Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) बेंगलुरु स्थित नेशनल क्रिकेट एकेडमी (NCA) के अधिकारों को लेकर कोई समझौता करने के मूड में नहीं है। बीसीसीआई ने यह तय कर लिया है कि खिलाड़ियों को चोट से उबरकर पूरी तरह फिट घोषित होने के लिए एनसीए जाना अनिवार्य होगा। यदि किसी को क्रिकेटर का इलाज करना है तो उसे भी एनसीए आना होगा। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इस मामले में शुक्रवार को एनसीए प्रमुख राहुल द्रविड़ से मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद गांगुली ने हिन्दुस्तान टाइम्स को दिए इंटरव्यू में कहा कि एनसीए को लेकर एक सिस्टम तैयार किया गया है। गेंदबाजों/खिलाड़ियों को एनसीए जाना ही होगा। यदि उन्हें किसी अन्य से अपना इलाज करवाना हो तो उस डॉक्टर/फिजियो/विशेषज्ञ को एनसीए आकर ही ऐसा करना होगा। उन्होंने कहा कि इसके पीछे भले ही कुछ भी कारण को लेकिन पूरी व्यवस्था की जाएगी। इस बात का पूरा ख्याल रखा जाएगा कि खिलाड़ी को कोई असुविधा नहीं हो। बोर्ड इसके लिए हरसंभव श्रेष्ठ प्रयास करेगा। उल्लेखनीय है कि तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह रिहैबिलिटेशन के लिए एनसीए नहीं गए थे। उन्होंने अलग से इलाज करवाया और मुंबई में रिहैब किया। इसके बाद जब बुमराह ने एनसीए से फिटनेस टेस्ट लेने को कहा तो एनसीए ने मना कर दिया था। इसके बाद गांगुली को मोर्चा संभालना पड़ा था। गांगुली ने कहा कि एनसीए हमारी प्राथमिकता की लिस्ट में सबसे उपर है। नई जमीन पर एकेडमी का निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा 18 महीनों के अंदर ऐसी विश्वस्तरीय एकेडमी तैयार कर ली जाएगी जहां श्रेष्ठतम सुविधाएं मौजूद रहेंगी।

मुंबई। केरल और गुजरात के बीच गुरुवार से शुरू हो रहे रणजी ट्रोफी मुकाबले से पहले यह चर्चा आम थी कि टीम इंडिया की तेज गेंदबाजी के अगुआ जसप्रीत बुमराह इस मैच से वापसी कर सकते हैं। हालांकि अब ऐसा पता चला है कि बुमराह एलीट ग्रुप ए, के इस मैच में नहीं खेलेंगे जो गुरुवार से लालाभाई कॉन्ट्रेक्टर स्टेडियम, सूरत में खेला जाएगा। सूत्रों के अनुसार, बीसीसीआई चीफ सौरभ गांगुली ने बुमराह को रणजी ट्रोफी में नहीं खेलने की इजाजत दे दी है।

गांगुली को बुमराह ने बताई थी परेशानी
इस गेंदबाज ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली और सचिव जय शाह को अपनी परेशानी से अवगत कराया था, हालांकि इन दोनों ने बुमराह को फिलहाल सफेद बॉल क्रिकेट पर ध्यान देने को कहा है। गुजरात के कप्तान पार्थिव पटेल ने भी पुष्टि की है कि बुमराह सूरत में हो रहे मुकाबले में नहीं खेलेंगे।
बुमराह एक दिन में केवल 8 ओवर ही कर पाते गेंदबाजी
सूत्रों ने यह भी कहा कि राष्ट्रीय चयन समिति ने गुजरात टीम प्रबंधन को सलाह दी है कि चूंकि बुमराह चोट से उबर रहे हैं इसलिए उन्हें एक दिन में अधिक से अधिक 8 ओवर ही गेंदबाजी करने दी जाए। लेकिन गुजरात टीम प्रबंधन इस बात से थोड़े परेशान से नजर आती है। उनका कहना है कि एक ऐसे गेंदबाज को टीम में मौका देना जो एक दिन में अधिकतम आठ ओवर ही गेंदबाजी कर सके, उनके लक्ष्य की पूर्ति नहीं करता।

