Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है




सोमवार को दुर्ग नगर निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन ने पूरब टाइम्स को बताया कि विसर्जन कुंड में पटी पड़ी गदंगी एवं ठगडा बांध व शिवनाथ नदी पर बने पुराने ब्रिज व सर्विस रोड में बड़े-बड़े गड्ढों को भरकर प्रतिमाओं को विसर्जित करने की बेहतर व्यवस्था बनाने निगम अधिकारियों को कहा गया था। मिनीमाता चौक से लेकर शिवनाथ नदी गुरुद्वारा तक एवं शहर के तालाबो व आसपास के बंद स्ट्रीट लाइटों को तत्काल चालू करने के निर्देश भी दिए थे. 

साफ-सफाई के  साथ ही नगर निगम द्वारा समय-समय पर विसर्जन स्थल पर सैनेटाइजिंग निश्चित किया गया। कमिश्नर बर्मन ने कहा कि लोक निर्माण विभाग, नगर निगम एवं पुलिस विभाग के द्वारा आगामी दो दिनों तक चलने वाले नदी व तालाबों के विसर्जन स्थलों पर कोरोना महामारी को ध्यान देते हुए शारीरिक दूरी व सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए है.

दुर्ग। छत्तीसगढ़ राज्य भंडार गृह निगम का अध्यक्ष पद संभालते ही दुर्ग विधायक अरुण वोरा ने कारपोरेशन के कर्मचारियों को बड़ी सौगात दी है। लॉकडाउन के दौरान कोरोना संकट के बीच पीडीएस योजना एवं भंडार गृह के क्रियाकलापों को सुचारू रूप से संचालित करने वाले समस्त अधिकारी कर्मचारियों को एक माह के वेतन में 10 प्रतिशत अतिरिक्त बोनस देने का निर्णय लिया गया है। 



ऐसे समय में गरीबों के पीडीएस चावल एवं अन्य आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने भंडार गृह में सुरक्षित रखने आश्यकता अनुसार जगहों पर पहुंचाने निगम के कर्मचारियों ने कर्तव्य स्थल पर उपस्थित रह कर अपना दायित्व निभाया यह प्रसंशनीय है। गौरतलब है कि भंडारगृह निगम की पहली ही बैठक में अध्यक्ष वोरा ने कर्मचारियों की मांग पूर्ण करने व वेतन एवं पदोन्नति की विसंगति दूर करने का निर्देश दिया था।

बालोद। जिले के डौंडी ब्लॉक के ग्राम ओड़गांव, घोटिया में 26 साल की एक युवती शैलेन्द्री पुरामे की मौत पीलिया से हो गई। युवती को पीलिया कब से था इस बात का अंदाजा न परिजनों को था ना ही उस खुद युवती को। बीच-बीच में उसकी तबीयत खराब होती रहती थी लेकिन कभी ठीक से जांच नहीं करवाए थे। दो दिन पहले ही युवती को पहले तबीयत खराब होने पर डौंडी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया था। जहां डॉक्टरों ने बताया कि इसे पीलिया है और रिस्क भी बढ़ गया है। इसे जिला अस्पताल ले जाओ। 

पीलिया से मौत होने के बाद डॉक्टरों को इस बात का भी संदेह था कि कहीं युवती को कोरोना तो नही? मौत के बाद उसकी लाश को तब तक नहीं सौंपा गया, जब तक कि उसकी कोरोना जांच के बाद रिपोर्ट नेगेटिव नहीं आती। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद लाश सौंपा गया। जिसे मुक्तांजलि से फिर गांव छोड़ा गया। मृतक युवती 12 वीं तक पढ़ी थी और कंप्यूटर प्रशिक्षित थी। घरवालों का कहना है कि अगले साल शादी की तैयारी थी। कुछ रिश्ते आ रहे थे लेकिन रिश्ता फाइनल नहीं हुआ था। अचानक इस घटना में परिवार को झकझोर कर रख दिया।



