Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है




कार्यक्रम के मुताबिक, सेल चेयरमैन सोमा मंडल 11 जून को भिलाई आएंगी। सुबह 8.20 बजे रायपुर एयरपोर्ट पहुंचेंगी। वहां से सुबह 9.35 बजे भिलाई निवास पहुंचेंगी। 10.20 बजे जंबो कोविड केयर सेंटर में पौधारोपण करेंगी। सुबह 10.40 बजे से प्लांट विजिट शुरू होगा। ओएचपी से इसकी शुरुआत होगी। प्लांट में दोपहर पौने दो बजे तक दौरा चलेगा। इसी प्रकार दोपहर में इस्पात भवन में डायरेक्टर इंचार्ज के साथ चर्चा होगी।

पूरब टाइम्स,दुर्ग। मौसम विभाग ने छ.ग. में एलर्ट जारी किया है वही देर रात्रि से ही जोरदार बारिश के चलते कई इलाको में जलभराव की स्थिति निर्मित हो गई है. प्रदेश मेंं एक-दो दिनों में और अधिक मानसून के सक्रिय होने की संभावना बनी हुई है. शहर के हृदय स्थल में बनने वाली मुख्य सड़क के मालवीय नगर चौक में शंकरनाला का कार्य में विलंब होने के कारण पहले ही आशंका जाहिर की गई थी.जलभराव की स्थिति आसपास के वार्डो में दिखाई दे रही है.

आज सुबह से ही विधायक अरुण वोरा व महापौर धीरज बाकलीवाल, लोक निर्माण विभाग एवं नगर निगम के अमले के साथ शंकरनाला डायवर्सन व निर्माण एवं कसारीडीह नाला डायवर्सन इंटकवेल के पास हो रहे निर्माण कार्यो में धीमी गति पर नाराजगी जताई। निरीक्षण के दौरान अमृत मिशन के कार्यो से कर्मचारी नगर, सिकोलाबस्ती, बांधातालाब एवं निजली बस्तियों के वासियों ने बताया कि गंदा पानी उनके घरों में पहुंच रहा है.@GI@

उनकी समस्याओं को देखते हुए विधायक वोरा ने अधिकारियों को कहा कि कोरोना के साथ ही अन्य संक्रामक बीमारियों के फैलने की आशंका जल भराव वाले क्षेत्रों में ना हो, बाढ़ आपदा केन्द्र 24 घंटा लोगों को सेवा प्रदान करें। शिकायत मिलने पर त्वरित कार्यवाही करे साथ ही 1 वर्षो से नदी के इंटकवेल के पास कसारीडीह नाला मिलने से फिल्टर प्लाट में गंदा पानी पहुंचने की संभावना हमेशा रहती थी.

जिसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा शुद्ध पेयजल हेतु नाला डायवर्सन के लिए 4 करोड़ की राशि स्वीकृत की गई है। जिसका 1 वर्ष पूर्व निविदा होने के बाद भी कार्य अपूर्ण होने से निविदा एजेंसी को फटकार लगाते हुए जल्द पूर्ण करने आदेशित किया साथ ही लोक निर्माण विभाग के अधिकारी निर्माणाधीन मुख्य सड़क के आसपास की मॉनिटरिंग आवश्य करें. 

महापौर बाकलीवाल ने कहा कि निगम द्वारा आपदा केन्द्र स्थापित किया गया है. निगम मशीनरी द्वारा वार्डो के सभी निजली बस्तियों से गुजरने वाली नाली-नालो की सफाई टीम द्वारा युद्ध स्तर पर की जा रही है. जलभराव क्षेत्रों के निरीक्षण के दौरान पार्षद खिलावन मटियारा, शंकर सिंग ठाकुर, एल्डरमेन राजेश शर्मा, लोक निर्माण विभाग के गंगन जैन सहित निगम के अधिकारी मौजूद थे.@GI@

पूरब टाइम्स,भिलाई। नगर पालिक निगम भिलाई के आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के निर्देश पर वैशालीनगर जोन 02 की टीम ने वार्ड 19 शास्त्री नगर में अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाया। लोगों और दुकानदारों द्वारा नाली पर कांक्रीट से बनाई गई रैम्प, चबूतरे आदि को राजस्व एवं स्वच्छता कर्मचारियों की टीम ने जेसीबी के माध्यम से तोड़कर कब्जा खाली कराया। 


जिसके कारण सफाई कर्मचारियों को नाली साफ करने में काॅफी परेशानी होती थी, तथा नाली जाम होने के वजह से बारिश के दौरान नाली का पानी सड़कों पर बहने लगता है। नाली पर अतिक्रमण होने की वजह से नाली सफाई नहीं हो पा रही थी, कई स्थानों पर से निकासी बंद हो गया था, इससे सड़क पर गंदगी फैलने लगी थी। इससे नाराज स्थानीय लोगों ने निगम में भी इसकी शिकायत की थी।

शिकायत को गंभीरता से लेते हुये जोन 02 की आयुक्त पूजा पिल्ले स्वयं वार्ड 19 पहुंचकर नाली सफाई का जायजा लिये और नाली सफाई नहीं होने पर अतिक्रमण हटाकर सफाई करने के निर्देश दिये थे. उन्होंने मोहल्लेवासियों से सफाई आदि कार्य का फीडबैक भी लिया था, वहां उन्हें नाली सफाई में बाधक बन रहे अतिक्रमण को हटाकर नाली सफाई कराने के निर्देश जोन के राजस्व व स्वास्थ्य अधिकारी को दिए थे.

