Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



 दुर्ग। भारत सरकार के अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के विद्यार्थियों हेतु प्री मैट्रिक, पोस्ट मैट्रिक, मेरिट कम मीन्स अल्प संख्यक छात्रवृत्ति वर्ष 2020-2021 हेतु www.scholarahip.gov.in नेशनल स्काॅलरशिप (एनएसपी) पोर्टल की शुरुआत की गई है। अल्पसंख्यक समुदाय के विद्यार्थी छात्रवृत्ति के लिए ऑनलाइन  31 अक्टूबर 2020 तक आवेदन  कर सकते हैं।

संस्था द्वारा सत्यापन कर आवेदन कार्यालय में जमा करने की अंतिम तिथि 15 नवंबर  2020 रखी गई है। समस्त शासकीय व अशासकीय प्राथमिक, माध्यमिक शालाओं, हाई स्कूल और हायर सेकंडरी स्कूलों, आई.टी.आई, पॉलिटेक्निक महाविद्यालयों के संस्था प्रमुखों को निर्धारित तिथियों में अल्पसंख्यक समुदाय के विद्यार्थियों द्वारा छात्रवृत्ति के लिए भरे गए ऑनलाइन आवेदन (नवीन एवं नवीनीकरण ) संस्था की आई.डी. से सत्यापित किया जा सकता है।


विदित हो कि नोवल कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु जिला प्रशासन द्वारा दिनांक 24 सितंबर से 30 सितंबर तक संपूर्ण लाॅकडाउन लगाया गया है। उक्त आदेश के अनुक्रम में निगम आयुक्त द्वारा निर्देशित किया गया है। कि नगर पालिक निगम दुर्ग के अतिआवश्यक सेवा जैसे सफाई, बिजली और जलप्रदाय एवं कोविड-19 हेतु सर्वे, स्टीकर कार्य में तैनात अधिकारी, कर्मचारियों को छोड़ कर शेष कार्यालय 30 सितंबर तक बंद रहेगें।  

दुर्ग  जिले में धारा 144 लागू होने के कारण नगर पालिक निगम दुर्ग कार्यालय आम नागरिकों के आने-जाने हेतु पूर्ण रुप से प्रतिबंधित कर दिया गया है। लाॅकडाउन अवधि में कोविड-19 का ऑनलाइन डाटा एन्ट्री का कार्य पूर्व की भांति चालू रहेगा। समस्त कम्प्यूटर ऑपरेटर को निर्देशित किया गया है। कि वे आयुक्त के निज सहायक भूपेन्द्र गोईर के निर्देशन में डाटा एन्ट्री का कार्य संपादित करेगें।  

भिलाई। नगर पालिक निगम की टीम ने चौथे दिन बुधवार को लाकडाउन के नियमों का उल्लंघन वाले 37 लोगों के खिलाफ 19800 रुपए की चालानी कार्रवाई की। आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के निर्देश पर लॉक डाउन का सख्ती से पालन कराया जा रहा है, अब टोटल लॉकडाउन पर भी निगम की पैनी नजर होगी, मॉर्निंग एवं इवनिंग वॉक पर निकलने वालों पर भी कार्यवाही की जाएगी। 

आज निरीक्षण के दौरान सुपेला बाजार क्षेत्र में तीन दुकानों को खुला पाए जाने पर सील बंद कर दिया गया। राकेश किराना, संजय मसाला और एक अन्य किराना लाकडाउन में दुकान खोलकर व्यावसाय कर रहे थे। जिसे जोन-1 आयुक्त सुनील अग्रहरि के निर्देश व भिलाई नगर तहसीलदार की उपस्थिति में सीलबंद करने की कार्रवाई की गई। जोन-1 के एआरओ शरद दुबे ने बताया कि सुपेला बाजार के राकेश किराना, संजय मसाला सहित एक अन्य किराना दुकान को सील बंद किया गया। 

