Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



पूरब टाइम्स भिलाई।भिलाई निगम के फरीद नगर में एक महिला के कोरोना पाजिटिव प्रकरण आने के बाद उक्त क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। उक्त कंटेनमेंट क्षेत्र में सभी दुकानें एवं अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान आगामी आदेश तक बंद रहेंगे। प्रभारी अधिकारी द्वारा घर पहुंच सेवा के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति उचित दरों पर कराई जा रही है। सभी प्रकार के वाहनों के आवागमन पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है। मेडिकल इमरजेंसी को छोड़कर अन्य किन्हीं भी कारणों से घरों से बाहर निकलना प्रतिबंधित कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग के मानकों के अनुरूप व्यवस्था हेतु  पुलिस पैट्रोलिंग कराई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार आवश्यक सर्विलांस, कान्टैक्ट ट्रेसिंग एवं सैंपल जांच की कार्रवाई की जा रही है। कंटेनमेंट जोन में प्रवेश एवं निकास हेतु बैरीकेडिंग, आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति एवं सैनेटाइजेशन व्यवस्था, एक्टिव सर्विलांस, स्वास्थ्य टीम को एसओपी के अनुसार दवा, मास्क इत्यादि उपलब्ध कराने एवं बायोमेडिकल अवशिष्ट प्रबंधन हेतु निर्देश जारी कर दिये गए हैं। कंटेनमेंट जोन के पर्यवेक्षण हेतु जोन कमिश्नर को प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया गया है।

दुर्ग। पोलसाय पारा में सोमवार की रात तेज रफ्तार कार ने दो लोगों को ठोकर मार दिया । घटना में 22 वर्षीय युवती गीता कंडरा व सात वर्षीय हर्षिता मानिकपुरी बुरी तरह से घायल हो गई। घटना रात नौ बजे की है। पुलिस ने बताया कि कार सीजी 07 एमबी 0664 के चालक बलवानी लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाते हुए सड़क में टहल रही युवती व बच्ची को अपनी चपेट में ले लिया। कार की चपेट में आने से दोनों बुरी तरह से घायल हो गए। आनन-फानन में दोनों को उपचार के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां दोनों की स्थिति गंभीर होने पर सेक्टर-9 भिलाई रेफर कर दिया गया। मामले में पुलिस ने कार चालक के खिलाफ अपराध पंजीबद्घ कर लिया है।

भिलाई। वार्ड क्रमांक 26 हाउसिंग बोर्ड के क्षेत्र में जगह-जगह गलियों में बैरिकेटिंग करने के साथ ही आवाजाही को बंद रखा गया है। इस क्षेत्र में प्रतिष्ठान एवं दुकानें बंद है। केवल इमरजेंसी मेडिकल सेवा प्रारंभ है। स्वास्थ विभाग की टीम मोहल्ले के घरों का सर्वे कर रही है। पुलिस प्रशासन भी कंटेनमेंट क्षेत्र में तैनात होकर गतिविधियों पर संपूर्ण नजर रख रही है। कोविड 19 नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए भिलाई निगम हरसंभव प्रयास कर रहा है। निगम कर्मी सभी वार्डों में घर-घर जाकर सघन रूप से सेनेटाइज करने के साथ ही लोगों को सोशल डिस्टेंस का पालन करने प्रेरित कर रहे हैं। भिलाई निगम क्षेत्र में कोरोना वायरस के संक्रमण के रोकथाम हेतु कन्टेनमेंट एरिया वार्ड 26 में विशेष रूप से सेनेटाइज करने का कार्य किया जा रहा है।

 सभी जोन कार्यालय द्वारा वाहन में लाउडस्पीकर के माध्यम से अति आवश्यक कार्य से बाहर निकलने वाले लोगों को फेस कवर करने मास्क या अन्य उपाय करने कहा जा रहा है। वहीं निगम क्षेत्रांतर्गत आज छावनी, बालाजीनगर, बापूनगर, शास्त्रीनगर, गौतमनगर, मदर टेरेसा नगर, मयूर गार्डन, आदर्श नगर पुराना शिव मंदिर शंकर खटाल शिवपूजन खटाल, मोची मोहल्ला, फल मंडी, लिंक रोड, सतनामपारा, सोनार लाईन, मछली व बकरी लाईन, शाीतला काम्पलेक्स, शारदा पारा, दुर्गा पारा स्कूल के पास, कबीर कुटी से पप्पू चौक तक, नीम पेड लाइन मे, संतोषी पारा रामानंद किराना स्टोर के पास, जैतखाम के पास, बापू चौक, भारत पब्लिक स्कूल के पास, मोची मोहल्ला, महात्मा गांधी नगर, श्याम नगर, संत रविदास नगर, पावर हाउस, सब्जी मंडी,अनिल सोनी के घर तक तिवारी गली, संतोषी पारा, शर्मा कॉलोनी, सतनामी मोहल्ला, बंगाली मोहल्ला, नीम पेड़ माता मंदिर लाइन, दिनेश किराना स्टोर के सामने गली सहित विभिन्न वार्ड के घर एवं दुकान सहित सार्वजनिक स्थानों में सोडियम हाईपोक्लाराइड के घोल का छिड़काव कर सेनेटाइज किया गया।

