरबर्ग को पत्र लिखकर फेसबुक के कर्मचारियों के प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ टिप्पणी करने पर सवाल उठाया है। 

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली  में कोविड-19 और डेंगू का अटैक एकसाथ देखने को मिल रहा है। दिल्ली में एक ऐसा मरीज सामने आया है, जो कोविड और डेंगू, दोनों से संक्रमित पाया गया। डॉक्टरों का कहना है कि दोनों वायरस का कॉकटेल काफी खतरनाक हो सकता है। इससे ब्लड से जुड़ी बीमारी का बहुत ज्यादा खतरा है, इसलिए इस मौसम में फीवर से पीड़ित मरीज को कोविड के साथ-साथ डेंगू की भी जांच कराना जरूरी है, ताकि समय पर सही इलाज किया जा सके।
मूलचंद अस्तपाल में कोविड और डेंगू से पीड़ित एक मरीज की पुष्टि हुई है। अस्पताल के इंटरनल मेडिसिन के डॉक्टर श्रीकांत शर्मा ने बताया कि 20 साल के एक युवक को सात-आठ दिन से फीवर था। गले में खरास, कमजोरी और भूख नहीं लगने की शिकायत के साथ वह इलाज के लिए आया था। उसकी कोविड जांच की गई, जो पॉजिटिव आई, लेकिन उसमें बहुत ज्यादा लक्षण नहीं थे। कुछ दिन बाद उसके प्लेटलेट्स कम होने लगे। बॉडी पर रैश आने लगे। हमने उसकी डेंगू की एंटीबॉडी जांच कराई, तो वह पॉजिटिव पाया गया। कई दिनों के इलाज के बाद उसकी स्थिति में सुधार हुआ और अब वह पहले से ठीक है।

नासिक। देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. हर रोज कोरोना वायरस के मामलों में इजाफा देखने को मिल रहा है. वहीं कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोग एहतियात के लिए कई कदम भी उठा रहे हैं. लोग सैनिटाइजर का इस्तेमाल भी काफी कर रहे हैं. हालांकि अब सैनिटाइजर के कारण एक शख्स की जान जाने का मामला सामने आया है। 

कोरोना वायरस का संकट सामने आने के बाद सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना आम बात हो गई है. हालांकि महाराष्ट्र में सैनिटाइजर ने एक शख्स की जान ले ली है. न्यूज एजेंसी के मुताबिक सैनिटाइजर के कारण आग लगने से शख्स जल गया और उसकी मौत हो गई.घटना के बारे में पुलिस ने बताया कि महाराष्ट्र के नासिक में एक 56 वर्षीय शख्स सैनिटाजर के कारण आग की चपेट में आ गया. इसके कारण उसका शरीर 68 फीसदी जल गया. जिसके बाद घायल हालात में शख्स को अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया।                       जल गया शरीर