नयी दिल्ली, 19 दिसंबर (भाषा) भारतीय पुरुष फुटबाल टीम फीफा की गुरुवार को जारी साल की आखिरी फीफा रैंकिंग में 108वें नंबर पर बनी हुई है। भारतीय टीम हालांकि पूरे वर्ष भर में 11 पायदान नीचे खिसकी। भारत के 1187 अंक हैं और वह एशियाई देशों में 19वें स्थान पर हैं। जापान इस सूची में शीर्ष पर हैं लेकिन ओवरआल रैकिंग में वह 28वें स्थान पर है। पिछले साल दिसंबर में फीफा रैंकिंग में भारत 97वें स्थान पर था। इस साल टीम की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग 101 थी जो उसने अप्रैल और जून में हासिल की थी। एशियाई रैंकिंग में जापान के बाद ईरान (33), कोरिया (40), ऑस्ट्रेलिया (42) और महाद्वीपीय चैंपियन कतर (55) का नंबर आता है। विश्व कप 2018 का उप विजेता बेल्जियम लगातार दूसरे साल के आखिर में शीर्ष पर रहा। उसकी टीम 2015 और 2018 के आखिर में भी शीर्ष पर रही थी। विश्व चैंपयिन फ्रांस दूसरे और ब्राजील तीसरे स्थान पर बना हुआ है। इंग्लैंड एक पायदान ऊपर चौथे और उरूग्वे पांचवें स्थान पर पहुंच गया है। इनके बाद क्रोएशिया पुर्तगाल, स्पेन, अर्जेंटीना और कोलंबिया का नंबर आता है।

कोलकाता। IPL 2020 : इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के लिए आज होने वाली खिलाड़ियों की नीलामी पर सबकी नजरें हैं। IPL के 13वें सीजन के लिए फ्रेंचाइजी टीमें अपनी पसंद के खिलाड़ियों के लिए बोली लगाएंगी। बता दें कि सभी 8 टीमों में 73 स्थानों के लिए 12 देशों के 332 खिलाड़ियों के लिए बोली लगेगी।

बता दें कि आईपीएल 2020 नीलामी के लिए 971 खिलाड़ियों ने रजिस्ट्रेशन कराया था, जिसमें से 332 खिलाड़ियों को शॉट लिस्ट किया गया। नीलामी के लिए अंतिम सूची में भारत के 186 खिलाड़ी शामिल हैं, जबकि 143 विदेशी खिलाड़ी हैं। 3 खिलाड़ी आईसीसी के एसोसिएट सदस्य देशों के हैं।इसलिए नीलामी को लेकर उत्सुकता

आईपीएल की नीलामी को लेकर इस बार इतनी उत्सुकता सिर्फ इसलिए है क्योंकि टीमों में बड़े पैमाने पर फेरबदल किए हैं। मुंबई इंडियंस, कोलकाता नाइटराइडर्स, सनराइजर्स हैदराबाद, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु सहित लगभग अधिकांश टीमों ने खिलाड़ियों में बदलाव किए हैं। सभी फ्रेंचाइजियों ने 127 खिलाड़ियों को रिटेन किया है, जिसमें 32 विदेशी खिलाड़ी शामिल हैं। जबकि कई बड़े खिलाड़ियों को टीम ने रिलीज भी किया है। स्टार विदेशी खिलाड़ियों को तो टीमें हासिल करना चाहेंगी ही साथ ही युवा भारतीय खिलाड़ियों को हासिल करने के लिए भी टीमों के बीच जद्दोजहद होगी।

 भारतीय महिला टीम की ओपनर स्मृति मंधाना को आईसीसी वुमन वनडे और टी-20 टीम ऑफ द ईयर में शामिल किया गया। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने मंगलवार को वार्षिक अवॉर्ड की घोषणा की। इसमें ऑस्ट्रेलिया की एलिसा पैरी को वुमन क्रिकेटर ऑफ द ईयर चुना गया। इसके लिए उन्हें रेसेल हेहो-फ्लिंट अवॉर्ड दिया जाएगा। पैरी को वनडे क्रिकेटर ऑफ द ईयर का भी अवॉर्ड दिया जाएगा।मंधाना के अलावा वनडे टीम में अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी, पूनम यादव और शिखा पांडेय को टीम में शामिल किया गया। वहीं, टी-20 टीम में मंधाना के साथ दीप्ति शर्मा को जगह मिली। 23 साल की मंधाना ने दो टेस्ट, 51 वनडे और 66 टी-20 खेले हैं। टी-20 और वनडे में उनके कुल 3476 रन हैं।