पूरब टाइम्स भिलाई।  छत्तीसगढ़ में जनसंपर्क संचालनालय के  बुधवार सुबह खुलते ही कामकाज बंद कर दिया गया। दफ्तर खुलते ही यह अफवाह फैल गई कि कोई कर्मचारी संक्रमित है। इसके बाद हड़कंप की स्थिति हो गई। हालांकि बाद में पता चला कि एक कर्मचारी का बेटा पिछले दिनों रायपुर में पॉजिटिव मिले युवक का मित्र है। जिसके बाद कर्मचारी के दफ्तर आने पर रोक लगा दी गई और बेटे का सैंपल टेस्ट कराने के निर्देश दिए गए हैं।  सीमाएं सील होने का दावा हवाई, लोगों का चोरी-छिपे आना जारी। 
छत्तीसगढ़ में जिलों व राज्य की सीमाएं सील करने के तमाम दावे हवाई साबित हो रहे हैं। बाहर से बिना ई-पास और चोरी-छिपे आने वालों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। एक ओर जहां मजदूरों नदी-नाले, जंगल पार कर राज्य की सीमाओं में प्रवेश कर रहे हैं, वहीं बिना ई-पास आने-जाने का खेल जारी है। भिलाई में मंगलवार देर शाम पॉजिटिव मिली महिला भी कई वाहनों में िलफ्ट लेकर महाराष्ट्र से लौटी थी। 

पूरब टाइम्स रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गत दिवस कृषि और सहकारिता विभाग की समीक्षा के दौरान प्रदेश के धान उपार्जन केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर खरीदे जाने वाले धान को बारिश से बचाने के लिए अभियान चलाकर पक्के चबूतरे और शेडों के निर्माण करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि मनरेगा से चबूतरों का निर्माण कराया जाए और मंडी बोर्ड से शेडों का निर्माण किया जाए। 

पूरब टाइम्स, दुर्ग। आदिमजाति कल्याण विभाग दुर्ग की बिल्डिंग में बाहर से आये बच्चों के  कोरेनटाइन व कोरोना जांच की व्यवस्था की गई थी. एक ओर जहां प्रशासन बाहर से आने वाले उन बच्चों से आम जनता को कोरोना का कोई खतरा नही बता रही है. वही वे बच्चे सोशल डिस्टेसिग का पालन नही कर रहे है. पूरब टाइम्स की टीम ने आज सुबह जब पड़ताल की तो पाया कि वहां पर बच्चे व उपस्थित गाइड लोग सामान्य दिनों की तरह बातचीत व गतिविधियों में लिप्त थे।

पूरब टाइम्स भिलाई। नगर पालिक निगम क्षेत्र अंतर्गत खुर्सीपार सेक्टर -11 बाबा बालकनाथ मंदिर के पास निवासी पूर्णिमा कौर ने एक अच्छा संदेश पूरे शहर वासियों को दिया है। इस महिला ने अपने पति के घर आने पर उन्हें घर के आंगन के बाहर रखा और घर के भीतर प्रवेश करने से मना कर दिया। महिला ने अपने पति को घर के आंगन में ही सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए भोजन के रूप में रोटी सब्जी दूर से ही परोसा, और तत्काल इसकी सूचना नगर पालिक निगम भिलाई के उच्चाधिकारियों को दी। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए महिला ने अपनी अहम जिम्मेदारी निभाई हैं। महिला के घर में तीन बच्चे भी निवासरत है। आज की इस समय में ऐसे ही सर्तक एवं जागरूक नागरिकों की आवश्यकता है। सेक्टर - 11 खुर्सीपार निवासी महिला ने बताया कि उनके पति सुखदेव सिंह राउरकेला (उड़िसा) से विभिन्न वाहनों से लिफ्ट लेकर भिलाई पहुंचे और पहुंचने के बाद महिला के मोबाइल से संपर्क किया गया। महिला ने तत्काल घर आने का आग्रह किया। और घर के बाहर ही अपने पति को रखा तथा घर के भीतर प्रवेश करने नहीं दिया। पति को भूख लगने पर महिला ने रोटी सब्जी बनाई और सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए घर के बाहर ही अपने पति को भोजन दिया तथा तत्काल अपने पति की आने की सूचना महिला ने निगम प्रशासन के जोन कं्र. 04 के जोन आयुक्त प्रीति सिंह को दिया, निगम के अधिकारियों को सूचना प्राप्त होने पर जिला स्वास्थय विभाग को बाहर से आए हुए व्यक्ति की सूचना दी गई है, स्वास्थ्य विभाग की टीम महिला के घर पहुंच चुकी है। महिला ने जानकारी देते हुए बताया कि निगम द्वारा किए जा रहे प्रचार प्रसार के माध्यम से उन्हें बाहर से आए हुए व्यक्तियों की सूचना देने की जानकारी मिली थी एवं निगम द्वारा जारी किए गए मोबाइल नं. प्राप्त हुए हैं।
नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम एवं नियंत्रण में भूमिका निभाते हुए तथा शासन का सहयोग करते हुए महिला ने बिना देरी किए भिलाई निगम को सूचना दी इसके लिए महापौर, आयुक्त सहित पूरा निगम प्रशासन महिला को धन्यवाद ज्ञापित करता है। इसके साथ ही निगम प्रशासन आमजन से अपील करता है कि ऐसे लोग जो बाहर से आ रहे है उसकी सूचना जरूर देवे इसके लिए प्रचार प्रसार के माध्यम से जगह जगह हेल्पलाइन नं. के बारे में सूचना दी जा रही है, बाहर से आए हुए लोगों की सूचना देकर इस कार्य मे अपनी सहभागिता सुनिश्चत करें।

