Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान ने फिटनेस को नए आयाम दिए हैं। वह सिर्फ प्रशंसकों के लिए ही नहीं, बल्कि अपनी टीम के लिए भी पैमाना तय कर रहे हैं। कोहली ने हालांकि सोमवार को कहा कि उनके लिए कंडिशनिंग सत्र में हरफनमौला खिलाड़ी रवींद्र जडेजा को पीछे करना लगभग नामुमकिन सा होता है।

भारत ने विराट कोहली की कप्तानी में बांग्लादेश को दूसरे टेस्ट मैच में पारी और 46 रन से हराकर सीरीज 2-0 से अपने नाम की। विराट कोहली ने कोलकाता के ईडन गार्डन्स में पिंक बॉल से खेले गए ऐतिहासिक टेस्ट मैच में 136 रन की शतकीय पारी खेली। जडेजा ने इस मैच में हालांकि 12 रन की पारी खेली और उन्हें कोई विकेट भी नहीं मिला।

ब्रिस्बेन। ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने इंग्लैंड के बेन स्टोक्स को डेविड वॉर्नर पर दिए गए बयान पर आड़े हाथों लिया है। पेन ने कहा है कि स्टोक्स अपनी किताब बेचने के लिए वॉर्नर के नाम का इस्तेमाल कर रहे हैं। स्टोक्स ने अपनी किताब में लिखा है कि इसी साल एशेज सीरीज के दौरान हेडिंग्ल में खेली गई उनकी मैच विजेता पारी वॉर्नर द्वारा की जा रही लगातार स्लेजिंग का परिणाम थी।

पेन ने कहा, मैं स्लिप में पूरे समय वॉर्नर के पास ही खड़ा था और आपको मैदान पर बात करने की इजाजत होती है, लेकिन वह स्टोक्स को न ही अपशब्द बोल रहे थे न ही छींटाकशी कर रहे थे। अपनी किताब बेचने के लिए वॉर्नर के नाम का उपयोग करना इंग्लैंड में प्रचलन बन गया है। इसलिए स्टोक्स को शुभकामनाएं।


वॉर्नर पेश कर रहे उदाहरण
पेन ने साथ ही कहा कि वॉर्नर ने उस पूरी सीरीज में अपने आप को अच्छे से संभाला था। उन्होंने कहा, मैं उनके पास ही खड़ा था। मुझे किसी तरह की परेशानी नहीं आई। एशेज के दौरान वॉर्नर ने अपने आप को जिस तरह से संभाला है वो शानदार है। खासकर तब जब वह रन नहीं बना पा रहे थे। उल्लेखनीय है कि डेविड वॉर्नर एशेज सीरीज के दौरान बड़ी पारी नहीं खेल सके थे, जबकि उससे पहले वह गजब की फॉर्म में थे। उन्होंने कई आकर्षक पारी खेली थी। इस वजह से वह आलोचकों के निशाने पर थे।

एंटीगा। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की स्टार बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने अपने 51वें वनडे में इतिहास रच दिया। उन्होंने वनडे में सबसे तेज 2,000 रन बनाने वाली भारतीय महिला बल्लेबाज बन गई हैं। रेकॉर्ड लिस्ट में नजर डाली जाए तो सबसे तेज 2000 रन बनाने के मामले में वह विराट से तेज निकलीं। स्मृति ने यह जादुई रेकॉर्ड वेस्ट इंडीज के खिलाफ यहां सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में बनाया।

बाएं हाथ की इस बल्लेबाज ने तीसरे और आखिरी वनडे मैच में 74 रनों की धमाकेदार पारी खेली। उन्होंने इस पारी के दौरान युवा बल्लेबाज जेमिमा रॉड्रिगेज के साथ पहले विकेट के लिए 141 रनों की साझेदारी की। चोट के कारण पहले दो मैचों से बाहर रही मंधाना ने 63 गेंद में 74 रन बनाए, जबकि रोड्रिगेज ने 92 गेंद में 69 रन बनाए। भारत ने यह मैच 6 विकेट से जीता।

23 वर्षीय मंधाना ने 2,000 रन बनाने के लिए 51 पारियां ली। इसी के साथ वह विश्व में सबसे तेज दो हजार रन बनाने वाले खिलाड़ियों की सूची में तीसरे नंबर पर आग गई हैं। उनसे ऊपर ऑस्ट्रेलिया की बेलिंडा क्लार्क और मेग लेनिंग हैं। वनडे में मंधाना ने अब तक 51 वनडे मुकाबलों में 43.08 की औसत से 2,025 रन बनाए हैं। इसमें 4 शतक और 17 अर्धशतक शामिल है।

चीन. भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु (PV Sindhu) चाइना ओपन (China Open) के पहले ही राउंड में हार के बाद टूर्नामेंट से बाहर हो गईं. वर्ल्ड चैंपियन सिंधु (PV Sindhu) को चाइनीज ताइपै की पाई यू पो (Pai Yu Po) ने मात दी.