जोन आयुक्त के निर्देश पर टीम ने जेसीबी के माध्यम से विभिन्न स्थानों से अधिक अतिक्रमण को हटाकर नालियों की सफाई कराई।  इसी बीच 6 लोगों के द्वारा नाली में कचरा डालने पर उनसे जुर्माना वसूल किया गया। वार्ड 19 शास्त्रीनगर में पशु चिकित्सालय से चंद्रा मौर्या चैक सड़क के दोनों किनारे दुकानदारों पर अपने ही दुकान के सामने नाली में दुकान का वेस्ट फेंकने पर 6 लोगों से 2800 जुर्माना वसूला गया.@GI@ 




पूरब टाइम्स दुर्ग। नगर पालिक निगम दुर्ग के मरारपारा, बैगापारा, शिक्षक नगर, तकियापारा, गिरधारी नगर चढ़ाव वाले क्षेत्रों में नियमित रुप से पानी नहीं आने की शिकायत का आज महापौर धीरज बाकलीवाल मौके पर जाकर निरीक्षण किया । एमआईसी प्रभारी अब्दुल गनी, संजय कोहले, अमनदीप सिंह भाटिया, निगम अधिकारी, अमृत मिशन टीम सहित अनिल जैन, बाफना जी और वार्ड के निवासी मौजूद थे ।

एमआईसी प्रभारी मनदीप सिंह भाटिया व अन्य पार्षदों ने महापौर को अवगत कराया कि अमृत मिशन के पाइप लाईन बिछ गया है परन्तु जोड़ने का कार्य बचा हुआ है। वार्ड में पानी की समस्या बढ़ रही है । महापौर श्री बाकलीवाल ने निगम अधिकारियों और पीडीएमसी अमृत मिशन टीम काके निर्देशित कर कहा अमृत मिशन के पाइप लाईन को दो दिनों के अंदर जोड़ने का कार्य पूरा कर वार्डो में पानी सप्लाई सामान्य करें । सहा0 अभियंता ए0आर0 राहंगडाले, उप अभियंता भीमराव, पीडीएमसी के कपिश दीक्षित, जलकार्य निरीक्षक नारायण ठाकुर एवं अन्य उपस्थित थे ।  



स्टेट वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के चेयरमेन अरूण वोरा ने बताया कि भविष्य में स्टेट वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के सभी गोडाउन ट्रसलेस तकनीक से बनाने के प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है। वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के गोदामों में अनाज के सुरक्षित भंडारण के लिए ट्रसलेस तकनीक काफी बेहतर मानी गई है। इस तकनीक से अनाज के भंडारण के दौरान होने वाले नुकसान में कमी आएगी। साधारण गोदामों की तुलना में ट्रसलेस गोडाउन में अधिक अनाज भंडारण किया जा सकता है।

अनाज भंडारण गोदामों को कवर करने के लिए छतों पर लगाई गई गेल वैल्यूम शीट को केंद्रीय एजेंसियों भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) और केंद्रीय भंडारण निगम (सीडब्ल्यूसी) द्वारा काफी सराहा गया है। एफसीआई ने नए बनने वाले गोदामों में इस शीट को लगाने कहा है। छत्तीसगढ़ स्टेट वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन ने भी इसी तकनीक से गोडाउन का निर्माण करने का प्लान तैयार किया है। इसकी शुरुआत सूरजपुर के गोडाउन से की जा रही है। इससे पहले प्रदेश में सेंट्रल वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन द्वारा तिफरा में इसी तकनीक से गोडाउन बनाया गया है।

साधारण गोडाउन में वॉशर खराब होने पर बारिश का पानी बोल्ट के माध्यम से लीक होने लगता है। गोडाउन में धूल भी प्रवेश करती है और गोडाउन के भीतर जमा होने लगती है। गोडाउन के भीतर पक्षी घोसला बनाते हैं। ट्रसलेस गोडाउन रखरखाव मुक्त होते हैं। गोडाउन के भीतर रखी वस्तुओं को बेहतर सुरक्षा प्रदान करते हैं। अज्वलनशील होने के साथ ही आग और तूफान जैसी प्राकृतिक आपदा से निपटने में ये ज्यादा सहायक होते हैं।



पूरब टाइम्स दुर्ग।  विधायक अरुण वोरा व महापौर धीरज बाकलीवाल ने आज शहर के अनेक वार्डो में विकास और निर्माण कार्य के लिए मैराथन भूमिपूजन किया । विकास और निर्माण के तहत् डब्ल्यूबीएम सड़क संधारण, निर्माण, कांजी हाउस निर्माण, सीमेंटीकरण सड़क निर्माण, और नाली निर्माण कार्य शामिल है। लम्बे समय से क्षेत्र वासियों द्वारा सड़क, नाली, कांजी हाउस निर्माण की मांग की जा रही थी जो आज पूरा हुआ है । इस मौके पर लोक कर्म प्रभारी अब्दुल गनी, पार्षद  कुमारी भारती साहू,  मीना सिंह, एल्डरमेन देव सिन्हा, मनीष यादव, कार्यपालन अभियंता राजेश पाण्डेय, सहा0 अभियंता जगदीश केशरवानी, उपअभियंता आसमा डहरिया, एवं पूर्व पार्षद राजकुमार साहू सहित अधिक संख्या में वार्डो के निवासी उपस्थित थे।  