पूरब टाइम्स दुर्ग। लाकडाउन के दौरान नागरिकों को फल-सब्जी की सुविधा प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया सीजीहाट अब काफी लोकप्रिय हो गया है। अब तक तीन हजार से अधिक उपभोक्ता इसमें रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। 332 वेंडर इसमें रजिस्टर्ड हैं और 192 डिलीवरी बाय ने भी इसमें रजिस्ट्रेशन कराया है। सीजी हाट के सुचारू संचालन के लिए हेल्पलाइन नंबर 1077 भी जारी की गई है। इस संबंध में जानकारी देते हुए जिला पंचायत सीईओ और सीजीहाट के दुर्ग जिले के नोडल अधिकारी  कुंदन कुमार ने बताया कि सभी नगरीय निकायों में यह सुविधा आरंभ हो गई है। सबसे ज्यादा उपभोक्ता भिलाई शहर में हैं। यहां लगभग 1800 ग्राहक सीजीहाट से जुड़े हुए हैं। समय पर सुविधा उपलब्ध होने की वजह से लोग इसे काफी पसंद कर रहे हैं। इसके साथ ही वेंडरों को गुणवत्ता से संबंधित निर्देश भी दिए गए हैं। ग्राहकों का भरोसा सीजीहाट में इसी वजह से बढ़ रहा है कि हम लोग दो बातों पर काम कर रहे हैं। एक तो डिलीवरी टाइम को न्यूनतम रखना, दूसरा ग्राहकों का संतोष। चूंकि फल और सब्जी का मामला है इसलिए विक्रेताओं को भी निर्देशित किया गया है कि वैसा ही चयन करें जैसा वे अपने घर के लिए करेंगे। चूंकि विक्रेताओं को भी इसके माध्यम से बड़ा बाजार मिल पा रहा है और प्रतिस्पर्धा से बचत हो रही है अतएव उन्हें यह काफी पसंद आया है और हर दिन नये विक्रेता रजिस्ट्रेशन कराने के लिए संपर्क कर रहे हैं। खुशी की बात यह है कि अब छोटे नगरीय निकायों जैसे जामुल और उतई में भी सीजीहाट के माध्यम से होम डिलीवरी आरंभ हो गई है। सीएमओ जामुल ने बताया कि अब तक हमारे यहां 50 ग्राहक पंजीकृत हो चुके हैं। इनमें से 20 ग्राहक ऐसे हैं जो हर दिन आर्डर दे रहे हैं और उन्हें आर्डर मिलते ही सब्जी की सप्लाई की जा रही है। उल्लेखनीय है कि अधिकारी भी अपनी खरीदी सीजीहाट के माध्यम से कर रहे हैं। धमधा एसडीएम सुश्री दिव्या वैष्णव ने बताया कि वे सीजीहाट के माध्यम से खरीदारी कर रही हैं। काम की व्यस्तता के चलते भी और सोशल डिस्टेंसिंग की वजह से भी सीजीहाट सबसे अच्छा माध्यम बन गया है। इसमें मिनटों में काम हो जाता है और फ्रेश सब्जी और फल घर तक पहुंच जाते हैं। इसी तरह भिलाई नगर निगम के उपायुक्त  तरुण लहरे ने बताया कि जब से लाकडाउन आरंभ हुआ, उसके बाद से ही सब्जी की होम डिलीवरी आरंभ करा ली। सीजीहाट इसका सबसे अच्छा विकल्प है। इसमें रोज ताजी सब्जी समय पर मिल जाती है। सीजीहाट आरंभ होने के पश्चात स्वसहायता समूह की महिलाएं भी काफी प्रसन्न हैं। वे कहती हैं कि हमें इससे काफी बड़ा बाजार मिल गया है। हर दिन ग्राहकों की संख्या बढ़ रही है और हमें बहुत अच्छा लगता है।