तीनों दुकानदार को पहले भी लाकडाउन में दुकान न खोलने की चेतावनी दी गई थी। इसके बावजूद उन्होंने दुकान खोलकर व्यापार जारी रखा। आज जोन आयुक्त के निर्देशानुसार पंचनामा तैयार कर तीनों दुकान को सील किया गया। पुलिस के जवानों के साथ संजय नगर सुपेला बाजार को बंद कराया गया। वहीं बिना मास्क के घूम रहे पांच लोगों से 1000 रुपए जुर्माना वसूला गया। इसके अलावा नेहरू नगर में निर्धारित समय के बाद भी अंडा दुकान खुला पाए जाने पर चालानी कार्रवाई की गई। 

पूरब टाइम्स, भिलाई। कोरोना वायरस का कहर बढ़तें जा रहा हैं। एहतियात के तौर पर नगरीय निकाय क्षेत्र में लाॅकडाउन लगाया गया है। इसके बाद भी लापरवाही से लोग बाज नहीं आ रहें है। ऐसे ही लोगों से अपर कलेक्टर व रिसाली निगम आयुक्त प्रकाश कुमार सर्वे द्वारा गठित टीम ने 3 हजार 4 सौ जुर्माना वसूला। लाॅकडाउन नियमों को पालन कराने रिसाली निगम क्षेत्र में प्रचार रथ के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके बाद भी स्टेशन मरोदा क्षेत्र में सोमवार को कुछ युवक झुंड बनाकर आपस में बातचीत कर रहे थे।

कोरोना के लिहाज से रिसाली निगम क्षेत्र हाॅटस्पाट बन चुका है। एक माह के भीतर लगभग 16 मौतें हो चुकी है। वहीं अबतक कुल 531 कोरोना की चपेट में है। इसमें से 288 होम आइसोलेशन पर है। स्वास्थ्य विभाग के निरीक्षक बृजेन्द्र परिहार ने बताया कि पूरे रिहायशी क्षेत्र 4 राउंड पूर्ण कर पांचवे चरण में सोडियम हाइपोक्लोराइड से सेनेटाइजिंग किया जा रहा है।

निगम के नोडल अधिकारी रमाकांत साहू ने बताया कि लाॅकडाउन नियमों का पालन कराने अलग-अलग क्षेत्र के लिए टीम का गठन किया गया है। प्रत्येक टीम में 3-4  सदस्य है। डुंडेरा, पुरैना, जोरातराई प्रभारी उपअभिंयता अखिलेश गुप्ता, रिसाली एवं रूआबांधा क्षेत्र के लिए प्रभारी उपअभियंता गोपाल सिन्हा, मरोदा टेंक व स्टेशन मरोदा व नेवई क्षेत्र के लिए अनिल मेश्राम की ड्यूटी लगाई गई है।

दुर्ग। एक युवक ने अपनी ही पत्नी के सिर पर हथौड़ी मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद से आरोपी फरार है। वारदात रविवार देर रात की है। महिला ने सोमवार को उपचार के दौरान अस्पताल में दम तोड़ा है। बताया जा रहा है कि पति-पत्नी के बीच झगड़ा हुआ था। जानकारी के मुताबिक, मोहन नगर के आमापारा निवासी आदेश बंसोड़ और सुजाता बंसोड़ का रविवार रात किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। 

परिजनों ने पुलिस को बताया कि दोनों के बीच बात इतनी ज्यादा बढ़ गई कि आदेश ने हथौड़े से सुजाता के सिर पर वार कर दिया। चीख सुनकर वे लोग कमरे की ओर दौड़े तो सुजाता खून में लथपथ पड़ी थी। सुजाता को परिजन पहले जिला अस्पताल ले गए, जहां हालत गंभीर देख डॉक्टर ने रायपुर स्थित अंबेडकर अस्पताल रेफर कर दिया। उपचार के दौरान सोमवार को सुजाता ने दम तोड़ दिया है। घटना के बाद से ही आरोपी आदेश फरार है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। 


अमूमन यही हालात और नेहरू नगर के कुछ पार्को में दिखाई दिया जहां लड़के लड़कियों के ग्रुप मस्ती कर रहे थे। सड़को पर आवाजाही भी आम दिनों की तरह ही थी पर दुकाने बंद नजर आई.पूरब टाइम्स प्रशासन के सहयोग में अपील करना चाहता है की कृप्या लॉकडाउन के नियमो का पालन करे सार्वजनिक जगह पर बिल्कुल इकट्ठा ना हो व कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने में सयोग करे। @GI@