कहीं पेट्रोलिंग पार्टी अभी गहरी नींद में तो नहीं है? अगर पेट्रोलिंग पार्टी घूमती है तो क्या रात्रि के समय लडकिया धुंआ उड़ाते दिखाई देती ? ज्ञात हो कि दुर्ग के नवीन कलेक्टर डॉ. सर्वेेश्वर भूरे के द्वारा दुर्ग जिले में भीख मांगने वाले के खिलाफ  कड़ी कार्यवाही की थी लेकिन लगता है प्रशासन से थर्डजेंडर को अब छूट मिल गई है।




दुर्ग। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जिले के उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया शुरू की गई है। उम्मीदवारों को फेक कॉल के जरिए नियुक्ति का हवाला देकर रुपयों की मांग की जा रही है। डीईओ ने आज कोतवाली थाने में ऐसे फेक कॉल्स के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कराया है। जिस पर दुर्ग कोतवाली पुलिस द्वारा धोखाधड़ी का अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

जिला शिक्षा अधिकारी प्रवास बघेल के समक्ष यह प्रकाश में आया है कि कुछ लोगों द्वारा अभ्यर्थियों को फोन कॉल करके यह कहा जा रहा है कि यदि वे रुपए देंगे तो शिक्षक पद पर उनकी भर्ती हो जाएगी। जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा मामले की सूचना सिटी कोतवाली थाना दुर्ग को दे दी गई है। उन्होंने इन जालसाजों से दूर रहने की अपील भी की है। उन्होंने बताया कि शिक्षक भर्ती प्रक्रिया पूर्ण पारदर्शिता के साथ की जाएगी, इसलिए अभ्यर्थी किसी भी प्रकार के झांसे में न आएं।

उन्होंने कहा कि समय-समय पर ऐसे गैंग सक्रिय हो जाते हैं जो लोगों को नौकरी दिलाने का झांसा देकर उनसे रुपए ऐंठने की कोशिश करते हैं। उन्होंने कहा कि यदि रुपए लेकर शिक्षक की नौकरी दिलाने के संबंध में कोई भी व्यक्ति फोन अथवा दूसरे माध्यम से उनसे संपर्क करता है तो सावधान हो जाएं और तत्काल इसकी सूचना जिला शिक्षा अधिकारी को दें।

उन्होंने बताया कि अभ्यर्थियों से प्राप्त शिकायत के आधार पर सायबर सेल में भी शिकायत दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि अभ्यर्थियों को जिन मोबाइल नम्बरों से कॉल आए हैं वे हैं- 89677-87733, 95471-65649 एवं 62897-91218, सायबर सेल द्वारा इन नंबरों को ट्रेस करने पर इनका लोकेशन नालंदा बिहार में होने की जानकारी मिली। जिला शिक्षा अधिकारी ने उपरोक्त नम्बरों से सावधान रहने और ऐसे किसी भी कॉल की सूचना तत्काल देने की अपील की है।

पूरब टाइम्स,भिलाई। पिछले दिनों दुर्ग के नए कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भूरे ने चौक चौराहे पर भीख मांगने वाले बच्चों व उनके पालको पर कड़ी कार्यवाई के निर्देश दिए थे. कुछ मामलों में नाबालिक बच्चों को पकड़ कर बाल संरक्षण गृह भी भेजा गया था जिससे दहशत में आकर कुछ दिन तक भीख मांगने वाले चौक चौराहे से गयाब हो गए थे. और वाहन चालकों ने राहत की  सास ली थी।


दुर्ग। जेवरा सिरसा में पदस्थ भौतिक शास्त्र की व्याख्याता सपना सोनी को राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए चुना गया है। सपना ने अपने शैक्षणिक हुनर और इस क्षेत्र में किये जा रहे लगातार प्रयास के माध्यम से यह सफलता हासिल की है। प्रत्येक वर्ष 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के अवसर पर भारत सरकार द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को राष्ट्रीय शिक्षक सम्मान प्रदान किया जाता है। इस साल पूरे देश से 47 शिक्षकों को चयनित किया गया है। जिसमें छत्तीसगढ़ राज्य से एकमात्र शिक्षिका सपना सोनी हैं। 