भूमिपूजन के मौके पर विधायक श्री वोरा ने वार्ड निवासियों को संबोधित करते हुये कहा शहर में सभी नागरिकों को सड़क, नाली निकासी एवं अन्य मूलभूत सुविधाए प्राप्त हो । जनता को सुविधा प्रदान करना हमारा दायित्व है। इस दायित्व को हम आज पूरा कर रहे हैं । करीब 22 लाख की लागत से डब्ल्यूबीएम सड़क, सीमेंटीकरण सड़क, नाली निर्माण, कांजी हाउस निर्माण के लिए आज भूमिपूजन किया गया है। निश्चित रुप से इसका लाभ क्षेत्र वासियों को मिलेगा ।  
महापौर श्री बाकलीवाल ने बताया कि पार्षदों और वार्ड निवासियों की मांग पर वार्डो में विकास और निर्माण कार्य कराया जा रहा है। लम्बे से वार्ड निवासी विकास की बाट जोह रहे थे । कोरोना काल के कारण शहर में विकास कार्य थम गया था। अब फिर से विकास और निर्माण कार्य पटरी पर आया है । शहर के अनेक वार्डो मंें अनेक विकास और निर्माण कार्य का आदेश जारी कर दिया गया है। उन्होंने बताया आज बघेरा में 4 लाख की लागत से डब्ल्यूबीएम सड़क संधारण, 3 लाख की लागत से कांजी हाउस निर्माण, वार्ड 4 में 4 लाख की लागत से डब्ल्यूबीएम सड़क निर्माण, वार्ड 4 में ही 3 लाख की लागत से आंगनबाड़ी के पास सीमेंटीकरण सड़क निर्माण एवं दीपक नगर वार्ड 23 मंे 7.75 लाख की लागत से नाली निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया गया है ।


आरोपियों के खिलाफ 4 क जुआ एक्ट के तहत कार्यवाही की गई.आरोपियों में धनराज साहू पिता बृजलाल साहू (42),संतोष निर्मलकर पिता बल्लू निर्मलकर (32),रोशन साहू पिता महावीर साहू (25),संजय तिवारी पिता श्रवण तिवारी (29), उत्तम सोनी पिता जुवरखन सोनी (52), शेखर कहार पिता स्व.शारदा कहार (52),जगत निर्मलकर पिता तीजऊ निर्लमकर (60),कुलेश्वर प्रसाद पिता स्व. शारदा प्रसाद (59),टेकेश्वर साहू उर्फ बबलू पिता स्व.महादेव साहू (19),संदीप यादव पिता प्रकाश यादव (21),आशीष मिश्रा पिता डोमेन्द्र मिश्रा (35),सुभम देवांगन पिता हेमंत देवांगन (25),मनुवर अली पिता अकबर अली (66), पवन ढीमर पिता तुलसी ढीमर (32), नरसिंह यादव पिता सुन्दर यादव (21), फिरोज खान पिता जब्बार खान (36),वाहिद खान पिता राज खान (64), सूरज यादव पिता बिसउ (60),सन्नी यादव पिता देवीचरण यादव (30),गीता ढीमर पिता हरिलाल ढीमर (50) शामिल है.@GI@

पूरब टाइम्स,भिलाई। पर्यावरण दिवस वैसे तो 5 जून को मनाया जाता है पर रिसाली के प्रकृति प्रेमियों की टीम पर्यावरण मित्र के लिए बारह महीने पर्यावरण दिवस रहता है,वे निरंतर पौधों की सेवा में लगे होते है,कभी पानी डालना, कभी खाद ,तो कभी ट्री गार्ड सुधारना ये किसी न किसी रूप में सेवा खोजकर पेड़ो को खड़ा करने का संकल्प लिये हुये है.इसके पीछे कठिन मेहनत और लगन की कहानी है, रिसाली के दशहरा मैदान,जिसकी जमीन मुरमयुक्त है जिस पर पेड़ लगाने के बारे में सोचना ही व्यर्थ समझते थे लोग,पानी की भी सुविधा नही के बराबर,पर एक युवा ने आगे आकर इस बड़े मैदान को हरा भरा करने की ठानी, निगम के प्रयाश से कुछ पौधे तो लगाये गये पर इन्हें बचाने के लिए कोई साधन नहीं था.@GI@


पौधों की सुरक्षा के लिए ट्री गार्ड सहयोग हेतु लोगों को जोड़ते गये, प्रकृति प्रेमियों की टीम बनती गई, उस वक़्त मैदान में सिर्फ एक बोरिंग थी जिससे 200 पौधों को पानी देना एक चुनोती भरा कार्य था,पर इनके द्वारा पेड़ बचाने का संकल्प लिया गया,की पेड़ को मरने नही देंगे इन युवा साथियो ने मिलकर पौधों को पानी देकर जीवित रखा व जानवरो से बचाने के लिए जनता को जोड़कर ट्री गार्ड से पूरे पेड़ो को सुरक्षित किया,भिलाई स्टील प्लांट में तीन शिफ्ट ड्यूटी के बाद भी पेड़ो के प्रति अपने प्यार को कम नही होने दिया। अभियान के 8 महीने बाद ही निगम से मोटर पम्प व बीएसपी ने इलेक्ट्रिक कनेक्शन देकर सहयोग किया।


आज से 5 साल पूर्व पौधों की सेवा अनवरत जारी है बिना किसी शासकिय सहयोग के,ये मित्र आपसी आर्थिक सहयोग से ही पेड़ो के लिए दवाई,जालियां, खाद की व्यवस्था करते है,इनके अभियान के फलस्वरुप जनता में भी पर्यावरण के प्रति जागरूकता आई व लोगों ने खुद ही आगे आकर पौधे लगाना शुरू किया,ये पर्यावरण मित्र,रिसाली सहित पूरे भिलाई में पौधरोपण कर हरियाली बिखेर रहे है, अभी तक रिसाली में ही 500 पौधों की नियमित देख-रेख हो रही है. पौधे पेड़ बनकर तैयार है. ये मित्र निशुल्क पौधा वितरण भी करते है, इन पौधों की सेवा में निरंतर कार्य करने वालो में बीएसपी कर्मचारी व शासकीय शिक्षक व समाजसेवी शामिल है. 