चेन्नै
यह किसी से छिपा नहीं है कि चेन्नै के एमए चिदंबरम स्टेडियम में 
महेंद्र सिंह धोनी को कितना ज्यादा पसंद किया जाता है। कई साल से आईपीएल टीम चेन्नै सुपर किंग्स के साथ उपलब्धियों की वजह से यहां उन्हें भगवान का दर्जा प्राप्त है। चेन्नै में लोग उन्हें थाला बुलाते हैं। वेस्ट इंडीज के खिलाफ रविवार को चेन्नै में पहले वनडे में धोनी भले नहीं थे, लेकिन उनके उत्तराधिकारी माने जा रहे युवा ऋषभ पंत ने दमदार प्रदर्शन किया।आसान नहीं थी पारी
एक धीमी पिच पर, जहां स्ट्रोक-मेकिंग आसान नहीं थी, दिल्ली के इस विकेटकीपर-बल्लेबाज ने 69 गेंदों पर 71 रनों की पारी खेली। पंत के लिए यह इसलिए भी खास रहा क्योंकि यह उनकी पहली वनडे इंटरनैशनल हाफ सेंचुरी है। पंत ने अपनी इस पारी में 7 चौके और 1 छक्का जड़ा।पंत ने जड़ा पहला वनडे अर्धशतक
22 वर्षीय पंत तब मैदान पर उतरे थे, जब रोहित शर्मा का विकेट गिरने के बाद भारत का स्कोर 19वें ओवर में 3 विकेट पर 80 रन था। फिर पंत और श्रेयस अय्यर ने मिलकर भारत को मजबूती दी और 114 रन की शतकीय साझेदारी की। हालांकि टीम इंडिया को इस मैच में 8 विकेट से हार झेलनी पड़ी। पंत ने करियर का पहला वनडे इंटरनैशनल अर्धशतक जड़ा। इससे पहले उन्होंने 12 वनडे खेले थे और उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 48 रन था।

नई दिल्लीदुनिया के महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर ने रविवार को अपने टि्वटर हैंडल पर एक विडियो पोस्ट किया था, जिसमें उन्होंने बताया था कि कैसे एक समय चेन्नै में एक वेटर की अहम सलाह ने उनकी बैटिंग की मुश्किलों को आसान बना दिया। इसके बाद सचिन ने फैन्स से अपील की थी कि वे उस वेटर को ढूंढने में उनकी मदद करें। सोमवार को वह शख्स, जिसे सचिन शिद्दत से तलाश रहे थे वह सामने आ गया। सचिन को उनकी बैटिंग में सुधार के लिए अहम सलाह देने वाले यह शख्स गुरुप्रसाद हैं, जो चेन्नै के हैं।मास्टर ब्लास्टर जिन दिनों क्रिकेट खेलते थे तब वह एक टेस्ट मैच के लिए चेन्नै में थे। सचिन को यहां के ताज कोरोमंडल होटल में मिला था और उसने तेंडुलकर को उनके एल्बो गार्ड से जुड़ी अहम सलाह दी थी। सचिन ने उसकी सलाह पर अपना एल्बो गार्ड रिडिजाइन किया था और सचिन ने माना है कि गुरुप्रसाद की यह सलाह उनके बहुत का आई थी।

उस लम्हे को याद करते हुए सचिन ने लिखा था, मैं नहीं जानता कि वह अभी कहां है और मैं उससे मिलना चाहता हूं। क्या आप लोग उस वेटर की तलाश में मेरी मदद कर सकते हैं? समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, गुरुप्रसाद को जब सचिन का यह संदेश मिला तो वह रोमांचित हो उठे। सचिन के इस इन्विटेशन पर प्रतिक्रिया देते हुए गुरुप्रसाद ने कहा, फैन्स अक्सर महान लोगों से मिलने को बेताब रहते हैं, यहां महान मास्टर (क्रिकेटर) मुझसे मिलना चाहते हैं। यह बहुत रोमांचक है।

