Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



कोरबा। आंगन में बेफिक्र खेल रही सवा साल की बच्ची की जान उस वक्त आफत में पड़ गई, जब अचानक उसे एक सुअर अपने जबड़ों में दबोचकर भागने लगा। अभी-अभी घर से निकलकर उसकी दादी भी डेहरी पर बैठी थी कि यह नजारा देख उसकी भी सांस अटक गई। मासूम की चीख सुनकर माता-पिता व मोहल्ले के लोग मदद को पहुंचे और वहीं का एक पालतू कुत्ता भी उसके पीछे भागा। श्वान की वफादारी काम आई और उसके भौंकने की तेज आवाज से डरकर विचलित सुअर बच्ची को वहीं छोड़ भाग निकला। तब जाकर परिजन व बस्ती के लोगों की जान में जान आई। बुधवार-गुरुवार की दरम्यानी रात की यह घटना इमलीडुगगू बस्ती का है, जहां महज सवा साल की बालिका आरती जब घर के आंगन में खेल रही थी, तो अचानक हमलावर हुए एक सुअर ने झपट्टा मारकर उसे दांतों में दबोच लिया भागने लगी।

बच्ची की चीख सुनकर माता-पिता भी दहशत में आ गए और मदद के लिए पीछे भागने लगे। इस बीच मोहल्ले का एक कुत्ता जोर-जोर से भौंकने लगा और वह भी सुअर की ओर दौड़ पड़ा। कुत्ते की गुर्राहट से सुअर डरकर विचलित हो गया और बालिका आरती को छोड़ वहां से भाग निकला। इस घटना से बच्ची के सिर, हाथ व कान में जख्म के निशान बन गए हैं। मोहल्ले में इस तरह की घटना सामने आने से बस्ती के लोगों में सूअर को लेकर भय व्याप्त है।

रायगढ़। रायगढ़ जिले के खरसिया में हुई 13 लाख रुपए लूट के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. पुलिस ने 48 घंटे के भीतर आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से लूट की रकम और घटना में प्रयुक्त स्कार्पियो वाहन को बरामद कर लिया है. गिरफ्तार किये गए आरोपियों में जांजगीर चांपा के अडभार नगर पंचायत अध्यक्ष और भाजपा नेता कार्तिक रात्रे, उसका पुत्र विक्रम रात्रे और विक्रम का साला चित्रसेन सतनामी है.पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि जांजगीर-चांपा के अडभार निवासी कन्हैया राठौर पेशे से ठेकेदार है. वह नगर पंचायत में ठेकेदारी करता है और उसका बैंक एकाउंट एसबीआई खऱसिया में है. दो दिसंबर को कन्हैया ने अपने सहयोगी अगतराम रात्रे को 7 लाख और 6 लाख के हस्ताक्षर किये हुए दो सेल्फ चेक पैसे निकालने के लिए दिये थे. अगतराम रात्रे ने इसकी जानकारी अपने भाई और नगर पंचायत अध्यक्ष कार्तिक राम रात्रे को दिया. आरोपी कार्तिक राम गांव के विकास देवागंन को बैंक से पैसे लाने के लिए बैंक भेज दिया. वहीं कार्तिक अपने भाई अगतराम के साथ तीन दिसंबर को स्कॉर्पियो स्क्चढ्ढ बैंक खरसिया पहुंचे. तीनों एक साथ बैंक के अंदर चेक कैस कराने गये. बैंक में सेल्फ चेक से विकास ने 6 लाख तथा अगतराम ने 7 लाख रूपये निकाले. विकास देवांगन 6 लाख रूपये ठेकेदार कन्हैया को देने के लिये अगतराम को देकर उसी समय बैंक में देकर चला गया. अगतराम 6 लाख रूपये को थैला में तथा 7 लाख को बैग में रखकर दोपहर करीब 12:50 बजे बैंक से कार्तिकराम रात्रे के साथ निकला. दोनों बैंक से 40 मीटर आगे गए ही थे कि बाइक सवार दो नकाबपोश वहां पहुंचे और अगतराम के पास पैसों से भरा झोला और बैग लूटकर फरार हो गए. 