भिलाई। कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम हेतु देशव्यापी लॉकडाउन के चलते जरूरतमंद श्रमिक वर्गों के सहयोग के लिए रूआबांधा वार्ड 63 के पूर्व पार्षद राजेन्द्र रजक के मार्गदर्शन में मानिकपुरी पनिका समाज भिलाई दुर्ग की ओर से मुख्यमंत्री राहत कोष में 21000 रुपए का चेक नगर पालिक निगम रिसाली के आयुक्त प्रकाश कुमार सर्वे को निगम कार्यालय रिसाली पहुंचकर प्रदान किया गया। इस अवसर पर समाज के पदाधिकारी अध्यक्ष- नोहरदास ग्वाल, उपाध्यक्ष रंगदास मानिकपुरी, सचिव गुलाब मानिकपुरी, कोषाध्यक्ष प्रकाश दास, कार्यकर्ता अमरदास, सहसचिव मोहनदास, हीरादास मानिकपुरी आदि उपस्थित थे।

पूरब टाइम्स, दुर्ग। पूरा देश कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है . केवल कोविड 19 बीमारी की मॉनिटरिंग , मरीज़ों का इलाज़ , क्वेरेंटिन सेंटरों के व्यवस्थापन , ज़रूरत मंदों को राशन – पानी के अलावा लंबे समय से चल रहे लॉकडाउन में आंशिक छूट देकर व्यवस्थाएं बनाये रखना व छ.ग. के प्रवासियों का आना- जाना सुचारू रू से चलाना भी बेहद चुनौति भरा काम है . दुर्ग जिले में इस कार्य को चुस्त दुरुस्त रखने में प्रशासन के दो आला अधिकारी , जिलाधीश अंकित आनंद व अतिरिक्त जिलाधीश गजेन्द्र सिंह ठाकुर पिछड़े डेढ़ माह से ही दिन रात भिड़े हुए हैं . सरकारी गाइड लाइन के अनुसार आम जनता को शांति पूर्ण तरीक़े व्यवस्थित रखना व आम जनता को आने वाली किसी भी प्रकार की समस्या को तत्काल निराकृत करने के लिये एक्शन लेना इन अधिकारियों की खासियत है . जिसकी पूरे जिले में लोग प्रशंसा कर रहे हैं. पूरब टाइम्स की एक रिपोर्ट ... 
लॉक डाउन के चलते सारा देश घरों में बंद है. वहीं दूसरी ओर कई ऐसे सरकारी विभाग हैं जो लगातार हर वक्त बचाव के कार्य में लगे हुए हैं.  जिसमें से पुलिस एवं चिकित्सा विभाग की ओर से सभी का ध्यान जाता है एवं उनका बहुत सम्मान भी हर जगह किया जा रहा है. इनके साथ  एक ऐसा विभाग भी है , जहां पर आम जनता का ध्यान कभी नहीं जाता.  परंतु वह विभाग भी चौबीसों घंटे आम जनता के हित में कड़ी मेहनत के साथ कार्य कर रहा है. वह है जिले का प्रशासनिक अमला यानि कलेक्टर अंकित आनंद,  अतिरिक्त कलेक्टर गण व उनके मातहत अधिकारी एवं कर्मचारी . पिछले कई दिनों से दुर्ग जिले के अधिकारीगण कोई छुट्टी ना लेते हुए, 24 घंटे जनहित के कार्यों में लगे हुए हैं. कोरोना से बचाव एवं जिले में सरकारी नियमों का पालन करवाना व  गरीबों का खाना-पीना,  व्यवस्थापन इत्यादि सभी प्रकार के कार्य, इन प्रशासनिक अधिकारियों के नेतृत्व में ही पूरे किए जा रहे हैं. अब , जबसे शासन ने लोगों के अन्य राज्यों से आने-जाने के रास्ते खोले हैं,  तब से दुर्ग कलेक्टरेट में रोजाना हजारों की तादाद में लोग आवेदन करने पहुंच रहे हैं. इसकी जिम्मेदारी अतिरिक्त कलेक्टर गजेंद्र सिंह ठाकुर को दी गई है. इस अति आवश्यक एवं अत्यधिक पेचीदा कार्य को कलेक्टर एवं अतिरिक्त कलेक्टर के द्वारा कम से कम समय में करने की कोशिश की जा रही है. पूरी तरह से शहर की जनता को संतुष्ट कर पाना नामुमकिन जैसा है पर सुपात्र लोगों अनुमति देने का कार्य बेहद मुस्तैदी से किया जा रहा है. रोजाना सैकड़ों की तादाद में शहर की जनता इन अधिकारियों के पास पहुंच रही है. इस वक़्त सरकार के बनाए हुए नियमों को ध्यान में रखते हुए आम जनता के हित में कार्य करना निहायत ही कठिन कार्य है, इसके बाद भी इन प्रशासनिक अधिकारियों ने कड़ी मेहनत करते हुए कई मामलों को मानवीय रूप से देखते हुए भी लोगों का मार्गदर्शन दिया एवं अधिक से अधिक मदद की है. इन अधिकारियों के समर्पण की तरफ आम जनता का ध्यान कभी नहीं जाता, वर्तमान एं सम्मान व धन्यवाद केवल डॉक्टर, सफाईकर्मी एवं पुलिस की तरफ ही सीमित होकर रह गया है.  जबकि सच तो यह है कि इन जैसे प्रशासनिक अधिकारियों के होने से ही सरकार के सभी नियम कानून को सही ढंग से पालन में लाया जा रहा है . पूरब टाइम्स इन सभी प्रशासनिक अधिकारियों को तहे दिल से धन्यवाद देता है व इनके मंगल की कामना करता है। 