सपना सोनी शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला जेवरा-सिरसा में व्याख्याता (भौतिक शास्त्र) के रूप में पदस्थ हैं। पूरे देश से विभिन्न राज्यों, केन्द्र शासित प्रदेश एवं स्वतंत्र एजेंसियों से 153 शिक्षकों का राष्ट्रीय ज्यूरी द्वारा साक्षात्कार लिया गया। जिसके बाद  सपना सोनी को चयनित किया गया। सपना सोनी ने अपने समर्पित शिक्षण-कौशल के साथ नवीन व आधुनिक अध्यापन विधियों का उपयोग करते हुए एक नवाचारी शिक्षण विधि विकसित की जिसकी मदद से विद्यार्थियों के जीवन में सकारात्मक बदलाव आया है।

उल्लेखनीय है कि जनसहयोग से सन् 2014 में जिले के शासकीय स्कूलों में स्मार्ट क्लास की स्थापना हुई। इस अवसर का उपयोग करते हुए वर्ष 2014 से ही सपना ने आई सी टी के माध्यम से नवीन शिक्षण प्रविधियों द्वारा अध्यापन, हिन्दी माध्यम में ई- कन्टेंट विकसित कर विद्यार्थियों के अधिगम को सरल, रूचिकर व प्रभावशाली बनाया। उन्होंने एजुकेशनल विडियोज के माध्यम से बच्चों की पढ़ाई को आसान बनाने से लेकर संस्था में अंतरिक्ष विज्ञान क्लब के स्थापना व क्रियान्वयन द्वारा विद्यार्थियों में वैज्ञानिक अभिवृत्ति उत्पन्न करने में सफलता प्राप्त की। 

संस्था में विज्ञान कार्नर जैसे नवाचार से विज्ञान के विद्यार्थियों को काफी मदद मिली। परिणामत: विगत् 12 वर्षों से संस्था के विद्यार्थीगण उनके उत्कृष्ठ मार्गदर्शन में विभिन्न प्रतियोगिताओं में राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत हो रहे हैं। उल्लेखनीय है कि दुर्ग जिले से विद्यार्थी साइंस के क्षेत्र में नवाचार का प्रदर्शन कर रहे हैं, सपना जैसे शिक्षकों की मदद से विज्ञान को रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बनाकर रोचक ढंग से विज्ञान सीख और समझ रहे हैं। यहाँ के विद्यार्थी न केवल देश में बल्कि जापान जैसे देश में भी विज्ञान का मॉडल प्रदर्शित कर चुके हैं। इसके पीछे सपना जैसे शिक्षकों का उल्लेखनीय योगदान है।



मूर्तिकारों का कहना है कि इस वर्ष भगवान गणेश की मूर्ति की ब्रिकी का काम-धंधा चौपट है। हफ्ता भर पहले से ही लोगो में गणेश उत्सव की पूरी धूम रहती थी, लेकिन कोरोना के चलते खरीदार गायब हैं। केवल मिट्टी द्वारा निर्मित मूर्ति तैयार किए जाते हैं। ये पूरी तरह से पर्यावरण अनुकूल होती हैं। इन्हें घर पर भी विसर्जित कर सकते हैं। 

शहर में ही कई जगह बड़े सार्वजनिक पंडाल  सजते हैं, जहां 10 से 12 फीट ऊंची मूíतयां स्थापित होती हैं। गली-मोहल्लों में ही सौ से ज्यादा जगह पंडाल सजते हैं, जहां मध्यम आकार की मूíतयां सजती हैं। घरों में स्थापित की जाने वाली मूíतयों की संख्या तो हजारों में हैं। लेकिन, इस बार कोरोना की वजह से गणेश महोत्सवों की छटा फीकी रहेगी। पंडाल नहीं सजेंगे। शोभायात्राएं भी नहीं निकलेंगी। 