भारत को टोक्यो ओलिंपिक से सात महीने पहले करारा झटका लगा जब निशानेबाज रवि कुमार और मुक्केबाज सुमित सांगवान डोप टेस्ट में फेल हो गए। नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (NADA) के अनुसार इन दोनों को प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन का दोषी पाया गया।

खेल जगत इस वजह से हैरान है क्योंकि आमतौर पर निशानेबाजी और मुक्केबाजी में डोपिंग कम ही सुनने को मिलती है। ओलिंपियन सुमित सांगवान (91 किग्रा) को एसिटाजोलामाइड के सेवन का दोषी पाया गया, यह ड्यूरेटिक वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (WADA) द्वारा प्रतिबंधित है।2017 एशियन चैंपियनशिप में सुमित ने रजत पदक जीता था। 26 साल के सुमित वर्ल्ड मुक्केबाजी चैंपियनशिप के क्वार्टरफाइनल तक पहुंचे थे।

सांगवान की आंख का इलाज चल रहा है और उन्होंने डॉक्टर की सलाह पर जो दवाई ली थी उसमें एसिटाजोलामाइड मौजूद था। ग्लुकोमा की वजह से आंख में बढ़ने वाले दबाव के इलाज के लिए इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है। फरवरी में चीन के वुहान में होने वाले ओलिंपिक क्वालीफायर के सिलेक्शन ट्रायल में उनके हिस्सा लेने के अवसर लगभग समाप्त हो गए हैं।

आईपीएल 2020 के लिए खिलाड़ियों की नीलामी 19 दिसंबर को कोलकाता में होगी। ईएसपीएनक्रिकइंफो के मुताबिक, नीलामी के लिए 332 खिलाड़ियों को शॉर्टलिस्ट किया गया है। नीलामी के लिए 971 खिलाड़ियों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। दो करोड़ के टॉप बेस प्राइस में ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैक्सवेल और पैट कमिंस के साथ दक्षिण अफ्रीका के ऑलराउंडर क्रिस मॉरिस को रखा गया है। इस बेस प्राइस में कोई भी भारतीय नहीं है। रॉबिन उथप्पा भारत के टॉप बेस प्राइस खिलाड़ी हैं। उन्हें 1.5 करोड़ की लिस्ट में रखा गया है।

खिलाड़ियों की पूरी लिस्ट में गुरुवार शाम तक आईपीएल के आधिकारिक वेबसाइट पर जारी किया जा सकता है। शॉर्टलिस्ट किए गए खिलाड़ियों में 24 नए प्लेयर यानी अनकैप्ड हैं। इनके नाम फ्रेंचाइजी की ओर से ही प्रस्तावित किए गए हैं। पिछले सीजन में 8.4 करोड़ में बिकने वाले तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट 1 करोड़ की बेस प्राइस में शामिल हैं।

पिछले साल उथप्पा के लिए कोलकाता ने राइट-टू-मैच कार्ड इस्तेमाल किया था
नीलामी में भारतीय खिलाड़ियों में सबकी नजर उथप्पा पर होगी। 2007 टी-20 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के सदस्य उथप्पा कई सालों से कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए खेल रहे थे। इस साल फ्रेंचाइजी ने उन्हें रीलीज कर दिया। उथप्पा पिछले साल भी नीलामी की प्रक्रिया से गुजरे थे। तब कोलकाता ने राइट-टू-मैच कार्ड का इस्तेमाल कर उन्हें अपनी टीम में शामिल कर लिया था।