भिलाई। कोरोना संकट के कारण सार्वजनिक समारोह, धार्मिक आयोजनों के साथ ही वैवाहिक समारोह पर रोक लगा दिया गया था। अब लॉकडाउन 3 के तहत कुछ छूट दिया है जिसमें वैवाहिक समारोह भी शामिल है। जिला प्रशासन की ओर से दिशा निर्देश में अब जिले में शादिया संपन्न कराई जा सकेंगी, लेकिन उसके लिए प्रशासन ने कुछ नियम व शर्तें बनाई हैं। इन शर्तों के तहत विवाह समारोह को अनुमति दी जाएगी। कलेक्टर के आदेशानुसार वैवाहिक कार्यक्रम में अधिकतम 12 लोग ही शामिल हो सकते हैं। 

संभव हो तो वर या वधु के घर पर ही विवाह कार्यक्रम संपन्न कराया जा सकता है। कार्यक्रम पूरी तरह सादगी पूर्ण रहेगा किसी भी प्रकार की केटरिंग या बैंड बाजा का उपयोग नहीं किया जा सकेगा। बारात निकालने पर पाबंदी होगी। कार्यक्रम में सम्मिलित सिमित लोगों को मास्क अनिवार्य रूप से लगाना होगा। सार्वजनिक स्थल पर कार्यक्रम प्रतिबंधित रहेगा। कार्यक्रम के पूर्व स्थानीय थाना प्रभारी को सूचित किया जाना अनिवार्य है। उक्त नियमों के अतिरिक्त और भी निर्देश दिए गए हैं।

पूरब टाइम्स, दुर्ग। दो दिन पूर्व पूरब टाइम्स ने अपनी खबर से अवगत कराया था कि अविधिक तरीके से ट्रकों द्वारा बिना कोरोना चेकिंग के प्रवासी मजदूरो का आगमन जारी है.उसी दिन शाम को दुर्ग में 8 प्रवासी मजदूरों में कोरोना पॉजिटिव रिजल्ट मिला. पूरा जिला प्रशासन इस बात से सतर्क हो गया था. सूचना के अनुसार दो दिन तक अतिसक्रिय चेकिंग रही पर आज फिर से ट्रकों में अन्य प्रांतों से लेबरों की बिना चेकिंग आवाजाही शुरु हो गई है. पूरब टाइम्स, की टीम ने  ट्रकों के केबिन व ऊपर लेबरों को बाफना टोल प्लाजा से शहर में प्रवेश करते देखा।

ट्रक के एक लेबर ने बताया कि वह हैदराबाद से आ रहा है और बड़ी मुश्किल से अपने प्रदेश छत्तीसगढ़ पहुंचा। दूसरे लेबर ने बताया कि वह झारखंड जा रहा है. हैदराबाद से कुल 250 लोग निकले थे जो पैदल व ट्रकों के माध्यम से अपने राज्यों की ओर चल पड़े हैं. छत्तीसगढ़ बोर्डर में किसी प्रकार का कोरोना चेकिंग या कोरेनटिन नही किया गया है. लेबरों की घर वापसी से जहां एक तरह प्रदेश वासी खुश हैं, वहीं बिना चेकिंग के उनका आगमन प्रदेश में कोरोना संक्रमित लोगो की संख्या बहुत बढा सकता है. प्रशासन के लिए यह खतरे की घंटी है।

पूरब टाइम्स दुर्ग। भाजयुमों ने दुर्ग कलेक्टर को ज्ञापन सौंप कर शराबभट्टी खोले जाने का विरोध करते हुए शराब दुकानों के संचालन में तत्काल रोक लगाने का मांग किया है भाजयुमों जिला महामंत्री नितेश साहू के नेतृत्व में जिला उपाध्यक्ष राहुल पंडित, जिला सोशल मीडिया प्रभारी गौरव शर्मा, पटरीपार मंडल अध्यक्ष तेखन सिन्हा, राहुल पाटिल ने ज्ञापन सौंप कर शराब दुकानों के संचालन पर तत्काल रोक लगाने का मांग किया है इस विषय पर महामंत्री नितेश साहू ने बताया कि आज पूरा विश्व के साथ साथ भारत भी कोरोना संक्रमण के संकट से जूझ रहा है जिससे छत्तीसगढ़ भी अछूता नही है हमारे प्रदेश में दिन ब दिन कोरोना संक्रमित की संख्या बढ़ती जा रही है कल ही 14 कोरोना संक्रमित की पुष्टि हुई है जिसमे 09 लोग दुर्ग जिले से है इस भयानक महामारी के संकट के समय में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अति आवश्यक है ऐसे में शराब भट्टी का खुलना आमजनता की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ है आज शराब दुकानें खोली गयी है जहाँ अनियंत्रित भीड़ देखा  जा रहा है तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह उल्लंघन किया जा रहा है शराब दुकानों पर अत्यधिक भीड़ से कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ता दिख रहा है सिर्फ शराब दुकान के चलते कोरोना वायरस से रोकथाम के लिए शासन प्रशासन के द्वारा किये जा रहे सभी प्रयत्न असफल हो जाएंगे इसलिए शराब दुकानों को बंद किया जाना आवश्यक है आज भाजयुमों ने शराब दुकानों के संचालन पर तत्काल रोक लगाने की मांग को लेकर दुर्ग कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन सौंपने वालो में भाजयुमों के जिला महामंत्री नितेश साहू, जिला उपाध्यक्ष राहुल पंडित, जिला सोशल मीडिया प्रभारी गौरव शर्मा, मंडल अध्यक्ष तेखन सिन्हा, राहुल पाटिल, वीरेंद्र ठाकुर, शुभम मिश्रा उपस्थित थे।