वर्ल्ड रैकिंग में छठे नंबर की सिंधु (PV Sindhu) को 42वें नंबर की पाई (Pai Yu Po) ने 74 मिनट तक चले मुकाबले में 21-13,18-21,21-19 से मात दी. सिंधु अपने से निचली रैंक की पाई से पहला गेम बिना किसी टक्कर के ही हार गई. हालांकि इसके बाद दूसरे गेम में जबरदस्त वापसी करते हुए 21-18 से जीत दर्ज की और मैच को निर्णायक गेम तक पहुंचाया.

आखिरी गेम में वापसी नहीं कर पाईं सिंधु
आखिरी गेम में पीवी सिंधु ने मिड ब्रेक तक भी पिछड़ रही थी और गेम के अंत तक वह लीड हासिल करने में नाकाम रही. स्विट्जरलैंड में हुई वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने के बाद से पीवी सिंधु ने चार टूर्नामेंट में हिस्सा लिया और खराब फॉर्म के चलते एक बार भी फाइनल में पहुंचने में नाकाम रही. सिंधु इससे पहले कोरिया ओपन और डेनमार्क ओपन में भी पहले ही राउंड में बाहर हो गई थी.

कॉमिडी शो द कपिल शर्मा शो छोटे परदे पर छाया हुआ है। शो में इस हफ्ते मचने वाला है धमाल। इस हफ्ते कपिल शर्मा के शो में आएंगे हरभजन सिंह। हरभजन के साथ उनकी पत्नी गीता बसरा भी होंगी। कपिल और हरभजन का सेंस ऑफ ह्यूमर शानदार है। स्वभाविक है शो में धमाल मचने वाला है।

हरभजन सुनाएंगे कि कैसे उनकी अंग्रेजी अच्छी हुई। हरभजन की यह कहानी सुनकर आप भी लोट-पोट हो जाएंगे।

सोनी टीवी ने एक टीजर जारी किया है। टीजर में हरभजन सिंह खास अंदाज में अपनी अंग्रेजी इंप्रूव होने की कहानी सुनाते हैं। हरभजन कपिल को बताते हैं कि एक बार गलती से मेरे साथ श्रीलंका की एक लड़की सेट हो गई थी। वह अंग्रेजी में मुझसे बात करती थी, मुझे टूटी-फूटी अंग्रेजी बोलनी पड़ती थी। धीरे-धीरे उसके साथ बात करते हुए मैंने अंग्रेजी बोलनी शुरू कर दी। हरभजन की इस कहानी सभी जोर से हंसते हैं।
यही नहीं कभी अंग्रेजी के नाम पर डरने वाले हरभजन अब अंग्रेजी में कॉमेंट्री भी देते हैं। उन्होंने बताया कि वह हाल ही में स्काई स्पोर्ट्स के लिए अंग्रेजी में कॉमेंट्री करके लौटे हैं। हरभजन की बात पर सबने जोरदार तालियां बजाईं।

इसके पहले कपिल कहते हैं कि हरभजन सिंह और वीरेंद्र सहवाग दो ऐसे खिलाड़ी थे जो अच्छा खेलने के बाद भी मैन ऑफ द मैच न मिलने की प्रार्थना करते थे। उन्हें डर रहता था कि मैन ऑफ द मैच मिलने के बाद अंग्रेजी बोलनी पड़ेगी।


बेंगलुरु। बीसीसीआई के नए अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली बुधवार को कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में थे। गांगुली जब एयरपोर्ट पर थे तब उनके फैंस ने उन्हें घेर लिया। गांगुली ने भी उन्हें निराश नहीं किया और उनके साथ सेल्फी की। सौरभ ने अपने टि्वटर हैंडल पर इस अवसर की एक तस्वीर भी साझा की।
गांगुली ने उन्हें प्यार देने के लिए प्रशंसको का आभार व्यक्त किया। गांगुली बुधवार को बेंगलुरु पहुंचे जहां उन्होंने पूर्व साथी और राष्ट्रीय क्रिकट अकादमी (एनसीए) के प्रमुख राहुल द्रविड़ से मुलाकात की।

गांगुली ने ट्विटर पर एक फोटे साझा किया जिसमें उन्हें शहर के एयरपोर्ट में चेक-इन पर खड़े देखा गया। उन्हें दर्शकों ने घेर रखा था। उन्होंने लिखा, बेंगलुरु के एयरपोर्ट के चेक-इन में खड़ा हूं। लोगों को प्यार आपको बहुत आभारी बनाता है। गांगुली और द्रविड़ ने एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में मुलाकात की जहां उन्होंने एनसीए के रोडमैप को बेहतर करने पर चर्चा की।
गांगुली ने शर्ट के साथ स्लीवलेस स्वटेर और पैंट पहनी हुई थी। सौरभ को एयरपोर्ट पर देखकर फैंस चीयर करने लगे। गांगुली ने उनके साथ तस्वीर ली। सुरक्षाकर्मी भी कैमरे की ओर देखकर मुस्कुरा रहे थे।

गांगुली का यह पोस्ट फौरन वायरल हो गया। टि्वटर पर इसके 80 हजार बार से ज्यादा लाइक किया जा चुका है और साथ ही 4.7 हजार बार से रीट्वीट किया जा चुका है। फैंस इस पर काफी रेस्पॉन्स कर रहे हैं। एक यूजर ने ट्वीट किया, उस शख्स को हम कैसे भूल सकते हैं जिसने भारतीय क्रिकेट को एक जुझारू टीम में बदलकर रख दिया।