दिल्ली के नजफगढ़ में अपने मामा के यहां रहकर राइफल से शूटिंग करने वाली 25 वर्षीय काजल सैनी ने पिछले दिनों नेपाल में 1 से 10 दिसंबर तक हुए सैफ गेम्स (साउथ एशियन गेम्स) में टीम इवेंट में गोल्ड और इंडिविजुअल इवेंट में ब्रॉन्ज मेडल जीता। काजल ने ये दोनों पदक राइफल के 50 मीटर थ्री पोजिशन में जीते हैं। इससे पहले वह नवंबर में कतर में हुई एशियन शूटिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता है। काजल ने राइफल के 50 मीटर प्रोन पोजिशन इवेंट में टीम के साथ गोल्ड और 50 मीटर थ्री पोजिशन में टीम के साथ ब्रॉन्ज मेडल जीता है। वह हरियाणा के रोहतक की रहने वाली हैं। नैशनल लेवल पर 4 गोल्ड, 3 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज समेत 11 मेडल जीतने वाली काजल ने अपने शूटिंग करियर किराए की राइफल से शुरू किया था। काजल का कहना है कि जब वह मैदान में उतरती हैं, तो यह नहीं सोचती हैं कि पदक जीतना है, बल्कि उनका फोकस अच्छा खेलने पर होता है।

एनसीसी कैंप से हुई शूटिंग की शुरुआत
काजल बताती हैं कि उनकी शूटिंग की शुरुआत एनसीसी कैंप से इत्तफाक से हुई थी। बकौल काजल, 2014 में मैंने रोहतक में गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ विमन के बीएससी कोर्स में दाखिला तो ले लिया, लेकिन मेरा पढ़ाई में उतना मन नहीं लगता था। इसी बीच मैंने एनसीसी जॉइन कर ली। एनसीसी के जहां भी कैंप लगते, मैं वहां जाने लगी। एक कैंप में मैंने फायरिंग कॉम्पिटिशन (राइफल इवेंट) में हिस्सा लिया। इसमें सारे निशाने सही लगाए और मुझे पहला स्थान मिला। अगले दिन मैंने फिर शूटिंग कॉम्पिटिशन जीत लिया। इस तरह मैं एनसीसी कैंपों में अपने शूटिंग के शौक को निखारती रही। हालांकि मैंने इसके लिए कहीं से कोई कोचिंग नहीं ली थी। इस दौरान एनसीसी की डीजी टीम से भी मैं खेली। यह एनसीसी में सबसे ऊपर की टीम होती है। यहां भी मेरा प्रदर्शन बेहतरीन रही। एनसीसी की तरफ से खेलते हुए मैंने नैशनल और भारतीय टीम के लिए क्वॉलिफाई किया। 1 साल तक मैं एनसीसी की तरफ से खेली तब तक कोई दिक्कत नहीं आई।


20 हजार था राइफल का किराया
2015 में मैं एनसीसी से निकल गई। इसके बाद मुझे शूटिंग चालू रखने में दिक्कत होने लगी। राइफल का एक दिन का किराया 20 हजार रुपये होता था 2 घंटे के लिए। इसके अलावा गोलियां अलग से लेनी पड़ती थीं। 1 गोली 40 से 48 रुपये की मिलती थी। नैशनल शूटर होने पर लाइसेंस मिलता है। इस आधार पर राइफल की 1 गोली 22 रुपये की पड़ती। मैं हर दिन इतना खर्च नहीं कर सकती थी। इसका मैंने एक उपाय निकाला। कोई भी शूटिंग कॉम्पिटिशन होने से पहले 2 दिन के लिए राइफल किराये पर लेती थी। एक दिन प्रैक्टिस करती और अगले दिन प्रतियोगिता में हिस्सा लेती। इस दौरान एक दिन में मैं सिर्फ 300 गोलियां चलाकर अभ्यास करती थी। इस तरह मेरा 2 दिन का ही खर्च 1 लाख रुपये से ऊपर आ जाता था। निशानेबाजी के दौरान अपर बॉडी पर पहनने वाली ड्रेस तो मैंने ली ही नहीं। वह लाख से डेढ़ लाख के बीच आती है। 30 हजार रुपये के जूते आते हैं। ये चीजें हर 2 साल में बदलनी भी पड़ती हैं। घर का हर सदस्य मेरी मदद करता था। एक बार चाचाजी ने मुझे विदेश में प्रतियोगिता में भेजा, एक बार बुआ ने गोलियां खरीदने के लिए पैसे दिए। 2017 में मैंने 15 हजार गोलियां प्रैक्टिस में खर्च कीं। इस साल मुझे लाइसेंस मिल गया था। इसके बाद हर गोली मुझे 22 रुपये की पड़ी।

