Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है








पूरब टाइम्स , रायपुर . छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को प्रतिष्ठित सर्वे कंपनी ने जनता की राय में  देश का सबसे उत्कृष्ट मुख्यमंत्री बताया है . उधर भाजपा समर्थित सोशल मीडिया व कांग्रेस के कुछ असंतुष्ट लोगों ने उनकी कुर्सी को अस्थिर बताया है . हालात ये हो गये कि प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के दिल्ली चक्कर लगाने को भी शक की निगाह से देखा जाने लगा . यदि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की कुर्सी पर कोई बदलाव चाहती तो कांग्रेस हाई कमान द्वारा सीधे दिशा निर्देश देने में कोई भी परेशानी नहीं थी परन्तु उसने इस बात को सिरे से नकार दिया . इधर छ ग सरकार को अस्थिर करने की चाह रखने वाले स्वास्थ्य मंत्री को भी भ्रमित करने लगे , जिससे उनके द्वारा भी अस्पष्टता लिये हुए बयान बाज़ी की गई . वैसे यह मामला तूल पकड़ने  के साथ ही ठंडा हो गया है . अब देखने वाली बात यह होगी कि नेतृत्व परिवर्तन की बात को हवा देती भाजपा कब ठंडी पड़ती है और कांग्रेस नेतृत्व असंयमित कार्य व्यव्हार करने वाले अपने पार्टी के नेताओं पर कब कार्यवाही करती है . पूरब टाइम्स की एक रिपोर्ट ... 



कांग्रेस का हाईकमान,  छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री के तथाकथित आपसी खींचतान पर खामोश है और कांग्रेस का प्रदेश संगठन इस मामले पर प्रतिक्रिया देने से बचाता फिर रहा है लेकिन विडंबना यह है कि भाजपा का हाई कमान इस उम्मीद को कायम रखे हुए है कि कांग्रेस के दबे नेता आपस मे भिड़ेंगे और सत्ता का कुछ हिस्सा छटक कर छत्तीसगढ़ भाजपा के झोली में आ जायेगा . गौर तलब रहे कि छत्तीसगढ़ के राजनैतिक गलियारों में गरमा गर्म चर्चाएं तो हो रही है लेकिन प्रदेश के भाजपा और कांग्रेस के विधायक व नेता राजनीतिक अस्थिरता को भांपने मे विफल हो रहे है और कांग्रेस के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री के दिल्ली आवाजाही पर नजर गड़ाकर प्रदेश की समस्याओं को नजरंदाज कर रहे हैं 



छत्तीसगढ़ में कायम हुई पंद्रह साल की भाजपा सरकार विगत विधानसभा चुनाव में लड़खड़ा कर  गिर गई और मजबूत विपक्ष को भूमिका के लिए भी विधायको की सम्मानजनक संख्या को भी हासिल नहीं कर पाई . जिसके बाद छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने अपने प्रदेश अध्यक्ष को मुख्यमंत्री बनाकर छत्तीसगढ़ में अपनी सरकार स्थापित की लेकिन जैसे ही इस सरकार को उसके कामों के आधार पर भाजपा ने घेरना शुरू किया तो भूपेश बघेल सरकार ने एक ऐसा दांव खेल दिया जिसमे कांग्रेस सरकार के असंतुष्ट विधायकों के साथ - साथ असम्मान जनक विधायको के साथ छत्तीसगढ़ विधानसभा में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाने वाली भाजपा भी फंसी हुई नजर आ रही है . अब आलम यह है कि भूपेश सरकार को कमजोर बताने वाले लोग रायपुर के हवाई अड्डे पर निगरानीकर्ता की भूमिका निभाने के अलावा कुछ नहीं कर पा रहे है .


विगत कुछ महीनों से छत्तीसगढ़ विधानसभा का कामकाज प्रदेश को अपेक्षित उचाईया दिलाने के बजाय मुख्यमंत्री गिराओ और नया मुख्यमंत्री बनाओ,  जैसे गैर जिम्मेदाराना राजनीतिक माहौल में फंसा हुआ दिखाई पड़ रहा है . प्रेस और मीडिया का एक बड़ा तबका भी असंतुष्ट विधायकों के साथ बड़े राजनीतिक तूफान के इंतजार में प्रदेश के सर्वांगीण विकास के मुद्दे को नजरंदाज किए हुए है , इसलिए स्वाभाविक है कि इसका फायदा सिर्फ छत्तीसगढ़ के भूपेश बघेल सरकार को मिल रहा है .  छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य की आपसी राजनैतिक जुगलबंदी मे कांग्रेस के असंतुष्ट विधायक और भाजपा का संगठन मृगतृष्णा जैसी काल्पनिक स्थिति में फंस गया है . उल्लेखनीय है कि भाजपा और कांग्रेस का हाई कमान भी इस राजनैतिक मृगतृष्णा जैसी स्थिति का खूब मजा ले रहा है . परिणास्वरूप छत्तीसगढ़ के किसी भी नेता को केंद्र की राजनीति में अपना स्थान बनाने का अवसर नहीं मिल रहा है और बड़े नेता केंद्रीय राजनीति में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करवाने से वंचित होना पर रहा है