पूरब टाइम्स दुर्ग। विगत बहुत दिनों से देश और दुनिया में कोरोना का संक्रमण सबसे बड़ा खतरा बना हुआ है, इस खतरे को देखते हुए पिछले 43 दिनों से देश, प्रदेश में लॉकडाउन है, इस परिस्थिति में समाज का एक जरुरतमंद तबका ऐसा भी रहा, जिस तक मदद पहुंचाना अनिवार्य था, संकट की इस घड़ी में इस सेवा कार्य में कई संस्थाएं और सेवादार भागीदारी निभा रहे हैं और मानव सेवा में बखूबी भूमिका निभा रहे हैं, इसमें डॉक्टर, सफाई कर्मचारी, पत्रकार, पुलिस, युवा, व्यापारी सहित समाज का हर वर्ग, सामाजिक संगठन शामिल है।  दुर्ग जिले में जन समर्पण सेवा संस्था जोकि विगत 3 वर्षों से गरीब, असहाय एवं जरूरतमंदों को प्रतिदिन भोजन खिलाती आ रही, यह संस्था वर्तमान में विश्वव्यापी महामारी के बीच भी अपनी सेवा निरन्तर जारी रखी हुई है, विकट परिस्थिति को देखते हुए जन समर्पण सेवा संस्था, दुर्ग सभी के सहयोग एवं योगदान से इस संकट की घड़ी में जरूरतमंदों को लॉकडाउन के प्रथम दिवस 22 मार्च (जनता कर्फ्यू के दिन) से दिनांक 3 मई विगत 43 दिनों से दो समय का भोजन वितरण कर रही है, जिसमें सुबह 11 बजे एवं शाम 7 बजे लगभग 700 जरूरतमंदों को भोजन वितरण किया गया, संस्था की ये खास बात है कि संस्था के सभी सदस्य सभी स्थानों में सभी जरूरतमंदों को बैठाकर पका हुआ भोजन वितरण करते है और उनके भोजन करने तक वही रुकते है, ताकि पका हुआ भोजन कोई फेके नही और न खराब हो..
       संस्था के प्रमुख बंटी शर्मा ने बताया कि जन समर्पण सेवा संस्था, दुर्ग के युवा पिछले 43 दिनों तक पूरे जिले में कर्फ्यू के दौरान भी मानव सेवा को अपना उद्देश्य बना कर पूरे दिन रात सेवा में लगे है, मानव सेवा को अपना उद्देश्य बनाये हुए ये युवा वर्तमान में प्रातः 7 बजे उठते साथ सबसे पहले जरूरतमंदों के लिए हरी एवं ताजी सब्जी खरीदने से लेकर भोजन बनाने, पैकिंग करने, भोजन को अपने वाहन से जरूरतमन्दों तक ले जाने, फिर बर्तन धोने तक का सभी काम अपने हाथों से किये, सभी युवा प्रतिदिन सेनेटाइजर से हाथ धोकर, मुहँ में मास्क, सर पर मेडिकल टोपी, हाथ मे ग्लोप्स पहनकर कार्य किये, जन समर्पण सेवा संस्था द्वारा पिछले 43 दिनों से जो भोजन वितरण किया गया, उसे श्री कृष्ण भवन, गंजपारा, दुर्ग में बनाया जाता था, जिसमें युवा अपने बीच के धनराज राउत के साथ मिलकर सब्जी काटते है और भोजन बनाते थे,  11 बजे तक भोजन तैयार करके भोजन पैकिंग करते है, और 12 बजे से 2 बजे तक 2 ग्रुप में निकलकर भोजन वितरण किये, 2 बजे वापस आने के बाद सभी मिलकर पूरे बर्तन धोते है भवन की साफ सफाई करते है और फिर अपने घर जाते है, घर से नाहा कर और भोजन खाकर 3 बजे सभी वापस भोजन स्थल (रसोई घर) आते है फिर सभी मिलकर जरूरतमंदों के लिए शाम के भोजन की तैयारी करते है, 6 बजे तक भोजन तैयार करके भोजन पैकिंग करके सभी लोग 7 बजे फिर से 2 ग्रुप में भोजन वितरण करने निकल पड़ते है जोकि रात्रि 9 बजे तक शहर के विभिन्न स्थानों में भोजन वितरण करते रहे। 