           यह है पर्यावरण मित्रों की टीम 
ललित वर्मा,रूपेंद्र वर्मा,टीकाराम साहू,राजेन्द्र वर्मा,विपिन वर्मा,हरीश साहू,महेश चंद्राकर,नरेंद्र राणा,सुधीर टिकरिहा, पवन चंद्राकर, देवेंद्र तिवारी,बालूराम वर्मा,नागेंद्र मरावी,ओंकार,राजू,सुधीर बंछोर, अजय चंद्राकर,सोहन चंद्राकर,पूरण देशमुख,शिव चंद्राकर,गजेंद्र चंद्राकर, खुशबू साहू,अक्षत वर्मा,रूपेश साहू,संरक्षक एस एन सिंग,धर्मेंद्र साहू,दीपक वर्मा,चंद्रभान ठाकुर, सौरभ ठाकुर,गोविंद साव,बी एस एन एल के महाप्रबंधक भारत भूषण वर्मा,सियाराम वर्मा,चौधरी,नगर सेवाएं विभाग के मोहन देशपांडेय,संजय बघेल, घनस्याम साहू ,शंकर पेरी,रोमशंकर यादव,प्रेम मढ़ रिया,के टी अनिल,नारायण, सहित कई नागरिक जुड़कर सहयोग दे रहे है।@GI@

पूरब टाइम्स,भिलाई। चरोदा में 2 जून की आधी रात को हुई लूट के मामला पुलिस ने सुलझा लिया है. आरोपियों की तलाश में लगी पुलिस की टीमों को बड़ी सफलता मिली और घटना के 36 घंटों के भीतर पुलिस ने मामले का खुलासा किया। मामले में पुलिस ने समीर मानिकपुरी (20) जोन 3 चरोदा, दीप सिंह शेरगिल उर्फ दीपक (24) सुभाष चौक खुर्सीपार,आर्शीवादम मणिक्यम मानवेल उर्फ छोटू (21) नवीन नगर चरोदा और ओंकार निषाद उर्फ अभय (20) ग्राम अहिवारा को गिरफ्तार किया गया। 


युवकों के पास से पुलिस ने लूट की कार सीजी 07 बीडब्ल्यू. 6438 कीमती, 1 मोबाईल, पीडि़त का पर्स, एटीएम, ड्राईविंग लायसेंस, आधार कार्ड, पेन कार्ड, नगदी 1200 घटना में इस्तेमाल किये गए दो बाइक बरामद किया। दरअसल पूरा मामला 2 जून की रात का है। पंचशील नगर पूर्व चरोदा निवासी के एएस शंकर राव अपनी कार सीजी 07 बीडब्ल्यू 6438 दुर्ग से वापस आते रात 12.45 बजे बालाजी मार्बल एण्ड टाईल्स चरोदा के पास कार रोककर मोबाइल पर परिचित से बातचीत कर रहे थे।


इस दौरान दो बाइक में चार युवक आए और एक युवक कार को ड्राईवर साईड से खटखटा रहा था। जिसे देख शंकर ने अपनी कार की कांच को नीचे कर पूछने लगा। इसके बाद युवकों ने शंकर से गली गलौज करना शुरू कर दिया। इस दौरान शंकर कार के बाहर निकल गया। मौका पाते ही एक युवक कार लेकर फरार हो गया। वही तीन युवकों ने शंकर से मारपीट कर मोबाइल लूट कर रायपुर की ओर भाग निकले। मामले की शिकायत के बाद पुलिस ने जांच शुरू की और 36 घंटों के भीतर ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

            ऐसे पहुंची पुलिस लुटेरों तक
पुलिस ने लूटी गई कार से किसी गंभीर घटना की आशंका को देखते हुए तत्काल 294,505,394 के तहत जुर्म दर्ज किया और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी। एएसपी संजय ध्रुव, सीएसपी विश्वास चंद्राकर के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी विनय सिंह बघेल व उनकी टीम ने घटना को ट्रेस किया। पुलिस ने बताया कि आरोपियों को पकडऩे के लिए पहले टीम बनाई गई उसके बाद आसपास में लगे सीसी टीवी कैमरे को खंगाला गया। 250 अलग अलग मार्गों पर सीसीटीवी फुटेज देखे गए। लूटेरों को पकडऩे के लिए पुलिस की 5 टीमों ने संयुक्त प्रयास किया। टीम के संयुक्त प्रयास से आरोपियों का अहम इनपुट के आधार पर पुलिस को सफलता मिली।@GI@

पूरब टाइम्स, भिलाई। भिलाई टाउनशिप में पिछले दो महीने से गंदे पानी की सप्लाई हो रही है। इस समस्या का समाधान करने के लिए कलेक्टर ने पूरा जोर लगा लिया, लेकिन भिलाई स्टील प्लांट (बीएसपी) प्रबंधन व्यवस्था ठीक नहीं करा पाई। जब प्रशासन भी कुछ नहीं कर पाया तो कांग्रेस से जुड़े एक संगठन के कार्यकर्ता मोहम्मद शाहिद स्थापित मानको के विपरीत भिलाई सेक्टर -7 में राहत केन्द्र खोलकर लोगों को पानी के जार बांटने शुरू किए जाने के फोटो वायरल हो रहे है जिसके बाद कई प्रश्न खड़े हो गया है.