पूरब टाइम्स, दुर्ग। शहर के 58 पार्षदों और एक एल्डरमैन ने शहर में कम से कम एक सप्ताह का लॉकडाउन घोषित करने की मांग की है। दोनों दलों के अधिकांश पार्षदों ने लॉकडाउन घोषित करने महापौर धीरज बाकलीवाल को पत्र सौंपा है। महापौर ने सभी पार्षदों के सहमति पत्र के साथ आज कलेक्टर सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे को ज्ञापन सौंपा। 

महापौर ने कहा है कि सभी पार्षदों, व्यापारिक संगठनों की मांग पर कोरोना महामारी की चेन तोड़ने के लिए कम से कम एक सप्ताह का लॉकडाउन घोषित किया जाना चाहिए। महापौर ने कलेक्टर से कहा कि कोरोना संक्रमण तेजी से फैलने के कारण व्यापारी वर्ग ने भी लॉकडाउन घोषित करने की मांग की है। अब पार्षदों ने भी लॉकडाउन घोषित करने की मांग कर दी है। 

कई पार्षदों ने पूर्ण लॉकडाउन करने कहा है तो कई पार्षदों ने कुछ घंटे के लिए दुकानें खोलने की ढील देने की व्यवस्था के साथ लॉकडाउन की मांग की है। शहर के जनप्रतिनिधियों की मांग को देखते हुए लॉकडाउन घोषित करना उचित होगा। चर्चा के दौरान एमआईसी मेंबर भोला महोबिया, दीपक साहू, ऋषभ जैन, शंकर ठाकुर, सतीश देवांगन, विजेंद्र भारद्वाज, मनदीप भाटिया आदि उपस्थित थे। 

पूरब टाइम्स, भिलाई। नगर निगम भिलाई के दो स्थानों पर नए एसएलआरएम (जीरो वेस्ट) सेंटर बनने जा रहा है। जहां घरों से प्रतिदिन एकत्र होने वाले कचरे से सोनहा खाद बनाया जाएगा। खाद बनाने का काम यहां सालभर चलेगा। इससे निगम को दो फायदे होंगे। पहला यह कि इससे घरों से कचरा एकत्र करने में देरी नहीं होगी और परिवहन आसान होगा। एसएलआरएम सेंटर वार्ड से नजदीक होने पर घरों से सुबह कचरा जल्दी एकत्र हो जाएगा। स्वच्छता मित्रों को लंबी दूरी तक रिक्शा में कचरा ढोने से होने वाली परेशानियों से राहत मिलेगी। 

निगम प्रशासन ने 21.50-21.50 लाख रुपए की लागत से दो स्थानों पर एसएलआरएम सेंटर बनाने का निर्णय लिया है। प्रस्ताव के मुताबिक जोन-1 अंतर्गत वार्ड-1 खम्हरिया और वार्ड-3 नेहरू नगर पश्चिम में सातवीं बटालियन के सामने शेड का निर्माण भी शुरू हो गया है। निगम ने 77 एमएलडी फिल्टर प्लांट के आगे व सातवीं बटालियन के सामने प्रस्तावित एसएलआरएम सेंटर का शेड निर्माण के लिए आरआर साहू एजेंसी को अधिकृत किया है। एजेंसी ने अब तक एसएलआरएम सेंटर का 60 फीसदी निर्माण पूरा हो चूका है। 

पूरब टाइम्स,दुर्ग। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के 70 वें जन्मदिवस को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रदेश एवं जिला नेतृत्व के आह्वान पर सेवा सप्ताह के रूप में मनाया जा रहा है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्म दिवस के अवसर पर दुर्ग जिला भाजयुमो एवं चंडी शीतला मंडल के द्वारा देश के महान विभूतियों की प्रतिमाओं की साफ-सफाई तालाबों की साफ-सफाई एवं वृक्षारोपण कर कर सेवा सप्ताह के रूप में जन्म दिवस को मनाया गया। 