पूरब  टाइम्स दुर्ग।   शालीनी रैना ,मुख्य वन संरक्षक ,दुर्ग वृत्त ,दुर्ग एवं  के.आर. बढ़ई वनमंडलाधिकारी, दुर्ग के निर्देशन में, वनमंडलाधिकारी, दुर्ग के निर्देशन में उपवनमण्डलाधिकारी, दुर्ग वन परिक्षेत्र अधिकारी दुर्ग एवं अधीनस्थ अमले द्वारा दुर्ग वनमंडल, दुर्ग के अंतर्गत दुर्ग परिक्षेत्र के पाटन परिवृत के उतई बीट में घुपसीडीह से धौराभांठा मार्ग पर  बजाज क्रशर शमशान घाट के पास से 1300 नग अर्जुन काष्ठ जप्त किया गया है। प्रथम दृष्टया काष्ठ के अवलोकन पर ऐसा प्रतीत होता है कि वृक्षों की अवैधानिक कटाई करते हुए बिना किसी अनुज्ञा के काष्ठ को इस स्थल पर परिवहन किया गया है। काष्ठ के मालिक की पतासाजी करने पर कोई भी व्यक्ति काष्ठ के स्वामी के रूप में मौके पर उपस्थित नहीं हुआ, जिसके कारण अज्ञात काष्ठ स्वामी के विरूद्ध प्रकरण पंजीबद्ध कर जांच की कार्यवाही संस्थापित किया गया है। दुर्ग वनमंडल, दुर्ग में भारी मात्रा में कृषकों की निजी भूमि पर अर्जुन वृक्ष पाये जाते है, जिसे वे अवैध कटाई कर आसपास के आरामिलों में विक्रय करते है। आरामिलों के द्वारा उक्त काष्ठ का चिराइ्र कर पैकेजिंग के उपयोग हेतु अन्यत्र स्थलों पर उंचे दामों पर बेचा जाता है।

पूरब टाइम्स दुर्ग। भिलाई निगम क्षेत्र में बाहर से आए हुए लोगों पर निगरानी रखी जा रही है इसके लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए। कोरोनावायरस कोविड-19 महामारी के संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु ऐसे व्यक्ति जो भिलाई शहर के वार्ड, क्षेत्र, मोहल्ला या आसपास में अन्य शहर, गांव, राज्य से आए हुए हैं उनकी जानकारी हेल्पलाइन नंबर 1100 या 07882210180 पर दे सकते हैं। इसके अलावा इस कार्य के लिए नियुक्त भिलाई निगम के नोडल अधिकारी जोन क्रमांक एक नेहरू नगर के जोन आयुक्त अमिताभ शर्मा मोबाइल नंबर 7000092136, विनोद चंद्राकर सहायक राजस्व अधिकारी मोबाइल नंबर 9826685701, जोन क्रमांक 2 वैशाली नगर के जोन आयुक्त सुनील अग्रहरि मोबाइल नंबर 7050344444, संजय वर्मा प्रभारी सहायक राजस्व अधिकारी मोबाइल नंबर 9669332966, जोन क्रमांक 3 मदर टैरेसा नगर के जोन आयुक्त महेंद्र पाठक मोबाइल नंबर 9424227177, परमेश्वर चंद्राकर प्रभारी सहायक राजस्व अधिकारी मोबाइल नंबर 9826947891, जोन क्रमांक 4 खुर्सीपार की जोन आयुक्त प्रीति सिंह मोबाइल नंबर 7697590459, बालकृष्ण नायडू प्रभारी सहायक राजस्व अधिकारी मोबाइल नंबर 9425245007, सेक्टर क्षेत्र जोन क्रमांक 5 के जोन आयुक्त सुनील जैन मोबाइल नंबर 9425555648, मलखान सिंह सोरी प्रभारी सहायक राजस्व अधिकारी मोबाइल नंबर 9977421330 पर संपर्क करके जानकारी दे सकते हैं। जारी किए गए हेल्पलाइन नंबरों को पंपलेट व स्टीकर के माध्यम से प्रत्येक दुकानों में चस्पा कर प्रचारित किया जा रहा है इसके साथ ही होर्डिंग, फ्लेक्स एवं पंपलेट के माध्यम से भी प्रसारित करने का कार्य किया जा रहा है लगातार क्षेत्रों में मुनादी भी कराई जा रही है। कोरोनावायरस को हराने और इस कार्य के लिए अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए निगम भिलाई आम जनता से अपील करता है कि ऐसे लोगों की सूचना तत्काल इन नंबरों पर देकर निगम प्रशासन को सहयोग करें। समस्त जोन आयुक्त अपने-अपने जोन के क्षेत्र में ऐसे लोगों की जानकारी प्राप्त करने का कार्य कर रहे हैं। जो भी व्यक्ति भिलाई निगम क्षेत्र में बाहर से आए हैं या आ रहे हैं वह भी अपने आने की सूचना तत्काल स्थानीय प्रशासन एवं नियुक्त नोडल अधिकारियों को देंगे अन्यथा जानकारी छुपाने वाले संबंधित के विरुद्ध दंडात्मक कार्यवाही की जावेगी। जानकारी देने वाले का नाम निगम द्वारा गोपनीय रखा जाएगा! कोरोनावायरस के रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु जोन के जोन आयुक्तों द्वारा भी निगम के कर्मचारियों को अपने सूचना तंत्र मजबूत करने हेतु वार्ड क्षेत्रों में नियुक्त किया गया है तथा क्षेत्रवार ड्यूटी भी लगाई गई है। बाहरी लोगों के आने की सूचना प्राप्त होते ही इसकी रिपोर्टिंग अधिकारियों द्वारा की जा रही है, ऐसे लोगों की ट्रैवलिंग हिस्ट्री भी पता की जा रही है।