केवल घरों में ही प्रथम पूज्य गणेश की स्थापना की जाएगी। इसका असर मार्केट पर भी पड़ रहा है। कारीगरों ने मूर्तियां बनाकर तैयार कर ली हैं, लेकिन खरीदार ही नहीं पहुंच रहे। पिछले वर्ष के मुकाबले प्रतिमाओं की ब्रिकी न के बराबर है। हर वर्ष भगवान गणेश की मूर्ति की बिक्री बड़े पैमाने पर की जाती है। शहर के हर इलाके से भक्तगण मूर्ति के लिए आते हैं। लेकिन इस बार बिक्री नहीं होने से कारीगरों के परिवार भुखमरी की कगार पर हैं। कारीगरों का कहना है कि पहले एक सप्ताह पहले से ही गणेश उत्सव के लिए मूर्तियां खरीदने के ऑर्डर आना शुरू हो जाते थे लेकिन इस बार न ऑर्डर आ रहे और न ही खरीदार।

दुर्ग। थाना नंदनी अंतर्गत सट्टा खिलाने की सूचना पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लखन पटले एवं थाना प्रभारी जितेंद्र वर्मा के द्वारा नंदनी एवं अहिरवारा के 4 सटोरियों को सट्टा खिलाते हुए पकड़ा गया है. इनके क़ब्ज़े से सट्टे की कुल 23 हज़ार 4 सौ रक़म एव क़रीबन 5 लाख की सट्टा पट्टी साथ ही सट्टा खिलाने वाले मोबाइल 4 नग जिसमें से लाखों का हिसाब किताब अंकित है जप्त किया गया।

और इन आरोपियों के ख़िलाफ़ सट्टा/जुआ एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है. सट्टा खिलाने वाले आरोपियों के नाम निम्नानुसार है. 1.लंकेश उर्फ लंकेश्वर मार्कंडेय पिता दशरथ  मार्कंडेय उम्र-46 निवासी अहिरवार,2.भूषण ठाकुर पिता स्व शेषनारायण उम्र-32, 3.मुकेश कुमार सोनी पिता सुरेंद्र कुमार सोनी उम्र 22, 4.राकेश जोशी पिता रैनू जोशी उम्र 42

दुर्ग। एक बैंक के अंदर काम करने वाले चपरासी की लाश मिली है। जब मैनेजर ने दरवाजा खोला तो उसी के कैबिन के पास चपरासी की लाश फंदे से लटकी मिली। घटना रसमड़ा के कैनरा बैंक ब्रांच में हुई। सोमवार की सुबह जब बैंक में अपने-अपने काम से लोग पहुंचने लगे तो शटर बंद था। लोग बाहर ही खड़े होकर इंतजार कर रहे थे। कुछ देर बाद बैंक के मैनेजर और अन्य कर्मचारी आए।

दुर्ग। नियमों का उल्लघंन करते हुए दुकान खोल कर इंदिरा मार्किट स्थित जलाराम चाट भंडार निर्धारित समयावधि के उपरांत भी 10:10 बजे तक व्यवसाय कर रहे थे दुकान के खिलाफ नगर निगम ने कार्रवाई करते हुए उनकी दुकानें सील कर दी है। दुकानदार निर्धारित समय के बाद भी अपनी दुकान को खोल कर बैठे थे। निगम की बाजार टीम को सूचना मिली की इंदिरा मार्किट स्थित जलाराम चाट भंडार दुकान खुला है। 

टीम ने मौके पर जाकर देखा तो दूकान खुली थी जलाराम चाट भंडार दुकान के खिलाफ सीलबंदी की कार्यवाही की गई है। दुकान संचालक द्वारा केवल चाट,गुपचुप, दुकान खोलकर सामानों की विक्री की जा रही थी  काम धड़ल्ले से हो रहा था। निर्धारित समय के बाद भी दुकान के खुले होने पर निगम ने दुकान को भी नियमों का उल्लंघन मानते हुए दुकान को सील कर दी है।