अपनी राजनैतिक मंशा को पूरी करने के लिए और अपने राजनैतिक प्रभाव को बढ़ाने के लिए कुछ छूट भैय्या नेता सारे नियम कायदों को ठेंगा दिखा रहे हैं और नया राजनैतिक समीकरण बना कर चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी तो नहीं कर रहे यह प्रश्न इस समय खड़ा हुए जब  कांग्रेस से जुड़े एक संगठन के पदाधिकारी की  फोटो पानी जार  बाटते हुए वायरल हुआ. बताया जा रहा है कि यह नेता जिला अध्यक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस पदाधिकारियों से लिखित निर्देश लिए बिना गैर जिम्मेदाराना कार्य करते नजर आया रहा  है. ऐसे ही एक मामले में  मोहम्मद शाहिद नाम के किसी व्यक्ति ने टाउनशिप के लोगों को साफ पानी देने के लिए कांग्रेस की तरफ से मुहिम तो शुरु करने का ऐलान किया और अपने फोटो वायरल करवाए जिसके बाद इस विषय पर किसी वरिष्ठ कांग्रेसी  ने ऐसी मुहिम चालू किए जाने की पुष्टि नहीं की और यह विषय बहस का मुद्दा बन गया. 


पूरब टाइम्स,भिलाई।  नगर पालिक निगम भिलाई क्षेत्र अंतर्गत अवैध निर्माण करने वालों के विरुद्ध निगम प्रशासन सख्त कार्यवाही कर रहा है। शासकीय भूमि पर अतिक्रमण करते हुए टीन शेड से मकान बनाने वाले के खिलाफ आज तोड़फोड़ की कार्यवाही की गई। निगम आयुक्त ऋतुरात रघुुवंशी ने अतिक्रमण करने वालों पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। जोन क्रमांक 01 नेहरूनगर के आयुक्त सुनील अग्रहरि के निर्देश पर क्षेत्र अंतर्गत दक्षिण गंगोत्री में करीब 2000 से अधिक वर्गफुट जमीन को घेरकर व्यवसाय कर रहा था, जिसे निगम की टीम की टीम ने पुलिस बल की उपस्थिति में बेदखली की कार्यवाही किए। 


तोड़फोड़ दस्ता के प्रभारी प्रकाश अग्रवाल ने बताया कि दक्षिण गंगोत्री के पास पत्रकार काॅलोनी के सामने राम नाथ चैहान द्वारा शासकीय भूमि अवैध तरीके से कब्जा कर बांस बल्ली व टीन शेड से रहने के लिए मकान जैसा बना लिये थे, इसके अलावा आस पास को घेरा कर बांस बल्ली का व्यवसाय किया जा रहा था, जिसकी शिकायत  प्राप्त होने पर आज निगम के राजस्व विभाग का अमला जेसीबी और डंफर के साथ मौके पर पहुंचा और तोड़फोड़ की कार्यवाही करते हुए बेदखली की कार्यवाही की गई।


रामनाथ द्वारा अवैध रूप बनाए गए कक्ष, बाउंड्रीवाल और फ्लोर को जेसीबी के माध्यम से ध्वस्त किया गया तथा इस दौरान उपस्थित कार्यपालिक मजिस्ट्रेट और पुलिस की उपस्थिति में उक्त व्यक्ति द्वारा आस पास रिक्त भूमि को घेरकर व्यवसाय के लिए डंप किए हुए बांस बल्ली को नुकसान से बचाने एक दिवस के भीतर स्वंय के द्वारा कब्जा किए गए स्थल से हटाने का लिखित आश्वासन दिया गया अन्यथा सामान को निगम द्वारा जप्त किया जाएगा। 

पूरब टाइम्स, भिलाई। कोरोना संक्रमण काल के दौरान शहर के विभिन्न हिस्सों में गरीबों और जरूरतमंदों को भोजन व राशन की हो रही दिक्कतों को देखते हुए क्षेत्र के विधायक एवं प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू के मन्शाअनुरूप सूर्या नगर स्टेशन मरोदा वार्ड 21 नगर पालिक निगम रिसाली क्षेत्रातॅर्गत जरूरतमंद परिवारों के बीच राशन का वितरण किया। 


लेकिन लोग राशन लेने की होड़ में भूल गए कोरोना का संकट अभी ख़तम नहीं हुआ है इसलिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य है. तस्वीरों में साफ़ देखा जा सकता है की लोग कैसे एक दूसरे में सटकर कर खड़े हुए हैं. राशन वितरण के दौरान प्रशासन के द्वारा सोशल डिस्टेंस का ख्याल रखते हुए 1-1 मीटर पर गोल घेरे का निर्माण किया जाना था.लेकिन ऐसी कोई भी व्यवस्था नज़र नहीं आयी.

  राशन के चक्कर में सभी नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं

दरअसल, बुधवार को प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू,केशव बंछोर,एनएसयूआई के प्रदेश सचिव अभिषेक बंछोर,दुर्ग ग्रामीण विधानसभा अध्यक्ष सुरेंद्र बाधमारे के मन्शाअनुरूप एनएसयूआई द्वारा रिसाली निगम क्षेत्रातॅर्गत में जरूरतमंद परिवारों के बीच राशन का वितरण किया। लेकिन सक्षम पदाधिकारियों को सोशल डिस्टेंस का ख्याल ही नहीं आया। 


इस भीड़ को देख ऐसा ही लग रहा की तीसरी लहर को न्यौता दिया जा रहा है। एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने राशन वितरण के बाद लोगों से कहा कि कोरोना महामारी से बचाव हेतु टीकाकरण अवश्य करवाएं एवं मास्क का उपयोग हमेशा करें लेकिन इसी दौरान उनके सामने ही सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ा गई तथाकोविड को लेकर जारी की गई गाइड लाइन की अवहेलना की गई।@GI@