दुबई। बांग्लादेश क्रिकेट टीम के कप्तान शाकिब अल-हसन पर दो साल का बैन लगाने के बाद आईसीसी ने बुकी के साथ हुई उनकी बातचीत को भी सार्वजनिक किया है। दीपक अग्रवाल नाम के बुकी से हुई बातचीत के बारे में बताते हुए आईसीसी ने कहा है कि पहली बार शाकिब से उसने 2017 में संपर्क किया था। उसके बाद से वह शाकिब अल हसन से लगातार संपर्क में था। आईसीसी के मुताबिक नवंबर, 2017 में जब बांग्लादेश प्रीमियर लीग में शाकिब अल हसन ढाका डायनामाइट्स टीम में थे। तब किसी शख्स ने अग्रवाल को हसन का नंबर दिया था।
अग्रवाल ने उस शख्स से बांग्लादेश प्रीमियर लीग में खेल रहे प्लेयर्स के नंबर मांगे थे। 19 जनवरी, 2018 को अग्रवाल ने शाकिब को मेसेज कर उन्हें बांग्लादेश, जिम्बॉब्वे और श्रीलंका की त्रिकोणीय सीरीज में मैन ऑफ द मैच चुने जाने पर बधाई दी थी। आईसीसी ने कहा, बुकी ने इसके बाद हसन को एक और मेसेज किया और लिखा, क्या हम इस पर काम कर सकते हैं या आईपीएल तक मुझे इंतजार करना होगा।

इस मेसेज में काम से अर्थ अग्रवाल को मैचों की आंतरिक जानकारी मुहैया कराने से था। इसके बाद यह सिलसिला चलता रहा और 23 जनवरी, 2018 को शाकिब को अग्रवाल ने एक और मेसेज किया, ब्रो, इस सीरीज में कुछ है? शाकिब ने खुद पुष्टि की है कि अग्रवाल का यह मेसेज त्रिकोणीय सीरीज की जानकारी को लेकर था। हालांकि तब शाकिब ने ऐंटी करप्शन यूनिट या फिर अन्य किसी अथॉरिटी को इसकी जानकारी नहीं दी थी।

नई दिल्ली। रांची टेस्ट मैच के पहले दिन टीम इंडिया पहली पारी की शुरुआत में काफी संघर्ष करती दिखी। टीम के शुरुआती तीन बल्लेबाज जल्दी-जल्दी आउट हो गए लेकिन टीम के ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा ने एक छोर थाम लिया और काफी धैर्यपूर्वक बल्लेबाजी करते हुए टीम के लिए उपयोगी अर्धशतकीय पारी खेल डाली। इस वक्त वो नाबाद हैं और खेल रहे हैं। इस अर्धशतकीय पारी के बाद रोहित शर्मा ने एक शानदार रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। 





रोहित ने की गंभीर व अजहर की बराबरी रोहित शर्मा ने रांची टेस्ट मैच की पहली पारी में जैसे ही अर्धशतक जड़ा वो एक टेस्ट सीरीज में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने के मामले में गौतम गंभीर और मो. अजहरुद्दी की बराबरी पर आ गए। ये रोहित का इस टेस्ट सीरीज का तीसरा 50 से ज्यादा स्कोर था। इससे पहले गंभीर ने प्रोटियाज के खिलाफ एक टेस्ट सीरीज में 2010 में लगातार तीन बार 50 या उससे ज्यादा का स्कोर बनाया था वहीं अजहर ने 1996 में ये कमाल किया था। अब रोहित ने गंभीर व अजर की बराबरी कर ली है। 






रोहित ने की थी शानदार शुरुआत दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में बतौर ओपनर रोहित शर्मा ने पहली बार भारत के लिए पारी की शुरुआत की थी और पहले टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक जड़ दिया था। उन्होंने पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में 176 और दूसरी पारी में 123 रन बनाए थे। इसके बाद  पुणे टेस्ट मैच में उन्होंने सिर्फ 14 रन की पारी खेली थी लेकिन रांची में वो फिर से फॉर्म में लौट आए। रांची के जेएससीए स्टेडियम पर ये रोहित का पहला अर्धशतक है। 