रायपुर।  छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयुक्त आयुक्त ठाकुर राम सिंह ने प्रदेश में नगरीय निकाय चुनावों की घोषणा कर दी। पूरे प्रदेश में एक ही चरण में 21 दिसंबर को निकाय चुनाव के लिए मतदान होगा। इसके बाद 24 दिसंबर को मतगणना होगी। इस घोषणा के साथ ही छत्तीसगढ़ में आचार संहिता लागू हो गई है। 30 नवंबर को नोटिफिकेशन जारी होगा इसी के चुनाव नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। 6 दिसंबर को इसकी नामांकन की अंतिम तारीख रहेगी। 7 दिसंबर को नामांकन की स्क्रूटनी होगी।  9 दिसंबर तक उम्मीदवार नाम वापस ले सकते हैं। 21 दिसंबर को सुबह 8 से शाम 5 बजे तक मतदान होगा। नक्सल प्रभावित इलाकों कोंडागांव, दंतेवाड़ा, कांकेर, बीजापुर, सुकमा में सुबह 7 से 3 बजे तक मतदान होगा। राज्य में कुल 169 नगरीय निकायों में से कुल 155 निकायों में चुनाव होना है जिनमें 10 निगर निगम शामिल हैं।  
इस बार नगर निगमों में महापौर का चुनाव अप्रत्यक्ष प्रणाली से होने वाला है। यानी निगम में जीत कर आने वाले पार्षद अपने बीच से ही महापौर का चुनाव करेंगे। राज्य में नगरीय निकायों के लिए मतदान करने वाले कुल 3982601 मतदाता हैं जिनके लिए 5406 मतदान केंद्र राज्य भर में बनाए जाएंगे। इसके साथ ही भिलाई और बिरगांव के 3 वार्डों के लिए उपचुनाव भी होंगे। बता दें कि इस वर्ष नगरीय निकाय चुनावों में लंबे अरसे के बाद ईवीएम की बजाए मतपत्रों की पुरानी प्रणाली से मतदान होगा। इस प्रक्रिया में लंबा समय लगता है और लंबे अरसे के बाद एक बार फिर इस तरह चुनाव होना अपने आप में रोचक होगा। प्रशासन ने भी अपने स्तर पर निकाय चुनावों को लेकर तैयारी पूरी कर ली है। निर्वाचन आयोग के तारीखों के ऐलान के साथ ही पूरा सरकारी अमला इस व्यवस्था में जुट जाएगा।

रायपुर।  छत्तीसगढ़ में नगरीय निकाय चुनाव के लिए ऐलान की घंटी बजने वाली है। सोमवार की शाम तारीखों का ऐलान हो जाएगा। इसके साथ ही शाम से आचार संहिता भी लागू हो जाएगी। राज्य निर्वाचन आयोग ने राज्य में नगरीय निकाय चुनावों को लेकर अपनी तैयारी पूरी कर ली है। सोमवार की दोपहर तीन बजे राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर राम सिंह प्रेसवार्ता में मतदान की तारीखों की घोषणा करेंगे। इसके साथ ही राज्य में आचार संहित लग जाएगी। राज्य में कुल 169 नगरीय निकायों में से कुल 155 निकायों में चुनाव होना है जिनमें 10 निगर निगम शामिल हैं। इस बार नगर निगमों में महापौर का चुनाव अप्रत्यक्ष प्रणाली से होने वाला है। यानी निगम में जीत कर आने वाले पार्षद अपने बीच से ही महापौर का चुनाव करेंगे।

बता दें कि इस वर्ष नगरीय निकाय चुनावों में लंबे अरसे के बाद ईवीएम की बजाए मतपत्रों की पुरानी प्रणाली से मतदान होगा। इस प्रक्रिया में लंबा समय लगता है और लंबे अरसे के बाद एक बार फिर इस तरह चुनाव होना अपने आप में रोचक होगा। लगाया जा रहा है कि दिसंबर के शुरूआती पखवाड़े में मतदान की तिथियां तय होंगी। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार दो चरणों में चुनाव की प्रक्रिया को संपन्न् कराया जाएगा। प्रशासन ने भी अपने स्तर पर निकाय चुनावों को लेकर तैयारी पूरी कर ली है। निर्वाचन आयोग के तारीखों के ऐलान के साथ ही पूरा सरकारी अमला इस व्यवस्था में जुट जाएगा। बहरहाल दोपहर तीन बजे के बाद पूरी स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। तारीखों के ऐलान के साथ ही राज्य में आचार संहिता लागू हो जाएगी।

दंतेवाड़ा।  लंबे अरसे के बाद नक्‍सलियों ने किरंदुल में आगजनी को अंजाम दिया है। रविवार की दोपहर एनएमडीएसी की एसपी-3 स्‍क्रीनिंग इलाके में नक्‍सलियों ने 10 वाहनों को फूंक दिया। नक्‍सली चालक- मजदूरों के मोबाइल भी लूटकर ले गए बड़ी संख्‍या में पहुंचे नक्‍सली मौजूद चालक- मजदूरों के मोबाइल भी लूटकर ले गए हैं। वारदात के काफी देर बाद फोर्स मौके पर पहुंची तब तक नक्‍सली घटना को अंजाम देकर भाग गए। प्‍लांट के लिए रास्‍ता निर्माण और पहाड़ व समतलीकरण प्रगति पर जानकारी के मुताबिक एनएमडीसी के नए प्रोजेक्‍ट एसपी-3 प्‍लांट के लिए रास्‍ता निर्माण और पहाड़ व समतलीकरण किया जा रहा है। इसी कार्य पर लगे छह टिप्‍पर, दो डोजर और एक जेसीबी को आग लगा दी गई। आग लगाने हथियार से लैस नक्‍सली पहुंचे थे वाहन चालक और अन्‍य लोगों के मुताबिक करीब 100 की संख्‍या में नक्‍सली पहुंचे थे। आधे के पास हथियार थे। उन्‍होंने वहां काम करने से मना करते धमकाया है कि दोबारा नजर आए तो मार दिए जाओगे। उनके मोबाइल भी नक्‍सली ले गए हैं।