दुर्ग जिला भाजयुमो द्वारा आज सुबह देश की महान विभूतियां पटेल चौक में स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल की मूर्ति गांधी पुतला के पास महात्मा गांधी की प्रतिमा एवं केला बाड़ी चौक में वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई की मूर्ति की साफ-सफाई कर भाजयुमो जिला अध्यक्ष दिनेश देवांगन के नेतृत्व में प्रधानमंत्री मोदी का जन्म दिवस मनाकर महापुरुषों को नमन किया। इस अवसर पर नितेश साहू, राहुल पंडित,नितेश बाफना, राजा महोबिया,गौरव शर्मा, अनुपम मिश्रा,गुलाब वर्मा, नवीन राव आदि उपस्थित थे। 


पूरब टाइम्स, भिलाई। आज भिलाई शहर के कोसा नगर सब्जी मार्किट में अधिकतर दुकानदार बिना मास्क लगाए सब्जी बेच रहे हैं. जबकि मास्क न लगाने पर 500 रुपये जुर्माना तय है। कुसुम कानन पार्क के पास विगत कुछ समय पहले कंटेनमेंट क्षेत्र रहा चुका है। दुर्ग-भिलाई में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मरीज अगर देखा जाए तो आज जिले में 309 कोरोना संक्रमित मरीज मिले है. आठ लोगो की मौत हो चुकी है. दुकानदारों के अलावा ग्राहकों की भारी भीड़ रहती है.

हालांकि प्रशासन की ओर से सब्जी व्यापारियों के लिए दूरी निर्धारित किया गया है. सब्जी बाजार में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस व मार्केट कमेटी विभाग के अधिकारी एनाउंसमेंट करते रहते हैं, लेकिन उन्हें कोई सुनने को तैयार नहीं है। अधिकारियों ने सब्जी बेचने वालों को दूर- दूर में बैठाया गया है, ताकि लोगों की एक-दूसरे से शारीरिक दूरियां बनी रहे, लेकिन कोई नियमों का पालन नहीं करता। बेपरवाह, लोग बिना मास्क लगाए ही सब्जी लेने के लिए एक दूसरे से सटकर सामान खरीद रहे हैं.


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एैसे दैनिक कार्य कर जीवन यापन करने वालों की चिंता कर की। उनके लिए पौनी पसारी योजना की शुरुआत की है। एैसे लोग राज्य शासन की इस पौनी पसारी योजना का लाभ ले सकेगें। पौनी पसारी योजना के तहत् निर्मित शेड स्थल में ही प्रतिदिन अपने कार्य के लिए वहाॅ स्थल पर पसरा लगाकर बैठ सकेगें और शाम को चले जाएगे। इस प्रकार से अस्थायी स्थल उन्हें प्राप्त होगी। 

दुर्ग। शहर में लगभग 1800 से भी अधिक खंभों की लाइट खराब, विधायक महापौर कर्मचारियों की तनख्वाह दिलाने में असफल। नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा भाजपा पार्षद दल दुर्ग ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए बताया कि विगत 12 दिनों से ठेके के विद्युत कर्मचारी वेतन भुगतान नहीं होने के कारण हड़ताल पर हैं, जिसके कारण पूरे शहर में लगभग 1800 खंभों की सड़क बत्ती खराब है, जिससे शहर की गलियां अंधेरे में डूब गई है, और इस बात से महापौर को कोई फर्क नहीं पड़ रहा है।

गलियों में अंधेरा होने से सर्वाधिक परेशान बुजुर्ग नागरिक गण है, जो मॉर्निंग वॉक के लिए जाते हैं ,मार्निंग वाक में जाने वाले अधिकांश बुजुर्गों की शारीरिक  स्थिति मजबूत नहीं रहती जिससे उनके दुर्घटनाग्रस्त या घायल होने की संभावना बनी रहती है। शहर के आऊटर क्षेत्रों में सड़क बत्ती सुरक्षाकर्मी का कार्य भी करती है, क्षेत्र में उजाला होने से असामाजिक तत्व जमा  नहीं हो पाते, लगातार मेंटेनेंस नहीं होने के कारण आउटर क्षेत्रों में घुप्प अंधेरा है ,जिससे छिटपुट चोरियों की घटनाएं बढ़ गई है, चूंकि  महापौर अनुभवहीन है ,और शहर में घूमते भी नहीं इससे उन्हें लोगों के दुख-दर्द का अंदाजा नहीं है।