पूरब टाइम्स, दुर्ग। चौकिये नही, यह कोई फॉर्म  हाउस नही है बल्कि दुर्ग जिले के गयानगर के मोहल्ले में स्थित घर में प्रतिदिन लगने वाला सटोरियों का अड्डा है जहाँ बिंदास,सटोरियों द्वारा सट्टा लिखा व लिखवाया जाता है। यहां का दृश्य किसी तहसील या कलेक्टोरेट ऑफिस से कम नही लग रहा है। यहां तीन से चार दर्जन लोग दिन व रात्रि के समय घर के अर्जीनवीसों की तरह टेबल लगाकर सट्टा लिख रहे है। नाबालिग  युवा से लेकर बुजुर्ग इसमें डूबे हुए है।


इस ओपन-क्लोज के खेल में क्षेत्र के बच्चे जिनके हाथों में कलम होनी चाहिए, वे सट्टे के अंकों में उलझे हुए है। आज बच्चों,युवा व बुजुर्ग का रुझान सट्टा की ओर बढ़ रहा है। वही कई घर के राशन व अन्य सामग्रियों को बेचकर सट्टा खेल रहे है, इससे उनके परिवार में छोटे-छोटे बच्चे भूखे मरने की कगार पर है। कई आसपास छोटी-मोटी चोरी व लूट की घटना को अंजाम दे रहे है।

समय-समय पर पुलिस नशा मुक्ति अभियान चलाने के अतिरिक्त सामाजिक बुराइयों पर रोकथाम के लिए जगह-जगह शिविर लगती है। आम नागरिकों को संदेश देती है कि पुलिस आपकी सच्ची मित्र है। अपराध व सामाजिक बुराइयों को दूर करने में पुलिस को खुले मन से सहयोग दे। लेकिन  उपरोक्त जगहों पर खुलेआम सट्टा, जुआ व शराब ब्रिकी की शिकायत करने पर भी अनदेखी कर उल्टे संरक्षण देने से ये पता चलता है कि ये कितने निष्पक्ष है। सौ टका खरी बात है कि इनकी कथनी और करनी, हाथी के सफेद दांत के समान है।

शहरभर के लोगो की दिनभर आवाजाही रहती है। क्षेत्रवासियों का कहना है कि वृहत पैमाने पर सट्टे का खेल खुलेआम पुलिस के नाक के नीचे होने से सफेदपोशों व उनके संरक्षण से इंकार नही किया जा सकता है। सैय्या भय कोतवाल तो डरे काहे की कहावत इन सटोरियों के हौसले दिन-ब-दिन बुलंद होते हुए सातवे आसमान पर है। इन लोगो मे तनिक भी प्रशासन का भय नही है। क्षेत्र के लोगो ने बताया कि सटोरिए मुंछ पर ताव देते हुए कहते है कि वे नीचे ऊपर वालो को अपनी जेब मे लेकर चलते है। यही कारण है कि शिकायतो के बाद भी कोई कार्यवाही नही होती, बल्कि सटोरियों पर कार्यवाही न कर शिकायकर्ता व बंद करने के लिए आवाज बुलंद करने वालो पर ही कार्यवाही की जा रही है।@GI@









पूरब टाइम्स, दुर्ग। छत्तीसगढ़ शासन ने कोरोना काल में राज्य के बिगड़ते वित्तीय स्थिति के दृष्टिगत,छत्तीसगढ़ मूलभूत नियम के नियम 22 सी (1) में संशोधन करते हुए सीधी भर्ती के पदों पर चयनित शासकीय सेवकों के लिए यह प्रावधान लागू किया था लेकिन अनुकंपा नियुक्ति में कोई सीधी भर्ती द्वारा चयनित नहीं होता है।अनुकंपा से नियुक्त शासकीय सेवक पर सीधी भर्ती से चयनित शासकीय सेवक का प्रावधान लागू नहीं करना चाहिये। उनका कहना है कि सामान्य प्रशासन विभाग छत्तीसगढ़ शासन के आदेश दिनाँक 14/6/2013 एवं 23/2/2019 के कंडिका-9 (1) एवं (2) में अनुकंपा नियुक्ति हेतु सीधी भर्ती की नियमित पद्धिति से छूट रहने एवं सीधी भर्ती पर लागू प्रतिबंध में छूट रहने का उल्लेख है। इस आधार पर सीधी भर्ती के स्थिति में 3 वर्ष परिवीक्षा अवधि में रखे जाने एवं वर्षवार देय स्टाइपेंड का प्रतिबंध से अनुकंपा नियुक्ति में लागू नहीं होना चाहिए। अतः उपरोक्त अनुसार जानकारी देकर छत्तीसगढ़ प्रदेश शिक्षक फेडरेशन ने अड़चनों को स्पष्ट कर दिया है जिस पर शासन और प्रशासन को ध्यान दिया जाना चाहिए.


छत्तीसगढ़ प्रदेश शिक्षक फेडरेशन के संगठन मंत्री कुबेर राम देशमुख,दुर्ग संभाग अध्यक्ष डॉ बी के दास, महामंत्री देशबन्धु शर्मा, जिला अध्यक्ष देवेन्द्र बंछोर एवं महामंत्री के के धुरंधर का कहना है कि अनुकंपा नियुक्ति में छूट देकर मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन ने कोरोना महामारी में दिवंगत शासकीय सेवकों के परिवार को सहारा दिया है लेकिन विभागीय अधिकारियों द्वारा अनुकंपा नियुक्ति को परिवीक्षा अवधि में किया जा रहा है। उनका कहना है कि अनुकंपा नियुक्ति को परिवीक्षा अवधि एवं स्टाइपेंड अंतर्गत किया जाना अनुचित है। उन्होंने बताया कि वित्त विभाग के अधिसूचना 28 जुलाई 2020 में यह लिखा है कि सीधी भर्ती के पदों पर चयनित शासकीय सेवकों को तीन वर्ष की परिवीक्षा अवधि में स्टाइपेंड देय होगा।गौरतलब है कि अनुकंपा नियुक्ति में कोई चयनित नहीं होता है। अनुकंपा नियुक्ति सीधी भर्ती के नियुनतम नियमित पद पर किया जाता है लेकिन यह नियुक्ति  सीधी भर्ती के प्रक्रिया अंतर्गत नहीं होता है |      