नक्‍सलियों के दो संगठनों ने वारदात को अंजाम दिया इस वारदात को मलांगिर एरिया कमेटी के नक्‍सलियों के साथ ही दरभा डिवीजन के लीडर साईनाथ और मिलिट्री दलम के 26 नंबर प्‍लाटून कमांडर देवा ने अंजाम दिया है। साल भर से चल रहा काम इलाके में एनएमडीसी के एसपी-3 स्‍क्रीनिंग प्‍लांट के लिए पहाड़ में चट्टान कटाई और समतली करण किया जा रहा है। यह काम दक्षिण भारत की दो कंपनियां सूर्योदय और रत्‍ना के माध्‍यम से चल रहा है।

रायपुर। जीएसटी विभाग की ओर से कारोबारियों को एक बड़ी राहत दी गई है। बताया जा रहा है कि अब डेढ़ करोड़ से कम टर्न ओवर वाले कारोबारियों जीएसटी रिटर्न भरना आवश्यक नहीं है। हालांकि 30 नवंबर तक जीएसटी रिटर्न दाखिल करना जरूरी है। इसमें वार्षिक रिटर्न 1.5 करोड़ से ज्यादा टर्नओवर वाले कारोबारियों के लिए है और जीएसटी ऑडिट दो करोड़ से ज्यादा टर्नओवर वाले कारोबारियों के लिए है। विभागीय अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार इसके साथ ही कारोबारियों को एक बड़ी राहत यह भी दी गई है कि 40 लाख टर्नओवर वाले कारोबारियों को जीएसटी में पंजीयन कराने की भी आवश्यकता नहीं है। अब जीएसटी सॉफ्टवेयर भी थोड़ा अपग्रेड किया गया है, इससे जीएसटी रिटर्न भरने की प्रक्रिया थोड़ी आसान हो गई है।

रायपुर। छत्तीसगढ़ के अंतर्गत आने वाले भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के टोल प्लाजा पर यात्रियों को अब अपनी बारी का इंतजार कर समय बर्बाद नहीं करना पड़ेगा। एनएचएआई ने टोल प्लाजा पूरी तरह से कैशलेस करने जा रहा है। शनिवार दो नवंबर को इसका ट्रायल होगा। ट्रायल के बाद इसे एक दिसंबर से सभी टोल प्लाजा पर लागू कर दिया जाएगा। यात्रियों की समस्या को देखते हुए टोल प्लाजा पर फास्टैग ईटीसी लगा दिया गया है। यात्री फास्टैग की चिप खरीदकर बिना रुके टोल प्लाजा क्रास कर सकेंगे। चिप सीधे वाहन मालिक के खाते से जुड़ी रहेगी। खाते से खुद-ब-खुद पैसा कट जाएगा। ज्ञात हो कि 14 अक्टूबर को दिल्ली में केंद्रीय राज्य प्राधिकरण मंत्री ने अधिकारियों की बैठक ली थी। बैठक के बाद प्रदेश में स्थित सभी टोल प्लाजा को कैशलेस करने के निर्देश दिए थे। उसके बाद अधिकारियों ने तैयारी शुरू कर दी थी। प्रदेश के सभी टोल प्लाजा जिसमें ढाख टोल प्लाजा दुमदुमा नाका ठाकुर टोल प्लाजा लाखौली टोल प्लाजा छुई पाली टोल प्लाजा में शनिवार को ट्रायल लिया जाएगा। टोल प्लाजा को कैशलेस और परेशानी रहित बनाने के लिए एनएचएआई द्वारा सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग ईटीसी लगा दिया गया है।

चिल्हर को लेकर अब नहीं होगी किचकिच टोल प्लाजा पर अक्सर गाड़ियों की लंबी कतार देखने को मिलती है। वाहन संचालक अपनी बारी का इंतजार करते हैं। इसके साथ ही अक्सर छुट्टे पैसे को लेकर विवाद की स्थिति भी निर्मित होती है। इन समस्याओं को देखते हुए एनएचएआइ टोल प्लाजा पर पीओएस से फास्टैग नामक चिप दे रहा है। यात्री फास्टैग चिप खरीदकर अपने वाहन में लगाना अनिवार्य है। इससे यह सहूलियत होगी कि टोल प्लाजा पर वाहन पहुंचते ही स्कैनर चिप को स्कैन करेगा। इसके बाद खुद-ब-खुद टोला प्लाजा का गेट खुल जाएगा। वाहन मालिक के खाते से पैसा कट जाएगा कैश नहीं देना पड़ेगा। एनएचएआइ द्वारा इस पर ढाई प्रतिशत कैश बैक भी दिया जा रहा है। इससे लोगों को काफी राहत मिलेगी।