शहर की प्रकाश व्यवस्था को लेकर नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा सहित गायत्री साहू, कांशी राम कोसरे , चंद्रशेखर चंद्राकर ,नरेंद्र बंजारे, देवनारायण चंद्राकर ,मेली साहू , लीना दिनेश देवांगन, मनीष साहू, नरेश तेजवानी ,अजय वैद्य, ओमप्रकाश राकेश सेन , पुष्पा गुलाब वर्मा, शशि द्वारिका साहू, कुमारी साहू एवं हेमा जगदीश शर्मा ने आयुक्त से मुलाकात कर चर्चा की थी ,तब आयुक्त ने तुरंत संचालक नगरीय निकाय को मेंटेनेंस का काम देख रही कंपनी ई. ई .एस. एल. पर कार्यवाही के लिए पत्र लिखा था। 

गौरतलब है कि अभी लगातार हड़ताल को 12 दिन हो गया और उसके पूर्व भी 4 दिनों तक कर्मचारी हड़ताल पर थे, नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा ने कहा कि 20 वर्षों में इस शहर की इतनी लाइटें कभी बंद नहीं रही पर सत्ता के रथ पर सवार विधायक को आम नागरिकों की तकलीफ दिखाई नहीं पड़ रही है, वह वही काम करते हैं जिसमें वाहवाही मिले। विधायक अरुण वोरा के द्वारा प्रदेश स्तर पर बात करके समस्या नहीं सुलझाने से विपक्ष के साथ-साथ सत्ताधारी दल के पार्षद भी बहुत परेशान हैं, क्योंकि लाइट सुधरवाने के लिए वार्ड वासी पार्षदों को खरी-खोटी सुना रहे हैं।@GI@

 दुर्ग। समाजवादी विचारधारा का जन्म ही समाज के निराश्रित एवं अंतिम पंक्ति के व्यक्ति को भी वह सुख सुविधाएँ पहुंचाने के लिए हुआ है, जिनसे अभी तक वह अछूता रहा है। एक सच्चे सामाजिक कार्यकर्ता का एकमात्र धर्म मानवता व सेवा होता है। इन्ही बातों को आत्मसात करते हुए विगत 3 वर्षों से एवं वर्तमान में विश्वव्यापी कोरोना महामारी के चलते भी जन समर्पण सेवा संस्था दुर्ग-भिलाई में जरूरतमन्दों को दोनों समय दोपहर एवं रात्रि में भोजन वितरण कर रहा है। 

कोई भूखा न सोये इस प्रयास को लेकर यह संस्था विगत 3 वर्षों से दुर्ग रेल्वे स्टेशन एवं अन्य स्थानों में अस्थाई रुप से निवासरत मजदूर, असहाय, महिलाएं, बच्चों, विकलांग जनों को प्रतिदिन निःशुल्क भोजन वितरण कर रही है साथ ही साथ विकलांग जनों को ट्राइसिकल, बैसाखी, व्हीलचेयर, जरूरतमन्दों को कम्बल, बर्तन एवं अन्य सामाग्री वितरण करते आ रही है। वर्तमान में विश्वव्यापी कोरोना वायरस महामारी के रूप में मानवजाति के सामने एक ऐसी चुनौती आई है जिसकी वजह से पूरी दुनिया स्थिर हो गई है। 