लाहौर । श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज में मिली 3-0 की शर्मनाक हार की गाज पाकिस्तान टीम के कप्तान सरफराज अहमद पर गिरी। सरफराज को टेस्ट और टी20 टीम की कप्तानी से हटा दिया गया है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अजहर अली को टेस्ट और बाबर आजम को टी20 टीम का कप्तान बनाया है। हालांकि सरफराज को वनडे टीम की कप्तानी से हटाने के बारे में फिलहाल कोई निर्णय नहीं हुआ है और वे आगामी निर्णय तक कप्तान बने रहेंगे।
बता दें कि श्रीलंका के खिलाफ हुई घरेलू सीरीज में दोनों टीमों के बीच 3-3 मैचों की वनडे और टी20 सीरीज खेली गई। पाकिस्तान ने वनडे सीरीज तो 2-0 से जीती, लेकिन टी20 सीरीज में उसका सफाया हो गया। उसके बाद से ही फैंस में कप्तान सरफराज और हेड कोच मिस्बाह उल हक को लेकर काफी ज्यादा नाराजगी थी। दरअसल सरफराज इंग्लैंड में हुए वल्र्ड कप में भारत के हाथों मिली शर्मनाक हार के बाद से निशाने पर थे। उस हार ने पाकिस्तानी क्रिकेट में भूचाल ला दिया था। वल्र्ड कप के बाद पाकिस्तान टीम के कोच और चीफ सिलेक्टर को हटा दिया गया। मिस्बाह उल हक को हाल ही में ये दोहरी जिम्मेदारी सौंपी गई। लेकिन जब पाकिस्तान को श्रीलंका के हाथों 0-3 की शर्मनाक हार मिली तो फैंस के जेहन में भारत के खिलाफ मिली हार के जख्म ताजा हो गए। इसके बाद से फैंस सार्वजनिक रुप से अपने गुस्से का इजहार कर रहे हैं। अब पीसीबी ने बड़ा फैसला किया और चयन समिति ने सरफराज को कप्तानी से हटा दिया है।
बाबर ने हाल ही में वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 11 शतक लगाने का रिकॉर्ड बनाया था। इस मामले में उन्होंने भारतीय कप्तान विराट कोहली को पीछे छोड़ा था। वे एशिया में सबसे कम पारियों में 11 वनडे शतक बनाने वाले पहले बल्लेबाज हैं। वहीं टेस्ट टीम के कप्तान बनाए गए अजहर अली पाकिस्तान के टॉप ऑर्डर के बल्लेबाज हैं। कोच मिस्बाह पहले ही उनके नाम की पैरवी कर चुके थे। बता दें कि मिस्बाह श्रीलंका के खिलाफ मिली हार के बाद बोर्ड को कह चुके थे कि टीम में कप्तान सरफराज सहित कुछ अन्य वरिष्ठ खिलाड़ी उनके निर्देशों की अनदेखी करते हैं और वरिष्ठा को आधार बनाकर प्रैक्टिस से छूट हासिल करते हैं। इतना नहीं इन खिलाडिय़ों के कारण टीम में अनुशासन नहीं बन पा रहा।

साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में खेल रहे भारतीय क्रिकेटर अजिंक्य रहाणे के लिए खुशखबरी है कि वह पिता बन गए। रहाणे के घर नन्ही परी आई है और उनकी पत्नी राधिका ने बेटी को जन्म दिया। भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान रहाणे फिलहाल विशाखापत्तनम में साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में टीम इंडिया के साथ हैं। ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने शनिवार को सोशल मीडिया पर अजिंक्य रहाणे को बधाई देते हुए यह जानकारी दी। हरभजन ने लिखा, नए नवेले पिता अजिंक्य रहाणे को बधाई। उम्मीद है कि मां और नन्हीं परी अच्छे होंगे। जिंदगी का बेहतरीन हिस्सा अब शुरू हुआ है, अज्जू।

रहाणे ने अपने बचपन की दोस्त राधिका धोपावकर के साथ 5 साल पहले 26 नवंबर को शादी के बंधन में बंधे थे। जुलाई में इस कपल ने प्रेग्नेंसी की खबर अपने फैंस के साथ शेयर की थी। राधिका ने तब अपने कुछ फोटो शेयर किए थे।

विशाखापत्तनम। भारत के ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा ने टेस्ट क्रिकेट में नया रेकॉर्ड बना दिया है। साउथ अफ्रीका के खिलाफ विशाखापत्तनम में खेले जा रहे सीरीज के पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन उन्होंने डीन एल्गर को आउट कर टेस्ट क्रिकेट में अपने 200 विकेट पूरे कर लिए। जडेजा ने अपने 44वें टेस्ट मैच में यह उपलब्धि हासिल की। वह सबसे कम टेस्ट मैच में 200 विकेट लेने वाले बाएं हाथ के गेंदबाज बन गए हैं। जडेजा ने श्रीलंका के रंगना हेराथ के 47 मैचों के रेकॉर्ड को तोड़ा।

दो विकेटों की थी जरूरत
इस मैच से पहले जडेजा के नाम टेस्ट में 198 विकेट थे। उन्होंने मैच के दूसरे दिन डीन पीड को आउट कर अपने विकेटों की संख्या को 199 तक पहुंचा दिया था। पहले दिन जब साउथ अफ्रीका ने 39 रनों पर अपने तीन विकेट खो दिए थे तो लग रहा था कि जडेजा तीसरे दिन जल्द ही इस रेकॉर्ड को अपने नाम कर लेंगे। हालांकि एल्गर और कप्तान फाफ डु प्लेसिस की जोड़ी ने उनके इंतजार को लंबा कर दिया। तेंबा बावुमा का विकेट ईशांत शर्मा के नाम गया और डु प्लेसिस (55) को रविचंद्नन अश्विन ने आउट किया।
एल्गर को किया आउट
जडेजा ने 160 रनों की मैराथन पारी खेलने वाले एल्गर को चेतेश्वर पुजारा ने कैच किया। उन्होंने पहले डु प्लेसिस के साथ पांचवें विकेट के लिए 115 और क्विंटन डि कॉक के साथ 164 रनों की भागीदारी की।