रायपुर। कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने छत्तीसगढ़ में आयोजित राज्योत्सव में शामिल नहीं होंगी। राज्योत्सव के शुभारंभ कार्यक्रम में सोनिया गांधी को मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होने के लिए भूपेश बघेल सरकार ने न्योता दिया था। सरकार के न्योता को पहले सोनिया गांधी ने स्वीकार कर लिया था, लेकिन अब उन्होंने इनकार कर दिया है। इसके पीछे स्वास्थ्य कारणों का हवाला दिया गया है। छत्तीसगढ़ राज्य के 20वें स्थापना दिवस पर तीन दिवसीय राज्योत्सव का आयोजन सरकार द्वारा किया जा रहा है। 1 से 3 नवम्बर तक रायपुर के साइंस कालेज मैदान में राज्योत्सव का आयोजन हो रहा है। राज्योत्सव के पहले दिन शुभारंभ कार्यक्रम में सोनिया गांधी को मुख्य अतिथि बनाया गया था। उनके आगमन को लेकर जगह जगह बैनर पोस्टर भी लगा दिए गए थे, लेकिन अब स्वास्थ्यगत कारणों से उनका दौरान रद्द हो गया है।

रायपुर।  छत्तीसगढ़ में ऐंटी करप्शन ब्यूरो ने बुधवार को राजसमंद जिले में कार्यरत एक माइनिंग इंजिनियर तथा एक दलाल को चार लाख रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। ब्यूरो महानिदेशक आलोक त्रिपाठी ने रायपुर में इस मामले की जानकारी देते हुए कहा कि आरोपी इंजीनियर गोपाल बच्छ शिकायतकर्ता राजेन्द्र यादव से उसकी ग्रेनाइट खान की लीज बदलने की स्वीकृति के एवज में 25 लाख रूपये की मांग कर रहा था। 

त्रिपाठी ने बताया कि सत्यापन के समय आरोपी माइनिंग इंजिनियर गोपाल बच्छ द्वारा भीलवाड़ा स्थित अपने आवास पर राजेंद्र से 25 लाख रुपए की रिश्वत की मांग करने की पुष्टि हुई। इस दौरान गोपाल बच्छ ने राजेंद्र से 10 लाख रुपए पहली किश्त के रूप में देने के लिए कहा। त्रिपाठी के अनुसार एसीबी ने राजेंद्र से गोपाल बच्छ को 4 लाख रुपये देने के लिए कहा लेकिन इंजिनियर ने पूरे 10 लाख रुपए नहीं होने के कारण रिश्वत राशि नहीं ली। दोस्त को पैसे देने को कहा इसके साथ ही माइनिंग इंजिनियर गोपाल बच्छ ने राजेंद्र से कहा की रिश्वत की राशि वह बिजौलिया में ही उसके मित्र लक्ष्मण धाकड़ को दे। इसके बाद कोटा ब्यूरो के दल ने बुधवार को दलाल लक्ष्मण धाकड़ को बिजौलिया में चार लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया। वहीं आरोपी बच्छ को उसके भीलवाड़ा स्थित आवास से गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तारी के बाद डीजी ने कहा कि आरोपी इंजिनियर से पूछताछ की जा रही है, इसके अलावा मामले की जांच करते हुए और तथ्यों का भी पता लगाया जा रहा है।

रायपुर।  बाइक से गिरकर बुजुर्ग महिला की मौत होने के मामले में पुलिस ने उसके दामाद को आरोपी बनाया है। घटना के वक्त बाइक दामाद ही चला रहा था। लिहाजा पुलिस ने इस मौत का जिम्मेदार दामाद को माना है। घटना शहर के उरला इलाके में बीती शाम हुई। आरोपी होलकर निषाद अपनी सास रामहिन बाई को लेकर जा रहा था। यह दोनों एक रिश्तेदार के  दशगात्र कार्यक्रम से लौट रहे थे। उरला डेम के पास बाइक स्लीप हो गई। बाइक का संतुलन बिगड़ने पर चालक और बुजुर्ग गिर गए। बुजुर्ग के सिर पर गंभीर चोट आई थी जिससे उनकी मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि मृतका बेमेतरा निवासी मनोज निषाद की मां हैं। कुछ ग्रामीणों से बताया कि बाइक रफ्तार में थी। घटना स्थल का मुआयना भी किया गया। जहां यह हादसा हुआ वहां कुछ चश्मदीदों से इस घटना के बारे में पूछताछ भी की जा रही है।