सभी लोग जीवन के सारे कार्य छोड़कर घर बैठ गये हैं. मेहनत मजदूरी छोड़कर अपने अपने घरों के लिए पैदल, शासकीय वाहन, एवं अन्य वाहनों से अपने घर पहुँच रहे है, ताकि कोरोना को हराया जा सके। कोरोना के कहर से जिले वासी भी प्रभावित हैं। इस विपरीत परिस्थिति में दुर्ग जिले में जन समर्पण सेवा संस्था  विगत 3 वर्षों से गरीब, असहाय एवं जरूरतमंदों को प्रतिदिन भोजन खिलाती आ रही है। 

पूरब टाइम्स, दुर्ग। दुर्ग जिले में दिन ब दिन जहा कोरोना संक्रमित की संख्या बढ़ती जा रही है। दुर्ग जिले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्टॉप नर्स, एनएम लैब टेक्नीशियन के पदों पर संविदा भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए है। जिनके लिए गौरव  पथ पटेल काप्लेक्स स्थित शासकीय नर्सिंग कॉलेज में अभ्यार्थीयों से आवेदन लेके की व्यवस्था की गई थी। यह प्रक्रिया शनिवार से शुरू की गई है।



पूरब टाइम्स, दुर्ग। सोमवार से जिला अस्पताल में फीवर सेंटर में 3 काउंटर आरम्भ हो जाएंगे। इस संबंध में तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। आज कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने पुनः जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। यहां वे कैसुअल्टी वार्ड भी पहुंचे। यहां 15 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। इसमें 15 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था भी करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए। उन्होंने अस्पताल आने वाले पेशेंट को आते ही स्टेबल करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने अस्पताल में दवा की उपलब्धता के संबंध में भी जानकारी ली। साथ ही उन्होंने कोरोना वारियर के लिए आवश्यक पीपीई जैसे सुरक्षा उपकरणों की जानकारी भी ली। उन्होंने कहा कि जो गंभीर मरीज आते हैं और सांस लेने में दिक्कत जैसे लक्षणों से गुजर रहे हों, उन्हें आपात कालीन कोरोना प्रोटोकॉल के मुताबिक स्टेबल करे। इसके लिए पूर्व में प्रशिक्षण भी दिए गए हैं। कलेक्टर ने कहा कि फीवर क्लिनिक में व्यवस्था बेहद अहम है। सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे। नए काउंटर आरम्भ होने के पश्चात समय काफी घट जाएगा, इससे सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने में आसानी होगी।

कलेक्टर ने फीवर क्लिनिक में कार्य कर रहे हेल्थ स्टाफ से भी चर्चा की। उन्होंने सिविल सर्जन से लगातार इस दिशा में मॉनिटरिंग करने कहा ताकि जल्द से जल्द सैंपल लेने की प्रक्रिया पूरी की जा सके और लोगों को टेस्ट के लिए न्यूनतम समय लगे। कलेक्टर ने रात की पाली में जिला चिकित्सालय की व्यवस्था की जानकारी भी ली। सिविल सर्जन ने रात के समय डयूटी के लिए लगाए गए स्टाफ की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सभी को दायित्वों की जानकारी दे दी गई है और वे इसका निर्वहन कर रहे हैं। आपात केस के लिए आवश्यक प्रोटोकॉल के मुताबिक कार्रवाई की जाती है। उन्होंने बताया कि रात के समय सैंपलिंग के लिए भी दल बनाया गया है।

पूरब टाइम्स, दुर्ग। दुर्ग संभागायुक्त टी.सी. महावर आईजी विवेक सिन्हा, कलेक्टर सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे, एस.पी. प्रशांत ठाकुर द्वारा आज संयुक्त रुप से कोविड हॉस्पिटल शंकराचार्य का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। उन्होनें हास्पीटल में भर्ती मरीजों से फोन पर बात की एवं वहां ईलाज और खाने-पीने की सुविधा की जानकारी भर्ती मरीजों से ली।

कोविड हॉस्पिटल शंकराचार्य मे नाश्ता, भोजन और ईलाज की सुविधा और व्यवस्था पर अधिकारियों ने संतोष व्यक्त करते हुये कोविड हॉस्पिटल इंचार्ज इंद्रजीत बर्मन और स्वास्थ्य अधिकारी दुर्गेश गुप्ता को निर्देशित कर कहा और अच्छी सुविधा और व्यवस्था बनाकर रखें। उल्लेखनीय है कि दुर्ग और भिलाई क्षेत्र में कोरोना पाॅजिटिव मिल रहे मरीजों के लिए कोविड हॉस्पिटल शंकराचार्य में भर्ती कर उनका ईलाज किया जा रहा है। 