और कौन है किस नंबर पर
बाएं हाथ के गेंदबाजों की बात करें तो मिशेल जॉनसन ने 49 और मिशेल स्टार्क ने 50 मैचों में अपने 200 टेस्ट विकेट पूरे किए थे। इसके साथ ही बिशन सिंह बेदी और वसीम अकरम ने 51 मैचों में 200 टेस्ट विकेट पूरे किए।

कुल मिलाकर कौन आगे
कुल मिलाकर बात करें तो पाकिस्तान के लेग स्पिनर यासिर शाह इस लिस्ट में सबसे ऊपर हैं। उन्होंने 33 मैचों में यह उपलब्धि अपने नाम की है। वहीं ऑस्ट्रेलिया के क्लेरी ग्रिमेंट ने 36 टेस्ट मैचों में 200 विकेट लिए थे। भारत के रविचंद्रन अश्विन ने 36 मैचों में 200 टेस्ट विकेट पूरे किए थे। वह इस सूची में तीसरे नंबर पर हैं।

पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए भड़काऊ भाषण को लेकर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान का मजाक उड़ाया है। गुरुवार को अपने ट्विटर हैंडल पर सहवाग ने एक वीडियो शेयर किया, जिसमें एक विदेशी एंकर इमरान को वेल्डर कहता नजर आ रहा है। इसके साथ सहवाग ने लिखा, ये आदमी खुद को अपमानित करने के नए-नए तरीके खोज लाता है। इससे एक दिन पहले हरभजन सिंह और तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने भी यूएन में दिए भड़काऊ भाषण को लेकर इमरान की खिंचाई की थी। 

सहवाग ने जो वीडियो क्लिप शेयर की उसमें एक एंकर इमरान की बेइज्जती करता नजर आ रहा है। क्लिप को शेयर करते हुए सहवाग ने लिखा, एंकर ने कहा, आप ब्रोंक्स (अमेरिका का एक शहर) के किसी वेल्डर की तरह बात कर रहे हैं। इसके बाद उन्होंने लिखा,कुछ दिनों पहले यूएन में दिए निराशाजनक भाषण के बाद, ये आदमी खुद को अपमानित करने के लिए नए-नए तरीके इजाद करता दिख रहा है।

चीन की तारीफ की तो एंकर ने की बेइज्जती

सहवाग ने जो वीडियो क्लिप शेयर की वो अमेरिकी न्यूज चैनल MSNBC की है। बीते दिनों इमरान इसी चैनल के एक कार्यक्रम में बतौर मेहमान शामिल हुए थे। क्लिप में इमरान एंकर के पूछे सवाल का जवाब देते हुए अमेरिका के मुकाबले चीन के इंफ्रास्ट्रक्चर की तारीफ करते नजर आते हैं और वहां जाकर देखने की बात कहते हैं। इसी दौरान एंकर उन्हें टोंकते हुए कहता है कि  इस वक्त पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की तरह कम, ब्रोंक्स से आए वेल्डर की तरह ज्यादा बात कर रहे हैं। जो इंफ्रास्ट्रक्चर की शिकायत कर रहा है, जो कह रहा है कि अमेरिका बेवजह अफगानिस्तान में पैसा खर्च कर रहा है। खुद को वेल्डर कहे जाने के बाद भी इमरान बड़ी बेशर्मी से हंस रहे थे।

विशाखापत्तनम। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने मंगलवार को कहा कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट में ऋषभ पंत की जगह ऋद्धिमान साहा लेंगे। कोहली ने कहा कि बंगाल के क्रिकेटर साहा दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर बने हुए हैं। साहा चोट के कारण लंबे समय तक टीम से बाहर रहे और अगस्त में वेस्ट इंडीज दौरे पर दो टेस्ट की सीरीज के साथ टीम में वापसी की।

साहा को हालांकि वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलने का मौका नहीं मिला और दोनों ही मैचों में पंत ने विकेटकीपर की भूमिका निभाई। कोहली ने पहले टेस्ट से पूर्व कहा, हां, साहा फिट है और खेलने को तैयार है। वह हमारे लिए सीरीज की शुरुआत करेंगे। उनकी विकेटकीपिंग से सभी वाकिफ हैं। उन्हें जब भी मौका मिला तो उन्होंने बल्ले से भी अच्छा प्रदर्शन किया।

उन्होंने कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण था कि चोट के कारण वह बाहर रहा। मेरे अनुसार वह दुनिया का सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर है। इन हालात में वह हमारे लिए श्रृंखला की शुरुआत कर सकता है। साहा ने अपना पिछला टेस्ट जनवरी 2018 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था। उनकी गैरमौजूदगी में पंत ने जिम्मेदारी संभाली और इंग्लैंड तथा ऑस्ट्रेलिया में शतक के साथ खेल के लंबे प्रारूप में टीम की पहली पसंद बन गए।

कराची। भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट संबंधों को लेकर स्थिति फिलहाल ठीक नहीं नजर आ रही है। अब ताजा मामले में पाकिस्तान ने अगले साल होने वाले एशिया कप में भाग लेने की पुष्टि के लिए भारत के सामने समय सीमा निर्धारित कर दी है। दरअसल पाकिस्तान के लिए भारत की हां या ना बहुत मायने रखती है। भारत के ना करने पर पाकिस्तान से टूर्नामेंट की मेजबानी जा सकती है।