धमतरी।  धमतरी में पुलिस ने शनिवार को चार मंजिला एक इमारत में चल रही इस फैक्ट्री में छापा मारकर पुलिस ने करीब 30 लाख रुपए का नकली माल सहित मशीनें और अन्य सामान जब्त किया। इस मामले में पुलिस ने फैक्ट्री के तीन संचालकों को हिरासत में ले लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। बताया जा रहा है कि इस अवैध कारोबार के खिलाफ शुक्रवार देर शाम से ही कार्रवाई शुरू कर दी गई थी।  बिक्री कम होने पर फैक्ट्री प्रबंधन ने की शिकायत इस पर खरीदार बनकर पहुंची पुलिस मकान में नकली पान मसाले के पैकेट दरअसल प्रदेश में ब्रांडेड कंपनियों के पान मसाले की बिक्री में गिरावट हो रही थी। इस पर कंपनियों की ओर से सर्वे किया गया तो पता चला कि माल दुकानोंं में तो है, लेकिन नकली है। इस पर कंपनी की ओर से पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई। शिकायत के बाद शुक्रवार शाम करीब 5 बजे कंपनी के अधिकारी खरीदार बनकर बस स्टैंड पहुंच गए। यहां उन्होंने गुटखा बनाने वाले सिहावा चौक निवासी मोहन नामक व्यापारी से फोन पर बातचीत की दोनों के बीच 250 पैकेट राजश्री पान मसाला लेने के लिए के लिए सौदेबाजी हुई। 



इसके बाद पुलिस ने शनिवार को मोहन मंधान उसके बेटे सागर मंधान और एक कारोबारी प्रहलाद मूलवानी को हिरासत में लिया। पूछताछ में पता चला कि तीनों ही नकली पान मसाला बनाने वाली फैक्ट्री के संचालक हैं। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने टिकरापारा स्थित मकान में छापेमारी कर वहां से पान मसाना बनाने की मशीन तैयार किए गए नकली राजश्री और विमल पान मसाला के पाउच बरामद किए। साथ ही ग्राम शकरवारा में दबिश के दौरान तीन मशीनें और भारी मात्रा में नकली पान मसाला बरामद हुआ है। 



बरामद माल की कीमत करीब 30 लाख रुपए बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि एक मशीन से हर मिनट 450 पाउच तैयार होते हैं। इस तरह 3 मशीनों से  करीब 1350 पाउच व्यापारी तैयार करता था। इसमें सुपारी की जगह चिकनी सुपारी और चावल की कनकी व कत्थे की जगह केमिकल और बोरिक पाउडर का इस्तेमाल किया जा रहा था। बताया जा रहा है कि नकली पान मसाले का कारोबार करीब 20 वर्षों से धमतरी में चल रहा था। यहां से पान मसाला छत्तीसगढ़ के अलावा ओडिशा मध्य प्रदेश सहित कई अन्य राज्यों में सप्लाई किया जाता है। 

रायपुर।राजधानी रायपुर सहित प्रदेश के अनेक हिस्सों में सुबह से बादल छाया हुआ है। दोपहर में रायपुर में तेज बारिश हुई। अगले 24 घंटों में प्रदेश में अनेक स्थानों पर गरज चमक के साथ बारिश होने और पूरे प्रदेश में बादल छाए रहने का पूर्वानुमान है। कांकेर में बीती रात करीब चार घंटे तक तेज बारिश होने की खबर है। मानसून की बिदाई के बाद हो रही इस बारिश ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। अर्ली वेराइटी के धान फसल की कटाई में जुटे किसान उपज की सुरक्षा को लेकर परेशान हैं। वहीं दीपोत्सव की तैयारी में जुटे नागरिकों को घरों की रंगाई पोताई में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मानसून की विदाई के साथ ही प्रदेश के अनेक हिस्सों में गुलाबी ठंड ने दस्तक दे दी। इस बीच अचानक मौसम का मिजाज बदलने से पेंड्रा और अंबिकापुर का न्यूनतम तापमान लगातार 20 डिग्री के नीचे बना हुआ है। लेकिन अन्य शहरों का पारा इससे अधिक है। दिन का तापमान बढ़ने की दो वजह माना जा रहा है। पहला मैदानी इलाकों में गुरुवार को खिली धूप, दूसरा बस्तर-सरगुजा संभाग में बदली। हालांकि प्रदेश का मौसम खुशनुमा होना शुरू हो चुका है, यानी की गुलाबी ठंड ग्रामीण क्षेत्रों में और शहर के बाहर महसूस की जाने लगी है।