हॉस्पिटल की सुविधा और व्यवस्था का आज दुर्ग संभागायुक्त टी.सी. महावर ने अधिकारियों के साथ हास्पीटल पहुंचकर आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होनें कोरोना पाॅजिटिव मरीज त्रिलोचन दास 9770265611, सत्येन्द्र बहादुर तिवारी मो. 9329009932, प्रशांत मनहरे मो.9827179033, तथा हरेराम यादव, अनिल रत्नाकर से फोन में बात किये। भर्ती मरीजों ने संभागायुक्त को बताये कि हमें सुबह 8 बजे नाश्ता, 12 बजे खाना, शाम 5 बजे नाश्ता, और रात्रि 8 बजे खाना समय से दिया जा रहा है। खाद्य पदार्थ की क्वालिटी भी अच्छी और स्वादिष्ट हैं।

इसके अलावा हास्पीटल में कार्यरत डाक्टरर्स नियमित रुप से तीन से चार बार निरीक्षण कर हमारी हाल-चाल और तबीयत की जानकारी लेते रहते हैं।संभागायुक्त ने हास्पीटल में सुविधा और व्यवस्था पर संतोष व्यक्त किये, उन्होनें इंचार्ज अधिकारी इंद्रजीत बर्मन और स्वास्थ्य अधिकारी दुर्गेश गुप्ता का उत्साहवर्धन करते हुये हॉस्पिटल में निरंतर और अच्छी सुविधा व्यवस्था बनाये रखने के निर्देश दिये।  

पूरब टाइम्स, दुर्ग। कोरोना संक्रमण की वजह से वीडियो कॉन्फ्र्रेंसिंग के माध्यम से हुई सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में समिति के सदस्य दुर्ग विधायक अरुण वोरा शामिल हुए। उन्होंने राज्य में ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार एवं दुर्घटनाओं में कमी लाने हेतु अपने सुझाव रखे। 2.6 करोड़ की लागत से शहर के तीन प्रमुख ब्रिजों में दुर्घटना रोकने लगाई जा रही प्रोटेक्टिव स्क्रीन के अत्यंत धीमी गति से चल रहे कार्य पर वोरा ने कड़ी नाराजगी जताई व समय सीमा पर कार्य पूर्ण करने को कहा साथ ही मुख्य मार्गों में बिना मार्किंग के ब्रेकर से होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने समय समय पर लगातार रोड मार्किंग करवाने, ब्लैक स्पॉट का चिन्हांकन करने के बाद तुरंत कार्यवाही कर कैट आई, मार्किंग, बेरिकेटिंग एवं रेडियम पेंट करवाने। 

रोड मार्किंग, पेड़ों में पुताई व आकस्मिक रोड सेफ्टी कार्यों के लिए प्रति वर्ष जिलेवार राशि का प्रावधान रखने। स्कूल कॉलेज के बसों की नियमित फिटनेस जांच एवं शहरी क्षेत्र के प्रमुख चौक चौराहों में सीसी टीवी कैमरा लगाने का सुझाव देने के साथ ही दुर्ग के लिए अलग से 3.5 करोड़ का फण्ड जारी करने की भी मांग की। जिनमें सभी चौराहों पर हाईमास्ट लाइट हेतु राशि 80 लाख रु. रोड मार्किंग एवं पेड़ों की पुताई हेतु राशि 50 लाख रु। ट्रैफिक सिग्नल अपग्रेडेशन एवं इंस्टालेशन हेतु राशि 50 लाख। प्रमुख चौराहों में सीसी कैमरा लगाने व कंट्रोल रूम स्थापित करने हेतु राशि 1 करोड़ रु एवं मार्ग विभाजक मरम्मत एवं संधारण हेतु राशि 50 लाख शामिल हैं।