बता दें कि एशिया कप अगले साल सितंबर में पाकिस्तान में आयोजित होना है। ऐसे में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड को टूर्नामेंट में शामिल होने की पुष्टि करने के लिए अगले जून 2020 का समय निर्धारित किया है।

PCB के सीईओ वसीम खान ने कहा - हमें पता होना चाहिए कि क्या भारत हमारे यहां आयोजित एशिया कप में खेलेगा या नहीं। हमें पता होना चाहिए कि भारतीय टीम पाकिस्तान आने को सहमत है या नहीं। जून तक हमें पता होना चाहिए कि ये टूर्नामेंट हमारे यहीं होगा या फिर कोई दूसरा देश इसकी मेजबानी करेगा। साथ ही हमें भारत के पाकिस्तान में नहीं खेलने की वजह भी स्पष्ट होनी चाहिए। बता दें कि ये टूर्नामेंट फिलहाल सितंबर 2020 में पाकिस्तान में होना तय है, पर यदि भारत ने पाकिस्तान में खेलने से इंकार कर दिया तो पाकिस्तान से इस टूर्नामेंट की मेजबानी छीनी जा सकती है। वसीम खान ने कहा- टूर्नामेंट को स्थानांतरित करने का अंतिम फैसला एशियाई क्रिकेट परिषद और आईसीसी करेगा। तय कार्यक्रम के मुताबिक एशिया कप हमारे यहां होना है और हम भारत की मेजबानी के लिए तैयार हैं। हम इस टूर्नामेंट का आयोजन करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

गौरतलब है कि भारत और पाकिस्तान के बीच जारी राजनीतिक तनाव के चलते दोनों देशों के द्विपक्षीय क्रिकेट संबंधों पर भी असर पड़ा है और लंबे समय से दोनों के बीच कोई द्विपक्षीय सीरीज नहीं हुई है। यहां तक की बीते 10 सालों में पाकिस्तान में ही सुरक्षा कारणों से कोई बड़ी टीम द्विपक्षीय सीरीज खेलने नहीं पहुंची है। हाल ही में श्रीलंकाई टीम 3-3 मैचों की वनडे और टी20 सीरीज के लिए पाकिस्तान दौरे पर है।

लेकिन भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव जारी है। हालांकि वसीम खान ने कहा - हम राजनीतिक मसले समझते हैं। हमें बीसीसीआई से कोई परेशानी नहीं है। बोर्ड स्तर पर हमारे काफी अच्छे रिश्ते हैं। एक बात और है कि हम भारत से द्विपक्षीय श्रृंखला के लिए पीछे नहीं पड़ रहे। अगर भारत खेलना चाहता हैं तो उसे हमें बताना होगा। यदि भारत हमारे साथ तटस्थ स्थल पर खेलने को राजी होता है तो भी हमें कोई परेशानी नहीं है। हम तैयार है। लेकिन उन्हें इसके लिए प्रतिबद्धता तो दिखानी होगी।

बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बीच दिसंबह 2012 में अंतिम द्विपक्षीय सीरीज खेली गई थी। उस समय भारत में 3 वनडे और 2 टी20 मैच खेले गए गए। उससे पहले भारत ने पाकिस्तान का दौरा किया था।

बोर्ड प्रेजिडेंट इलेवन और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले जा रहे तीन दिवसीय प्रैक्टिस मैच में रोहित शर्मा बतौर टेस्ट ओपनर उतरे। लेकिन रोहित की यह शुरुआत काफी खराब रही। दूसरी ही गेंद पर वह बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए। वर्नेन फिलंडर ने बोर्ड प्रेजिडेंट इलेवन की पारी के दूसरे ओवर में रोहित शर्मा को आउट किया। रोहित शर्मा की बतौर ओपनर शुरुआत सही नहीं रही। वहीं, वीवीएस लक्ष्मण ने मुंबई के इस बल्लेबाज को सलाह देते हुए कहा है कि रोहित को वह गलती नहीं करनी चाहिए, जो उन्होंने की थी।

वीवीएस लक्ष्मण का कहना है कि रोहित को अपने अंदाज में ही खेलना चाहिए। टेस्ट में बतौर ओपनर उतरने पर अगर वह अपनी तकनीक में कोई बदलाव करते हैं तो यह उल्टा पड़ सकता है। बता दें कि लक्ष्मण मिडिल ऑर्डर के विशेषज्ञ बल्लेबाज थे, पर उन्हें 1996-98 के बीच में पारी का आगाज करने के लिए कहा गया था. लेकिन वह कभी भी इस स्थान पर सहज महसूस नहीं करते थे। लक्ष्मण ने हाल ही में पूर्व भारतीय क्रिकेटर दीप दासगुप्ता को उनके यूट्यूब चैनल ‘दीप प्वॉइंट’ को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ”सबसे बड़ी फायदे की चीज यह है कि रोहित के पास अनुभव है, जो मेरे पास नहीं था। मैंने केवल चार टेस्ट मैच खेलने के बाद टेस्ट क्रिकेट में पारी का आगाज किया था। रोहित 12 साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल चुका है। इसलिए उसमें परिपक्वता और अनुभव मौजूद है और साथ ही वह अच्छी फॉर्म में है।”