गुरुवार को रायपुर में सुबह से ही धूप खिली रही और तापमान चढ़ा हुआ था। मौसम विभाग ने पूर्वानुमान लगाया था कि शुक्रवार को रायपुर में बदली छाई रहेगी और शाम को गरज-चमक के साथ हल्की बूंदाबांदी होगी। दोपहर में ही तेज बारिश होने लगी। इससे जनसामान्य को परेशानियां हुई। रायपुर में नवंबर के अंत में न्यूनतम तापमान 20 डिग्री के नीचे पहुंचने का पूर्वानुमान है।

पूरब टाइम्स, रायपुर। थानों की विशाल क्षेत्र तथा काम के बोझ को देखते हुए अब पुलिस थानों में एक और टीआई (इंस्पेक्टर) नियुक्त किया जाएगा। इसका मतलब यह हुआ कि अब थानों में दो टीआई हो जाएंगे। इसकी शुरुवात राजधानी के आमानाका, टिकरापारा, सिविल लाइन, कोतवाली तथा खमतराई थाने से की जाएगी। ये राजधानी के बड़े थाने हैं। नये नियुक्त टीआई को सुपर टीआई कहा जाएगा। ये टीआई पहले से पदस्थ टीआई के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक होंगे। बताया जा रहा है कि राजधानी के सभी थानों में कार्यों की अधिकता है। साथ ही वीआईपी ड्यूटी के कारण मूल काम नहीं हो पाते। अपराधों की जांच में भी दिक्कत आती है। राजधानी में आए दिन धरना प्रदर्शन व जुलूस के कारण कानून व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस बल की आवश्यकता होती है। थाने के अधिकारी ज्यादातर इन्हीं कामों में व्यस्त रहते हैं। इसी के चलते एक और टीआई पदस्थ करने का निर्णय लिया गया है।

रायुपर, जेएनएन। छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले में शनिवार की सुबह झालगांव के पास कार सवार कुछ लुटेरों ने एक एटीएम कैश वैन में लूट की घटना को अंजाम दिया है। हथियारबंद लुटेरों ने कैश वैन को बीच सड़क पर रोका और उसमें रखे करीब एक करोड़ 57 लाख रुपये को लूटकर कार से फरार हो गए। घटना की जानकारी पुलिस को मिलते ही अलर्ट जारी किया गया है। कार में आए थे लुटेरे

घटना के वक्त मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने बताया कि करीब पांच से छह की संख्या में लुटेरे एक कार में सवार होकर आए थे और एटीएम वैन के सामने कार अड़ा दी। बताया जा रहा है कि इस दौरान वैन पंचर होने के कारण सड़क के किनारे खड़ी हुई थी। इसके बाद वे घटना को अंजाम देकर वहां से भागने लगे। जब लुटेरे भाग रहे थे उस वक्त ग्रामीणों ने उन्हें रोकने के लिए पत्थर भी चलाए, लेकिन लुटेरे इसकी परवाह किए बगैर नवागांव की ओर भाग गए।

लुटेरे की जांच है जारी

घटना की जानकारी जैसे ही जिले के पुलिस कप्तान को मिली, पूरे विभाग में हड़कंप मच गया। अब पुलिस ग्रामीण की निशानदेही के आधार पर लुटेरों की तलाश में जुटी हुई है। एसपी प्रशांत ठाकुर के निर्देश पर जिलेभर में त्वरित नाकेबंदी की गई। पुलिस मुख्यालय ने भी घटना के बाद सभी जिलों में सघन जांच के आदेश जारी किए हैं। कैश वैन के अचानक पंचर होने और फिर इस तरह लुटेरों के हमला बोलने की इस घटना को लेकर पुलिस हर पहलू से जांच कर रही है। घटना के दौरान वैन में गनमैन भी मौजूद था, इसके बावजूद घटना कैसे हुई। पुलिस हर पहलू से घटना की जांच कर रही है।