पूरब टाइम्स दुर्ग।  जिला प्रशासन द्वारा ईडब्ल्यूएस हाउसिंग बोर्ड के क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित करने के बाद इस क्षेत्र में आवाजाही की गतिविधियां बंद कर दी गई है रात्रि में यहां पर सघन रूप से फागिंग कराई गई और सुबह से ही सैनिटाइजिंग का कार्य किया जा रहा है साथ ही सभी रास्तों जहां से आवाजाही होने की संभावना है उन सभी मार्गों को बैरिकेटिंग कर दिया गया है ताकि क्षेत्र से कोई बाहर ना जाए और बाहर से कोई इस क्षेत्र में प्रवेश न कर सके। सुबह 5ः00 बजे से ही यहां पर स्पीकर के माध्यम से घरों से बाहर न निकलने की व मेडिकल इमरजेंसी सेवा को छोड़कर किसी भी प्रकार की गतिविधियां संचालित नहीं करने की सूचना दी जा रही है हाउसिंग बोर्ड के 37 दुकाने व घासीदास नगर के 9 दुकाने खोलने की तैयारी कर रहे थे जिसे बंद कराया गया। कंटेनमेंट जोन में अस्थाई रूप से कैंप ऑफिस खोला गया है जिसके माध्यम से वार्ड क्षेत्र में गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी। निगम प्रशासन की ओर से कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु टैंकर से गलियों और हैन्ड स्प्रे से घर-घर हाउसिंग बोर्ड एरिया को सघन रूप से सेनेटाइज किया जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा कन्टेनमेंट घोषित वार्ड 26 का निरीक्षण जोन के अधिकारियों द्वारा किया गया और वार्ड में अस्थायी केम्प आॅफिस स्थापित कर कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई। लोगों की भीड़ जमा न हो पाए इसलिए क्षेत्र के 46 खुल रहे दुकानों को बंद करा दिया गया शेष दुकानें पूर्णतरू बंद रही। जोन क्रं 02 के जोन आयुक्त सुनील अग्रहरी ने कन्टेनमेंट एरिया का जोन स्वास्थ्य अधिकारी व राजस्व अधिकारी एवं पुलिस बल के साथ निरीक्षण किए और आवागमन वाले सभी रास्तों को बैरीकटिंग कर बंद कराया। कोरोना वायरस के रोकथाम हेतु कन्टेनमेंट क्षेत्र में अस्थायी केम्प आॅफिस स्थापित किया गया है। वार्ड 26 हाउसिंग बोर्ड के हुडेक सेल में आॅफिस स्थापित किया गया है जहां राजस्व निरीक्षक प्रकाश अग्रवाल व पम्प सहायक चतुर चन्द्राकर की ड्युटी लगाई गई है। कन्टेनमेंट जोन क्षेत्र के घरों में स्वच्छता कर्मचारियों द्वारा सोडियम हाइपोक्लोराइड के घोल से सेनेटाइज किया जा रहा है। कंटेनमेंट जोन का पूरा नक्शा तैयार किया गया है जिसके आधार पर क्षेत्र में गतिविधियों के नजर रखी जा रही है।



लॉकडाउन नए सिरे से लागू होने के साथ ही देशभर में रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन के हिसाब से नई व्यवस्था लागू हो गई। ग्रीन और ऑरेंज जोन में शराब दुकान खोलने की अनुमति दी गई। इसके बाद सुबह से ही इन दुकानों के बाहर लंबी-लंबी लाइने देखी गई। शराब की दुकानें खुलने पर छत्तीसगढ़ में सारे नियम ताक में रख दिए गए। शारीरिक दूरी के नियमो की परवाह किए बगैर लोग शराब की दुकानों के बाहर भारी भीड़ के रूप में जमा हो गए।