44 साल के पूर्व क्रिकेटर ने कहा, ”मेरा मानना है कि मैंने पारी का आगाज करते हुए जो गलती की वो थी- मानसिकता में बदलाव। मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज के तौर पर मुझे काफी सफलता मिली, लेकिन जब मैंने अपनी तकनीक में बदलाव करने की कोशिश की तो मुझे इसका नुकसान हुआ।” कहा, ”मैंने अपनी तकनीक में भी बदलाव करने की कोशिश की थी। मध्यक्रम बल्लेबाज के तौर पर मैं हमेशा ‘फ्रंट-प्रेस के बाद गेंद की ओर जाता था, लेकिन सीनियर खिलाड़ियों और कोचों से बात करने के बाद मैंने इसमें बदलाव किया। इस बदलाव ने मेरी बल्लेबाजी प्रभावित की और मैं उम्मीद करता हूं कि रोहित को ऐसा नहीं करना चाहिए।’

लक्ष्मण ने कहा, ”अगर आप अपनी शैली के खेल से ज्यादा छेड़छाड़ करोगे तो आपको परिणाम नहीं मिलेगा क्योंकि आपके दिमाग में उलझन होगी और आप लय खो सकते हो। मैं स्वीकार कर सकता हूं कि जब मैंने पारी का आगाज किया तो मेरी लय प्रभावित हुई। रोहित ऐसा खिलाड़ी है जो लय में आने के बाद अच्छा प्रदर्शन करता है और अगर उसकी लय प्रभावित हुई तो यह मुश्किल होगा।”

खेल। भारतीय शटलर पारुपल्ली कश्यप शनिवार को कोरिया ओपन के सेमीफाइनल में हार गए। दो बार के चैम्पियन जापान के केन्तो मोमोता कश्यप को 21-13 21-15 से हराकर फाइनल में पहुंच गए। वर्ल्ड नंबर-1 मोमोता और वर्ल्ड नंबर-30 कश्यप के बीच 40 मिनट तक मुकाबला चला। कश्यप के हारने के साथ ही टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती भी खत्म हो गई।

कश्यप का यह इस सीजन में दूसरा सेमीफाइनल था। इससे पहले वे इंडिया ओपन सुपर टूर्नामेंट के अंतिम-4 में पहुंचे थे। जबकि कश्यप और मोमोता के बीच यह तीसरा मुकाबला था। तीनों में कश्यप को हार का सामना करना पड़ा। 

कश्यप ने क्वार्टरफाइनल में जान ओ जोर्गेंसन को हराया था

कश्यप ने क्वार्टरफाइनल में डेनमार्क के जान ओ जोर्गेंसन को 24-22, 21-8 से हराया था। 33 साल के कश्यप ने इस मुकाबले को 37 मिनट में अपने नाम किया था। इससे पहले कश्यप ने प्री-क्वार्टरफाइनल में मलेशिया के डैरेन लियू को तीन गेम में 21-17 11-21 21-12 से शिकस्त दी थी।

कश्यप 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स स्वर्ण पदक जीते थे
कॉमनवेल्थ गेम्स (2014) के स्वर्ण पदक विजेता कश्यप इस टूर्नामेंट में भारत की इकलौती उम्मीद हैं। उनसे पहले वर्ल्ड चैम्पियन पीवी सिंधु और साइना नेहवाल बुधवार को पहले राउंड में बाहर हो गई थीं। साइना रिटायर हुई थीं। वहीं मेंस सिंगल्स में बी साई प्रणीत भी चोट के कारण मैच को बीच में ही छोड़ कर टूर्नामेंट से हट गए थे।


खेल डेस्क। बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन की बेटी रूपा गुरुनाथ तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन टीनएनसीए की अध्यक्ष बनीं। गुरुवार को चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में हुई टीएनसीए की 87वीं वार्षिक सामान्य सभा के दौरान उन्हें इस पद के लिए निर्विरोध चुना गया। उनके सामने अन्य कोई उम्मीदवार मैदान में नहीं था। इसके साथ ही वे बीसीसीआई से जुड़े किसी भी राज्य संगठन में अध्यक्ष बनने वाली देश की पहली महिला भी बन गईं। अध्यक्ष बनने के बाद अब रूपा ही बीसीसीआई की बैठकों में टीमएनसीए का प्रतिनिधित्व किया करेंगी। बुधवार शाम को नामांकन जमा करने की आखिरी तारीख थी और आखिरी वक्त तक अध्यक्ष पद के लिए सिर्फ रूपा ने ही पर्चा दाखिल किया था। इससे पहले रविवार को हुई तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन की कार्यकारिणी की बैठक में गुरुवार को चुनाव कराने का फैसला हुआ था। वे तमिलनाडु क्रिकेट संघ की एजीएम में चुनीं गईं क्रिकेट संघ की 87वीं अध्यक्ष हैं।
पिता 15 साल तक रहे अध्यक्ष रूपा के पिता और आईपीएल टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के मालिक एन श्रीनिवासन साल 2002 से 2017 तक तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे थे। उन्होंने साल 2017 में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके अलावा वे बीसीसीआई और आईसीसी के प्रमुख भी रहे। रूपा साल 2013 में सामने आए आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में लाइफटाइम बैन झेल रहे गुरुनाथ मयप्पन की पत्नी हैं।