डोगरगढ़।  नवरात्र पर्व में भीड़ का फायदा उठाकर दर्शनार्थियों का पॉकेट मारने वाले 20 युवाओं को पुलिस ने पकड़ा है। पकड़े गए अधिकतर युवक 18 से 25 वर्ष के हैं तथा राजनांदगांव व रायपुर के हैं। टीआई नासिर बाठी ने बताया कि भगत राम पिता ईश्वरी ढ़ीमर बसंतपुर राजनांदगांव, सोमेश्वर पिता गोरेलाल यादव बसंतपुर राजनांदगांव, गौरव पिता भोला यादव नंदई बसंतपुर, सुनील पिता भोला यादव नंदई बसंतपुर, मोनू पिता केवल सोनकर नंदई, विक्की पिता रतन लाल तिवारी अटल आवास पेंड्री राजनांदगांव, अजय पिता उत्तम नेताम गौरीनगर, अंकित पिता राजेश जॉन गौरी नगर, तरूण पिता कृष्णा नेताम गौरी नगर, उमेश पिता नरेश सोनवानी संगम चौक तुलसीपुर, पीयूष पिता श्रवण बघेल घड़ी चौक रायपुर, उमेश पिता अशोक यादव सरोना टाटीबंध रायपुर, वीरू पिता भोलाराम बंजारे बलौदा रायपुर, गोपाल पिता रोहित बघेल कोटा करीर चौक रायपुर, राजा पिता कोमल चंद निषाद महादेव घाट रायपुर, टोमन पिता अमन लाल साहू मोवा पंडरी रायपुर, शेखर पिता रतन लाल भोंडे टिकरा पारा रायपुर, अतुल पिता रमेश वासनिक गौतम नगर भिलाई, सोनू पिता दुलेश्वर दीपक सेन आमानाका रायपुर तथा विकास पिता राधेश्याम शर्मा राजेंद्र नगर रायपुर को पुलिस ने दर्शनार्थियों का पॉकेट मारते हुए पकड़ा है। पॉकेट मार भीड़ का फायदा उठाकर सफाई से पर्स, पैसे व मोबाइल पार कर देते थे।


बिलासपुर। चीफ जस्टिस पीआर रामचंद्र मेनन व जस्टिस पीपी साहू की डीबी ने राज्य सरकार द्वारा ओबीसी आरक्षण को 27 प्रतिशत किए जाने के आदेश पर रोक लगा दी है। डीबी ने एक अक्टूबर को याचिकाओं में सुनवाई पूरी कर निर्णय के लिए सुरक्षित रखा था। कोर्ट के इस आदेश से सरकार को झटका लगा है। राज्य शासन ने चार सितंबर 2019 को अध्यादेश जारी कर प्रदेश में अन्य पिछड़ा वर्ग को मिलने वाले आरक्षण को 27 प्रतिशत कर दिया। इससे एसटी, एससी व ओबीसी को मिलाकर कुल आरक्षण 82 प्रतिशत से अधिक हो गया है। इसके अलावा महिला, दिव्यांग व अन्य वर्ग के लिए प्रावधान जोड़ने पर आरक्षण 90 प्रतिशत हो रहा है।

इसके खिलाफ आदित्य तिवारी, कुणाल शुक्ला, पुनेश्वरनाथ मिश्रा, पुष्पा पांडेय, स्नेहिल दुबे, अखिल मिश्रा, गरिमा तिवारी समेत अन्य ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। याचिका में कहा गया कि राज्य शासन ने बिना आंकड़े के आरक्षण को बढ़ाया है। सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देश के खिलाफ कुल आरक्षण 82 प्रतिशत किया गया है। राज्य शासन की ओर से जवाब प्रस्तुत कर कहा गया कि प्रदेश में ओबीसी वर्ग की आबादी 45.5 प्रतिशत से अधिक होने के कारण आरक्षण बढ़ाया गया है। इसके अलावा सरकार को आरक्षण बढ़ाने का अधिकार है।

महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण व तमिलनाडु में भी राज्य शासन ने आरक्षण बढ़ाया है। इसके अलावा महाजन कमेटी की रिपोर्ट को प्रस्तुत की गई। इसमें आवश्यकता अनुसार आरक्षण घटाने व बढ़ाने का अधिकार है। इस आधार पर याचिकाओं को खारिज करने की मांग की गई।

शासन के इस तर्क पर याचिकाकर्ताओं की ओर से कहा गया कि राज्य शासन ने सिर्फ एक सर्वे के आधार पर अन्य पिछड़ा वर्ग का आरक्षण बढ़ाया है। याचिका में वर्ष 2012 से लेकर 2018 तक राज्य सेवा परीक्षा में ओबीसी वर्ग के अनारक्षित सीट से चयन के आंकड़े प्रस्तुत किए गए। इसमें उनका प्रतिनिधित्व हमेशा अधिक रहा है। इससे यह नहीं कहा जा सकता कि उनका प्रतिनिधित्व कम है।

सरकार की ओर से जो डाटा पेश किया जा रहा वह केन्द्र सरकार का है। यहां लागू नहीं होता है। महाजन कमेटी की रिपोर्ट तय समय के लिए है। इसी प्रकार सरकार ने चार सितंबर को अध्यादेश जारी करने के बाद 11 सितंबर को आंकड़े एकत्र करने आयोग का गठन किया है।

50 प्रतिशत से अधिक आरक्षण संविधान की मूल भावना के अनुसार अनुच्छेद 14 व 16 का उल्लंघन है। इसे समानता का अधिकार समाप्त हो रहा है। चीफ जस्टिस की डीबी ने एक अक्टूबर को सभी याचिकाओं में एक साथ सुनवाई पूरी कर निर्णय के लिए सुरक्षित रखा था।