हाल ही में खरीदी राइफल
काजल ने हाल हीमें अपनी राइफल खरीदी है। वह बताती हैं, कुछ लोग पापा को बोलते थे कि जितना पैसा इसके खेल पर खर्च कर रहे हो, उतने में इसकी शादी हो जाएगी। पापा ने इन लोगों से बहस नहीं की औ न ही पलटकर जवाब दिया। शायद उन्हें पता था कि उनकी बेटा का खेल ही इनका जवाब देगा। मैं अपना पापा के सबसे ज्यादा करीब हूं। मैं जब लाइफ में पहली बार बाहर खेलने मलयेशिया गई थी। तो वहां सुबह छह बजे मेरा मैच था। पापा रात भर जागते रहे और सुबह मुझे ऑल द बेस्ट कहने के बाद ही सोए। वह मेरे मैच वाली रात सोते नहीं हैं और लाइव स्कोर देखते रहते हैं। बकौल काजल, पापा पंकज सैनी दिल्ली फायर विभाग में कार्यरत हैं। मम्मी रोहतक में सरकारी टीचर हैं। इन दोनों के वेतन से घर, छोटे भाई की पढ़ाई और राशन खर्च निकाल कर बाकी सारा पैसा मेरे खेल पर खर्च होता है। पिछले चार से घर में कोई नई चीज नहीं आई है।


नई दिल्ली। वेस्ट इंडीज के खिलाफ आगामी वनडे सीरीज के लिए भारतीय ओपनर मयंक अग्रवाल को टीम में शामिल किया गया है। उन्हें चोटिल शिखर धवन की जगह भारतीय टीम में जगह मिली है।
बीसीसीआई की ओर से बुधवार को जारी बयान के मुताबिक, ऑल इंडिया सीनियर सिलेक्शन कमिटी ने मयंक को चोटिल धवन की जगह टीम में शामिल किया है। सूरत में धवन के बाएं अंगूठे में सैयद मुश्ताक अली ट्रोफी टी20 टूर्नमेंट के दौरान कट लग गया था।
धवन वेस्ट इंडीज के खिलाफ मौजूदा टी20 सीरीज में भी टीम का हिस्सा नहीं हैं। बीसीसीआई की मेडिकल टीम ने धवन का चेकअप किया और पाया कि उनकी चोट धीरे-धीरे ठीक हो रही है लेकिन उन्हें पूरी तरह मैच फिटनेस के लिए कुछ और समय चाहिए।

सूरत में एक मुकाबले के दौरान धवन के बाएं अंगूठे में कट लग गया था जिसके कारण उनके अंगूठे में भी टांके आए थे। हालांकि अब टांके हट गए हैं लेकिन वह मैच खेलने के लिए पूरी तरह फिट नहीं हैं।

मयंक खेलेंगे पहला वनडे!
मयंक को यदि प्लेइंग-XI में मौका मिलता है तो वह अपने करियर का पहला वनडे इंटरनैशनल मैच खेलेंगे। उन्होंने अब तक 9 टेस्ट मैच खेले हैं जिनकी 13 पारियों में 3 शतक और 3 अर्धशतक जड़े हैं। उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ इंदौर में पिछले महीने 243 रन की दोहरी शतकीय पारी खेली थी।

नई दिल्लीभारतीय क्रिकेट में इन दिनों सबसे बड़ा सवाल पूर्व कप्तान एमएस धोनी को लेकर यही चल रहा है कि क्या वह अब इंटरनैशनल क्रिकेट से संन्यास लेंगे या फिर टी20 वर्ल्ड कप से पहले एक बार फिर टीम इंडिया की नीली जर्सी में दिखाई देंगे। सीमित ओवर की क्रिकेट खेलने वाले सीनियर विकेटकीपर बल्लेबाज धोनी वर्ल्ड कप 2019 के बाद से ही ब्रेक पर हैं। चयनकर्ता उनके विकल्प के तौर पर खिलाड़ी ढूंढ रहे हैं तो वहीं टीम इंडिया के कप्तान हों या कोच या फिर बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरभ गांगुली, ये सभी धोनी पर अब तक यही जवाब देते रहे हैं कि अपने भविष्य पर फैसला धोनी ही करेंगे। एक बार फिर भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने साफ किया है अगर महेंद्र सिंह धोनी को लगता है कि वह अगले साल T20 वर्ल्ड कप खेलने की दौड़ में हैं तो इस पर किसी को सवाल नहीं उठाना चाहिए। क्योंकि यह पूर्व कप्तान खुद को टीम पर नहीं थोपेंगे।

कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल दोनों को लगता है कि मौजूदा टी-20 टीम में शिवम दुबे सबसे खराब डांसर हैं। टीम इंडिया की इस स्पिन जोड़ी ने बीसीसीआई टीवी के लिए रोहित शर्मा को एक इंटरव्यू दिया। हर सवाल का जवाब एक लाइन या एक शब्द में देना था। आमतौर पर युजवेंद्र इस तरह के इंटरव्यू चहल टीवी के नाम से करते हैं। इस बार उन्हें जिम्मा मिला जवाब देने का और उनके सहयोगी थे कुलदीप यादव।

रोहित ने चहल और कुलदीप से पहला सवाल किया। पूछा- इस टीम में सबसे खराब डांसर कौन है? दोनों ने एकमत से शिवम दुबे का नाम लिया। दूसरा सवाल था- किस बल्लेबाज को गेंदबाजी करना मुश्किल होता है। कुलदीप ने मुंबई इंडियंस के सूर्यकुमार यादव और चहल ने रोहित शर्मा का नाम लिया। चहल के मुताबिक, रोहित अगर 20 या 25 रन पर खेल रहे हों तो उन्हें गेंदबाजी करना बेहद मुश्किल है क्योंकि इसके बाद वे मैदान के किसी भी हिस्से में बड़े शॉट लगा सकते हैं।

पोखरा (नेपाल) नौ दिसंबर (भाषा) भारतीय महिला फुटबाल टीम ने 13वें दक्षिण एशियाई खेलों में सोमवार को यहां मेजबान नेपाल को 2-0 से हराकर लगातार तीसरी बार स्वर्ण पदक जीता। भारतीय जीत की नायिका एक बार फिर से स्ट्राइकर बाला देवी रही जिन्होंने दोनों हाफ में एक-एक गोल किया। मणिपुर की 29 साल की यह खिलाड़ी टूर्नामेंट की शीर्ष स्कोरर रहीं। उन्होंने चार मैचों में पांच गोल किये। फाइनल में भारतीय गोलकीपर अदिति चौहान ने शानदार प्रदर्शन किया और नेपाल के हमलों को सफल नहीं होने दिया। अदिति के दमदार खेल के कारण पूरे टूर्नामेंट में भारत के खिलाफ एक भी गोल नहीं हुआ।

मुंबईपूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जल्द ही एक सीरीज लेकर आ रहे हैं, जिसमें वह सेना के पुरस्कृत अधिकारियों की कहानियां सुनाएंगे। स्टूडियोनेक्सट जल्द ही धोनी के सहयोग से एक टीवी सीरीज लाने जा रहा है जिसमें वह सेना के अधिकारियों की कहानी सुनाते दिखेंगे।

वनडे इंटरनैशनल में 10 हजार से ज्यादा रन बना चुके धोनी खुद आर्मी टेरिटोरियल में पैराशूट रेजिमेंट में एक लेफ्टीनेंट कर्नल (मानद उपाधि) हैं। इस बारे में बात करते हुए एक सूत्र ने कहा धोनी अपने शो में बहादुर परमवीर चक्र और अशोक चक्र पुरस्कार विजेताओं की कहानियां सुनाएंगे। शो में सेना के अधिकारियों की कहानियां और विशेष सामग्री होगी।
38 साल के धोनी वर्ल्ड कप-2019 के सेमीफाइनल में आखिरी बार टीम इंडिया की जर्सी में नजर आए थे। इसके बाद उन्होंने कुछ समय सेना के जवानों के साथ भी बिताया।

नई दिल्ली.  डोपिंग (Doping) में फंसी महिला मुक्केबाज नीरज फोगाट (Neeraj Phogat) को गुरुवार को खेल मंत्रालय की लक्ष्य ओलिंपिक पोडियम स्कीम (TOPS) सूची से बाहर कर दिया गया जबकि भारत (India) को 2020 टोक्यो खेलों का कोटा दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाली तीरंदाज दीपिका कुमारी (Deepika Kumari) को इसमें शामिल किया गया.