खेल।  भारतीय शटलर पीवी सिंधु बुधवार को कोरिया ओपन के पहले दौर में बाहर हो गईं। सिंधु को अमेरिका की झांग बेईवेन ने हराया। झांग ने यह मुकाबला 7-21, 24-22, 21-15 से अपने नाम किया। दूसरी ओर, साइना नेहवाल टूर्नामेंट में आज अपना पहला मैच खेलेंगी। पुरुषों में बी साई प्रणीत भी पहले दौर में बाहर हो गए। वे डेनमार्क के आंद्रेस एंटोनसन के खिलाफ चोट के कारण दूसरे राउंड के दौरान रिटायर हो गए। वे पहला राउंड 9-21 से हार गए थे। दूसरे राउंड में भी प्रणीत 7-11 से पीछे चल रहे थे। सिंधु ने बेईवेन के खिलाफ पहला गेम 21-7 से अपने नाम कर लिया था। पहला गेम आसानी से जीतने के बाद ऐसा लगा था कि सिंधु दूसरे गेम को जीतकर मैच अपने नाम कर लेंगी लेकिन बेईवेन ने दूसरे गेम में जबरदस्त वापसी की। उन्होंने 24-22 से दूसरे गेम को जीत लिया। मैच 1-1 से बराबर होने के बाद तीसरे गेम में दोनों खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया, लेकिन यहां सिंधु पिछड़ गईं। बेईवेन ने इस गेम को 21-15 से जीत लिया। सिंधु चीन ओपन के क्वार्टरफाइनल में हारीं थी 27 साल की सिंधु पिछले सप्ताह चीन ओपन के क्वार्टरफाइनल में हार गईं थी। उन्होंने वर्ल्ड नंबर-9 इंडोनेशिया की एंथोनी सिनिसुका ने हराया था। सिंधु ने पिछले महीने वर्ल्ड चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। वे इस वर्ल्ड चैम्पियशिप जीतने वाली पहली भारतीय शटलर हैं।

नई दिल्ली। टीम इंडिया के युवा तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह चोट के कारण आगामी टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए हैं। भारतीय टीम को अफ्रीकी टीम के खिलाफ 2 अक्टूबर से 3 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है। यह सीरीज टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा है और वेस्ट इंडीज में शानदार बोलिंग करने वाले बुमराह को इसमें जगह मिली थी। बुमराह की चोट के बाद चयनकर्ताओं ने उनकी जगह उमेश यादव को जगह दी है।

बीसीसीआई ने टि्वटर हैंडल पर यह जानकारी दी। बीसीसीआई के मुताबिक, बुमराह को लोअर बैक में मामूली सा स्ट्रेस फ्रैक्चर है। इसके चलते उन्हें आगामी गांधी-मंडेला टेस्ट सीरीज से बाहर होना पड़ा है। बुमराह इस चोट के उपचार के लिए एनसीए में रीहबिलिटेशन प्रोग्राम जॉइन करेंगे। इस दौरान वह बीसीसीआई की मेडिकल टीम की निगरानी में रहेंगे। बुमराह की इस चोट की जानकारी खिलाड़ियों के रूटीन चैकअप के दौरान हुई।

पूरब टाइम्स, हैदराबाद. हाल ही में वर्ल्ड चैंपियन बनीं भारत की दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु (PV Sindhu) को बड़ा झटका लगा है. भारतीय सिंगल्स बैडमिंटन कोच किम जी ह्यून (Kim Ji Hyun) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. पद छोड़ने के पीछे उनके निजी कारणों को माना जा रहा है. साउथ कोरिया की किम पिछले चार माह से सिंधु (PV Sindhu) के साथ काम रही थीं. दुनिया की पांचवें नंबर की खिलाड़ी सिंधु को वर्ल्ड चैंपियन बनाने में उन्होंने अहम भूमिका भी निभाई थी. लेकिन कुछ सप्ताह से उनके पति की तबीयत खराब चल रही है, जिस कारण उन्हें मजबूरन न्यूजीलैंड जाना पड़ रहा है. टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार किम के पति को करीब छ‌ह माह तक देखभाल की जरूरत है और संभव है कि उन्हें सर्जरी से भी गुजरना पड़ सकता है. ऐसी स्थिति में किम का परिवार न्यूजीलैंड में उनकी मौजूदगी चाहता है. खबर के अनुसार किम ने कहा कि वह 100 फीसदी आश्वस्त नहीं हैं कि वह वापस आ पाएंगी. हालांकि अब यह साफ हो गया हैं वह नहीं आएंगी. किम के जाने से पुलेला गोपीचंद  पर काम का भार बढ़ गया है. किम के कोचिंग सेट अप से जुड़ने के बाद गोपीचंद के पास बाकी पहलुओं पर ध्यान लगाने के लिए समय था, लेकिन अब जब ओलिंपिक में ज्यादा समय भी नहीं बचा हैं तो ऐसे में बैडमिंटन एसोसिएशन के सामने किम की जगह को जल्द से जल्द भरने की कड़ी चुनौती खड़ी हो गई है.