डीबी ने मामले को शुक्रवार को निर्णय के लिए रखा गया। याचिकाकर्ताओं एवं शासन के अधिवक्ताओं की उपस्थिति में कोर्ट ने अंतरिम आदेश पारित करते हुए राज्य शासन के 4 सितंबर के अध्यादेश पर रोक लगा दी है। हाई कोर्ट के इस आदेश से सरकार को बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने सरकार के अन्य पिछड़ा वर्गो की आबादी प्रदेश में 45 प्रतिशत से अधिक होने, व तमिलनाडू एवं मराठा आरक्षण के तर्क को अमान्य कर दिया है। याचिकाकर्ताओं की ओर से अधिवक्ता प्रतीक शर्मा, पलास तिवारी, रोहित शर्मा, शैलेन्द्र शुक्ला, वैभव शुक्ला, शक्तिराज सिन्हा समेत अन्य पैरवी कर रहे हैं।

रायपुर। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर दो अक्टूबर को चंद सामान्य परिवारों को ही राशन कार्ड (एपीएल) मिल पाया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने योजना को लांच करने के लिए विधानसभा भवन में 10 लोगों को एपीएल कार्ड दिया। वहीं, कुछ और जिलों में भी जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों ने एपीएल कार्ड का प्रतीकात्मक वितरण करके योजना की शुस्र्आत की। बताया जा रहा है कि अब तक एपीएल कार्ड प्रिंट ही नहीं हुआ है, इसलिए बाकी आवेदकों को कार्ड के लिए और इंतजार करना होगा। अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि योजना को लांच करने के लिए गिनती के कार्ड ही प्रिंट कराए गए थे। एपीएल कार्ड के लिए खाद्य विभाग ने पांच सितंबर को कार्यक्रम जारी किया था। उसके अनुसार वार्ड स्तर पर शिविर लगाकर 10 से 17 सितंबर तक आवेदन लिया जाना था। 22 सितंबर को सार्वजनिक स्थानों पर पात्र और अपात्र आवेदकों की सूची चस्पा की जानी थी।

25 सितंबर तक दावा-आपत्ति लेनी थी। इसके बाद से दो अक्टूबर से पांच अक्टूबर तक पात्र आवेदकों को राशन कार्ड उपलब्ध कराना था। शुस्र्आती दो-तीन दिनों तक शिविरों में आवेदन नहीं मिल रहा था। इस कारण 17 सितंबर तक हजारों सामान्य परिवार आवेदन जमा नहीं कर पाए थे। इसकी वजह से अंतिम तिथि बढ़ाकर 23 सितंबर कर दी गई। इसके बाद भी विभाग यही दावा करता रहा कि दो अक्टूबर से एपीएल राशन कार्ड का वितरण शुरू कर दिया जाएगा, लेकिन रायपुर के अलावा मुंगेली, कोरबा जांजगीर-चांपा और कुछ जिले शामिल हैं। कार्ड का वितरण नगरीय निकायों और पंचायतों को शिविर लगाकर करना है, जहां एपीएल कार्ड नहीं पहुंचे हैं।

रायपुर। रेलवे स्टेशनों में आम इंसानों के साथ तो लूट और चोरी की वारदातें होती रहती है. अक्सर चोर गिरोह सभी रेलवे स्टेशनों में सक्रिय रहते हैं. इनका शिकार रेल यात्री बनते हैं. कभी किसी यात्री का मोबाइल तो कभी किसी का बैग चोरी कर लिया जाता है. ये सब तो आम हो गया, लेकिन अब तो रेलवे में नेता भी सुरक्षित नहीं है. छत्तीसगढ़ प्रदेश प्रभारी और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव पीएल पुनिया के साथ दिल्ली स्टेशन में लूट की वारदात हुई है. दिल्ली से लखनऊ जाने के बाद अज्ञात युवक उनके एसी बोगी में पहुंचता है और मोबाइल छीनकर भाग जाता है. यह वारदात दिल्ली स्टेशन से छूटने के पांच मिनट बाद ही हुई. जब तक युवक को पकड़ा जाता वह धीमे चल रहे ट्रेन से कूद कर फरार हो जाता है. पीएल पुनिया इस घटना की जानकारी अपने ट्विटर के जरिए दी है. बता दें कि इससे पहले छत्तीसगढ़ के स्कूली शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम का बैग ट्रेन से चोरी हो गया था. रायपुर से पेंड्रा रोड जाते समय मंत्री का बैग अमरकंटक एक्सप्रेस से चोरी हो गया था. इसके बाद रेलवे प्रशासन और स्थानीय प्रशासन में हड़कंप मच गया था. उनके बैग में 30 हजार रुपये नगद सहित अन्य सामान मोजूद थे. स्कूल शिक्षा मंत्री ने बाद में इस चोरी को घटना पर बयान देते हुए कहा था कि पीएम मोदी ट्रेनों में चोरी करवा रहे हैं.