पूरब टाइम्स। आज हम आपको एक ऐसे अनोखे मंदिर के बारे में बताने वाले हैं, जहां पर भगवान को नूडल्स और चाऊमीन का भोग लगाया जाता है। यहां पर भक्तों को प्रसाद के तौर पर चाइनीज फूड दिया जाता है। इस अनोखे मंदिर का नाम चाइनीज काली माता का मंदिर है। काली माता का ये मंदिर पश्चिम बंगाल के टेंगरा में स्थित है। यहां पर बड़ी संख्या में हिंदू भक्तों के साथ साथ चीनी और बौद्ध धर्म से जुड़े लोग भी माता का दर्शन करने के लिए आते हैं। अपने इसी अनोखेपन के कारण काली माता का ये मंदिर दुनिया भर में जाना जाता है। इस मंदिर में माता की पूजा के बाद भक्तों को प्रसाद में नूडल्स, फ्राइड राइस, चाऊमीन और मंचूरियन मिलता है। इस मंदिर के भीतर बड़ी संख्या में भक्तों का जमावड़ा लगा रहता है। इसी सिलसिले में आइए जानते हैं चाइनीज काली माता के मंदिर के बारे में -


अचानक एक दिन किसी चीनी लड़के की तबियत खराब हो गई। उसके बचने की बहुत कम संभावना थी। कुछ समय बाद लड़के के माता पिता ने उसके स्वास्थ्य को लेकर माता से प्रार्थना की और माता काली की श्रद्धापूर्वक ढंग से पूजा की। माता की पूजा के बाद लड़का पूरी तरह स्वस्थ हो गया। इससे उसके मां बाप काफी खुश हुए और उन्होंंने वहां पर चाइनीज काली माता के मंदिर का निर्माण करवाया। तब से इस मंदिर में कई चीनी लोग आकर पूजा अर्चना कर रहे हैं। यही नहीं मंदिर के भीतर कई चीनी पुजारी भी हैं। यहां पर आए भक्तों को प्रसाद के रूप में चॉप्सी और चाउमीन दिया जाता है। 


पूरब टाइम्स दुर्ग। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सुश्री सरोज पांडेय  ने अपने उद्बोधन में कहा कि दुर्ग ने मुझे बहुत प्यार दिया आशीर्वाद दिया लेकिन अब यहाँ की जर्जर हालत देख के आत्मा दुखी होती है , उन्होंने वृक्षारोपण के महत्व बताते हुए मोदी जी के जन्मदिवस की शुभकामनाएँ दीं व वृद्ध ग्रामीण से केक कटवाया । इस उपलक्ष में प्रदेश मंत्रीप्रदेश मंत्री श्रीमती उषा टावरी, श्रीमती चंद्रिका चंद्राकर, माया बेलचंदन , कांतिलाल जैन , जिला मंत्री दिनेश देवांगन, मनोज मिश्रा, नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा, चैनसुख भतड , भज्यूमो अध्यक्ष नितेश साहू , मंडल अध्यक्ष सतीश समर्थ , दीपक चोपड़ा ,पोषण साहू ,  राकेश यादव , संदीप जैन , राकेश सेन , टेखन सिन्हा, गौरव शर्मा , संदीप भाटिया, और भारी संख्या में कार्यकर्ता व जनसमूह उपस्थित थे। यह जानकारी जि़ला मीडिया प्रभारी के एस चौहान ने दी ।

पूरब टाइम्स दुर्ग । श्रुति फाउंडेशन छत्तीसगढ़ नामक संस्था ने  भिलाई के इस्लाम नगर में एक जरूरतमंद परिवार की शबनम को सिलाई मशीन प्रदान किया ।श्रुति फाउंडेशन की फाउंडर/अध्यक्ष नीतू श्रीवास्तव ने बताया कि खुशी और सबा दोनो बहने सिलाई तो सीख ली पर आर्थिक हालात ठीक न होने के कारण वो परिवार सिलाई मशीन लेने में सक्षम नही था।इस परिवार ने जब मुझसे संपर्क किये और जब मशीन की बात मुझसे की तो मैंने इस परिवार को आश्वासन दी कि मैं बच्चियों के लिए मशीन जरूर दूँगी ताकि ये बच्चियां अपने बल बूते पर कुछ अच्छा कर सके। आज सबा और  खुशी के चेहरे की खुशी देख कर मुझे बहुत सुकून मिला। संस्था की सदस्य नीलू श्रीवास्तव भी साथ थी इस दौरान उन्होंने कहा कि, यकीनन हम सब के लिए सब कुछ तो नही कर सकते।पर कुछ के लिए कुछ तो कर ही सकते है और ये छोटा सा साथ छोटा सा सहयोग जब किसी की खुशी बनता है तब उस सुकून को बयां नही किया जा सकता।