छत्तीसगढ़ प्रदेश शिक्षक फेडरेशन ने कहा है कि वित्त विभाग के अधिसूचना 28/7/2020 एवं वित्त निर्देश 21/2020 दिनाँक 29/7/2020  के पहले एवं बाद में अनुकंपा नियुक्ति के अनेक आदेश जारी हुए हैं, जिनमें परिवीक्षा अवधि में नियुक्ति का उल्लेख नहीं है। विगत वर्षों में जारी हुए सभी अनुकंपा नियुक्ति आदेशों में परिवीक्षा अवधि का उल्लेख नहीं है। जबकि मूलभूत नियम 22 C (1) के तहत सीधी भर्ती को परिवीक्षा अवधि में 2 वर्ष  के लिये किया जाता था | उस समय भी अनुकंपा नियुक्ति को परिवीक्षा अवधि में नियुक्त नहीं किया गया था। उन्होंने जानकारी दिया कि वर्तमान में राज्य के वित्तीय स्थिति के दृष्टिगत,मूलभूत नियम 22 C (1) में उल्लेखित 2 वर्ष के परिवीक्षा अवधि को संशोधित कर 3 वर्ष किया गया है। साथ ही वित्तीय संतुलन को बनाने के उद्देश्य से क्रमागत वर्ष अनुसार देय स्टाइपेंड का उल्लेख,वित्त विभाग के अधिसूचना 28/7/2020 एवं वित्त निर्देश 21/2020 दिनांक 29/7/2020 में किया गया है। जोकि प्रचलित भर्ती नियम के प्रक्रिया अंतर्गत सीधी भर्ती के प्रकरणों के लिए लागू है। विगत वर्षों में सीधी भर्ती को परिवीक्षा अवधि में किया जाता रहा है लेकिन अनुकंपा नियुक्ति को इससे पृथक रखा गया था। वर्तमान में अनुकंपा नियुक्ति के प्रकरण को सीधी भर्ती के शर्तों से पृथक रखा जाना चाहिए।


 छत्तीसगढ़ प्रदेश शिक्षक फेडरेशन ने बताया कि शासन द्वारा कार्यरत अधिकारी एवं कर्मचारियों की जानकारी सीधी भर्ती, पदोन्नति, प्रतिनियुक्ति एवं अनुकंपा नियुक्ति में पृथक मँगवाया जाता है। जिससे  परिलक्षित होता है कि चारों भर्ती/ नियुक्ति का प्रकार भिन्न है । फेडरेशन ने मुख्य सचिव छत्तीसगढ़ शासन,अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री सचिवालय, सचिव सामान्य प्रशासन विभाग,वित्त विभाग को ई-मेल द्वारा विस्तृत पक्ष रखकर नियमों के प्रकाश में दिशा निर्देश जारी करने का आग्रह किया है।






पूरब टाइम्स, दुर्ग। कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण को कमजोर करने बाहर से आने वाले यात्रियों पर विशेष नजर रखी गई। इसके लिए बाहर से आने वाली हर ट्रेन के यात्रियों की स्कैनिंग की गई। इसके लिए विशेष दल बनाया गया था जो रात-दिन कार्य करता था। डिप्टी कलेक्टर जागेश्वर कौशल को इस दल का प्रभारी बनाया गया था। कौशल ने बताया कि दस हजार से अधिक रेल यात्रियों की जाँच की गई। इनमें दुर्ग रेलवे स्टेशन में 7 हजार 4 सौ 44 यात्रियों की जाँच की गई। पावरहाउस स्टेशन में लगभग 3 हजार यात्रियों की जाँच हुई। इनमें से पाँच सौ यात्री कोविड पाजिटिव पाये गए। 

मौके पर हेल्थ टीम ने मानिटरिंग कर इन्हें अस्पताल अथवा होम आइसोलेशन की जरूरत के मुताबिक रिफर किया। कलेक्टर डा. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने समय-समय पर स्टेशन में व्यवस्था की मानिटरिंग भी की। उन्होंने यहाँ गंभीर मरीजों को और कम आक्सजीन लेवल वाले मरीजों को सीधे अस्पताल भेजने के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था भी कराई। दिन और रात दोनों ही टाइम स्कैनिंग होने से ट्रेन के माध्यम से कोरोना प्रसार की आशंका रूकी। कलेक्टर ने निर्देश दिये हैं कि कोरोना के संबंध में लगातार सजग रहें। 

कलेक्टर ने लोगों से अपील की है कि लक्षण दिखते ही नजदीकी फीवर सेंटर में पहुँचकर कोरोना की जाँच करानी है। यदि कोरोना संक्रमण के शिकार होते हैं तो चिंता करने की जरूरत नहीं हैं। अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए सबसे अच्छी व्यवस्था की सुनिश्चित की गई है। बाहर से आने वाले यात्रियों में भी घटा कोरोना- दुर्ग में सोमवार को 318 यात्रियों की जाँच की गई, इनमें केवल एक ही पाजिटिव आया। पावरहाउस स्टेशन में 182 यात्रियों की जाँच की गई, इसमें कोई भी पाजिटिव नहीं आया।@GI@