भारतीय कप्तान विराट कोहली के बाद बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने विकेटकीपर ऋषभ पंत का बचाव किया है। उन्होंने कहा, पंत को अपनी आलोचनाओं से सीखना चाहिए। फिर चाहें मैदान पर उन्हें देखकर लोग धोनी-धोनी ही क्यों न चिल्लाते हों?। धोनी ने जो मुकाम हासिल किया है। उसे पाने में पंत को कम से कम 15 साल लगेंगे। गांगुली एक मीडिया समूह के कार्यक्रम में बोल रहे थे।

विराट ने कहा- हमें ऋषभ की काबिलियत पर पूरा भरोसा

इससे पहले गुरुवार को भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा था, हमें ऋषभ की काबिलियत पर पूरा भरोसा है लेकिन यह सबकी जिम्मेदारी है कि उसे बेहतर करने के लिए थोड़ा और मौका दिया जाए। अगर वह जरा सी चूक करता है तो लोग स्टेडियम में धोनी-धोनी चिल्लाने लगते हैं। उन्होंने कहा यह सम्मानजनक नहीं है और कोई खिलाड़ी ऐसा नहीं चाहता।।

ई दिल्ली। नेपाल की अंजलि चंद ने सोमवार को इतिहास रचते हुए साउथ एशियन गेम्स के महिला क्रिकेट मुकाबले में बिना कोई रन दिए 6 विकेट झटक लिए। अंजलि ने नेपाल के पोखरा में खेले गए इस मुकाबले में मालदीव महिला टीम के खिलाफ यह उपलब्धि हासिल की।

साउथ एशियन गेम्स की महिला क्रिकेट प्रतियोगिता का यह पहला ही मुकाबला था जिसमें अंजलि ने इतिहास रचा। नेपाल ने मालदीव की महिला टीम को मात्र 16 रन पर ढेर कर दिया जिसके बाद मात्र 5 गेंदों में बिना कोई विकेट खोए 17 रन बनाकर मुकाबला जीत लिया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी नेपाल टीम के लिए ओपनर काजल श्रेष्ठ ने 13 रन बनाए जबकि अतिरिक्त 4 रन भी मिले।

कोलकाता। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने कहा कि महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य पर फैसला करने के लिए अभी पर्याप्त समय है। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान गांगुली ने कहा कि धोनी के भविष्य पर कुछ महीनों में चीजें स्पष्ट हो जाएंगी। भारत के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा था कि आईपीएल 2020 से धोनी के भविष्य को लेकर स्पष्ट तस्वीर का पता चल जाएगा।

इस बारे में जब गांगुली से पूछा गया तो उन्होंने कहा, हम देखेंगे कि क्या होता है। सभी कुछ स्पष्ट है लेकिन कुछ बातों पर सार्वजनिक तौर पर चर्चा नहीं की जा सकती। अभी पर्याप्त समय है। निश्चित तौर पर (कुछ महीनों में) तस्वीर साफ हो जाएगी। धोनी भारत की विश्व कप सेमीफाइनल में हार के बाद किसी मैच में नहीं खेले हैं।

38 साल के धोनी के इंटरनैशनल क्रिकेट से संन्यास को लेकर पिछले काफी समय से अटकलें लगाई जा रही हैं। उनकी वापसी पर कभी टीम के कोच रवि शास्त्री अभी और इंतजार की बात कहते हैं तो कभी मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद कहते हैं कि वह धोनी से आगे का सोच रहे हैं। धोनी से उनके इस लंबे आराम पर जवाब मांगा गया था तो उन्होंने हाल में कहा कि इस पर उनसे जनवरी तक कुछ मत पूछिए।