पूरब टाइम्स, दुर्ग। छत्तीसगढ़ स्टेट पाॅवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड, दुर्ग के क्षेत्रीय मुख्यालय में पदस्थ अनुभाग अधिकारी पूनाराम वर्मा केे सेवानिवृत्त होने पर कार्यालय के अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा सादे समारोह में भावपूर्ण विदाई दी गई। कार्यक्रम में कार्यपालक निदेषक संजय पटेल, अधीक्षण अभियंता तरुण ठाकुर, कार्यपालन अभियंता, सनीली चैहान द्वारा वर्मा को उपहार प्रदान कर शुभकामनायें दी गई।

संजय पटेल ने कहा कि मृदुभाशी, सहज एवं सौम्य व्यक्तित्व के धनी वर्मा अपने 38 वर्षो की सेवा अवधि में बिजली कंपनी में अपने कार्यों के प्रति सजग एवं तत्पर रहे। उन्होंने जीवन के नये अध्याय की षुरुआत के लिए वर्मा को षुभकामनाएं प्रेशित की। कार्यक्रम में उपस्थितजनों ने  वर्मा को षुभकामनाएं प्रेशित करते हुए उनके सुखमय जीवन की कामना की। सेवानिवृत्त हो रहे वर्मा ने सेवाकाल के दौरान मिले सहयोग के लिए अधिकारियों एवं कर्मचारियों को धन्यवाद दिया। 

पूरब टाइम्स,दुर्ग। महापौर धीरज बाकलीवाल के हाथों उनके जन्मदिन पर रोपित होने वाले पौधे बादाम, चम्पा, माॅलश्री, करंज, और केसिया राजेन्द्र पार्क में पल्लवित होगें। राजेन्द्र पार्क में पाथवे के किनारे-किनारे खाली जगहों पर महापौर बाकलीवाल के द्वारा वृक्षारोपण किया गया। जो आने वाले समय में राजेन्द्र पार्क आने वाले लोगों को फल और छाया प्रदान करेगा। 

राजेन्द्र पार्क में इन पौधों का देख-रेख के साथ संधारित भी किया जावेगा। आज एक मई को महापौर धीरज बाकलीवाल का जन्मदिन है उन्होनें अपने जन्मदिन की याद में शहर की पर्यावरण में सुधार और संरक्षण की दिशा में कार्य का निर्णय लिये। इस मौके पर पूर्व महापौर आर.एन.वर्मा, पार्षद निर्मला साहू, बृजलाल पटेल, उषा ठाकुर, एल्डरमेन रत्ना नारमदेव, संदीप श्रीवास्तव, एवं अन्य उपस्थित थे।  

पूरब टाइम्स,दुर्ग। अनुकंपा नियुक्ति के प्रकरणों में दस प्रतिशत की सीमा शिथिल करने के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्णय से युवाओं के लिए सरकारी नौकरी के द्वार खुल गये हैं। यह सीमा 31 मई तक शिथिल की गई है।10 प्रतिशत की सीमा के शिथिल होने से कलेक्ट्रेट में चार अधिकारी-कर्मचारियों के बच्चों के लिए रोजगार का रास्ता खुल गया जो इस सीमा के बाहर थे। आज कलेक्ट्रेट में इन युवाओं को कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने कलेक्ट्रेट कार्यालय के लिए नियुक्ति पत्र सौंपे। आज चार युवाओं को नियुक्ति पत्र मिले। 

इनमें सौरभ भादुड़ी को सहायक ग्रेड-3 के पद पर नियुक्ति मिली। उनके पिता सुमीत कुमार भादुड़ी पाटन तहसील कार्यालय में नायब तहसीलदार के रूप में कार्यरत थे। सुमीत की बीते दिनों मृत्यु हो गई थी। इनमें सहायक ग्रेड -3 पर सुश्री ऐश्वर्या राव को नियुक्ति मिली। इनके पिता ए शंकर राव धमधा में सहायक ग्रेड-3 पद पर नियुक्ति थे। इनकी हार्ट अटैक से मृत्यु हुई थी। इसी पद पर एस. अभिषेक की नियुक्ति भी हुई, वे कलेक्ट्रेट में वाहन चालक सुरेश कुमार के पुत्र हैं कुमार की मृत्यु 27 फरवरी 2020 को हुई थी। चौथी नियुक्ति तेजेंद्र साहू की हुई इनकी माता खेमिन साहू तहसील कार्यालय में रीडर थीं।@GI@

इन्हें भी सहायक ग्रेड-3 के पद पर नियुक्त किया गया है। अभी दो प्रकरणों पर कार्रवाई जारी है जिन्हें शीघ्र ही नियुक्ति मिल जाएगी। नियुक्ति पत्र प्राप्त करने के पश्चात इन युवाओं ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्णय से हमारे परिवार को बड़ी राहत मिली है। सुश्री ऐश्वर्या ने बताया कि इस निर्णय से अनेक परिवारों को लाभ पहुँचेगा जिनके अभिभावक शासकीय सेवा में थे और जिनका असमय देहावसान हो गया।

सुश्री ऐश्वर्या ने बताया कि कैबिनेट के निर्णय के बाद यह उम्मीद थी कि जल्द ही अनुकंपा नियुक्ति मिल जाएगी लेकिन यह नियुक्ति एक हफ्ते के भीतर ही हो जाएगी, यह मालूम नहीं था। आज 11 बजे मेरे पास फोन आया और बताया गया कि आपका नियुक्ति आदेश आ गया है। मैंने घर में सभी को जानकारी दी और सबको बहुत अच्छा लगा। तेजेंद्र साहू ने बताया कि मेरी मम्मी तहसील आफिस में थीं, कोविड की वजह से वो नहीं रहीं। माँ हम सबका संबल थीं, अब मुझे भी उनकी जिम्मेदारियों का अपनी क्षमता से निर्वाह करना है।@GI@