Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



पेंड्रा। जिले के धनपुर निवासी एक शिक्षक द्वारा आत्महत्या कर लिए जाने की खबर है। शिक्षक ने सुसाइड नोट लिखकर आत्महत्या की वजह भी बताई है। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कार्यवाही शुरू कर दी है। यह घटना पेंड्रा के धनपुर गांव की है। आत्महत्या करने वाले शिक्षक मूलत: बिलासपुर जिले में चकरभाठा के बोदरी नगर पंचायत के निवासी थे।

शिक्षक ने सुसाइड नोट में लिखा है कि उन्हें किसी से कोई शिकायत नहीं है। वे अपनी मौत के लिए किसी को जिम्मेदारी न मानते हुए लिखते हैं कि बीमारी की वजह से वे अपनी जिंदगी खत्म कर रहे हैं। पेंड्रा पुलिस को इस घटना की सूचना दी गई। पुलिस मौके पर पहुंच चुकी है। पुलिस ने सुसाइड नोट बरामद कर लिया है। शव का पंचनामा, फिर पीएम कराने की कार्यवाही की गई है। पुलिस ने मर्ग कायम करते हुए मामले को जांच लिया है।@GI@


जिसके बाद महानिरीक्षक पंजीयन ने रायपुर कलेक्टर को पत्र लिख कार्यालय को बंद कर एक सप्ताह के लिए सील करने के लिए पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने पॉजिटिव कर्मचारी के संपर्क में आऩे वाले तमाम कर्मचारियों को होम क्वारंटाइन किये जाने के लिए लिखा है। इसके साथ ही उन्होंने कार्यालय संचालन की व्यस्था कराए जाने के लिए भी कहा है।@GI@

रायपुर। कोरोना संक्रमण के बीच पिछले पांच माह से बंद ट्रेनें एक बार फिर पटरी पर दौड़ने के लिए तैयार हैं। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे शुक्रवार 4 सितंबर से तीन ट्रेनों का परिचालन शुरू करने जा रहा है। तीनों ही ट्रेनें रायपुर मंडल की हैं। इसमें रायपुर-कोरबा, दुर्ग-अंबिकापुर इंटरसिटी और रायपुर-केवटी डेमू शामिल हैं। इन ट्रेनों को लेकर रेलवे प्रशासन ने टाइम टेबल भी जारी कर दिया है।
दुर्ग-अंबिकापुर एक्सप्रेस : दुर्ग से 4 से 29 सितंबर और अंबिकापुर-दुर्ग का परिचालन 5 से 30 सितंबर तक होगा। अंबिकापुर जाने वाली ट्रेन रात 9.30 बजे रायपुर से रवाना होकर सुबह 7 बजे अंबिकापुर पहुंचाएगी। वहां से रवाना होने के बाद सुबह 8 बजे रायपुर पहुंचेगी। इस ट्रेन में पूरे साल भीड़ होती है, ऐसे में लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। उत्तरप्रदेश की सीमावर्ती जिलों के लिए यह ट्रेन काफी महत्वपूर्ण है।

रायपुर-कोरबा इंटरसिटी : रायपुर से ट्रेन का परिचालन 4 से 29 सितंबर के बीच प्रत्येक बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार और शनिवार होगा। जबकि कोरबा से ट्रेन 5 से 27 सितंबर के बीच प्रत्येक रविवार, गुरुवार, शुक्रवार और शनिवार को चलेगी। रायपुर से शाम 6 बजे छूटकर रात 9.45 बजे कोरबा पहुंचाएगी। वहां से सुबह 6.35 बजे रवाना होकर सुबह 10.35 बजे रायपुर पहुंचेगी।

रायपुर-केवटी मेमू : रायपुर से दल्लीराजहरा होते हुए केवटी तक जाने वाली डेमू ट्रेन भी 4 से 29 सितंबर तक चलेगी। वहीं केवटी से 5 से 30 सितंबर तक चलेगी। इसी ट्रेन का विस्तार आने वाले दिनों में अंतागढ़ तक किया जाएगा। रायपुर से दुर्ग होते हुए केवटी तक जाने-आने के लिए बड़ी संख्या में यात्री इससे सफर करते हैं। रायपुर से ट्रेन सुबह 9.15 बजे रवाना होगी। वहां से डेमू सुबह 8.55 बजे रायपुर पहुंचेगी।









टेस्टिंग में फिसड्डी रही सरकार की बदइंतजामी के कारण रिकवरी रेट में भी छत्तीसगढ़ सबसे नीचे है। प्रदेश में कोरोना पैर पसार रहा है और मुख्यमंत्री सिर्फ आलाकमान को खुश करने लोकार्पण/शिलान्यास में लगे हैं। बता दें पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की पत्नी वीणा सिंह भी कोरोना संक्रमित हैं और उनका इलाज चल रहा है। 

रायपुर। कोरोना संक्रमण के चलते पिछले पांच महीनो से बसों का संचालन बंद था, जिसके कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था। बस मालिकों को भी काफी नुकसान उठाना पड़ा था। अब बस मालिकों की परिवहन मंत्री मो अकबर के साथ हुई अहम बैठक के बाद उनकी प्रमुख मांगों पर सहमति बन गई है और बंद हुई बस सेवाओं को आज से फिर चालू कर दिया गया हैं।





विधानसभा थाना प्रभारी अश्विनी राठौर के मुताबिक नरदहा गांव के फोकटपारा में 20 वर्षीय खिलेश्वर साहू और 24 वर्षीय कामदेव धीवर लूडो गेम खेल रहे थे. खिलेश्वर ने कामदेव को पहले कुछ पैसे उधार में दिए थे. जिसे वह वापस मांग रहा था. तब कामदेव ने उसे पैसे एक-दो दिन में वापस दे देने की बात कही, लेकिन दोनों के बीच इसे लेकर विवाद बढ़ गया। 

रायपुर। छत्तीसगढ़ की में स्वास्थ्य विभाग की एसीएस निहारिका बारिक की सरकार ने विभाग से छुट्टी दे दी है। विभाग की जिम्मेदारी अब रेणु जी. पिल्ले को दी गई है। रेणु पिल्ले अभी तक एसीएस चिकित्सा शिक्षा विभाग के साथ-साथ छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी के डीजी का एडिश्नल चार्ज संभाल रही थी। अब उन्हें स्वास्थ्य विभाग के एसीएक की भी जिम्मेदारी दे दी गयी है।



धमतरी। छत्तीसगढ़ के धमतरी में रविवार देर रात हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक नक्सली को मार गिराया। जवानों ने सोमवार सुबह नक्सली का शव और एक बंदूक बरामद की है। मारे गए नक्सली की अभी पहचान नहीं हो सकी है। ज्यादा जानकारी जवानों के लौटने के बाद ही मिल सकेगी। मुठभेड़ गरियाबंध-धमतरी के बार्डर से लगते जंगल में हुई।

जानकारी के मुताबिक, गरियाबंद-धमतरी बार्डर पर घोरागांव के जंगलों में 30 से ज्यादा नक्सलियों के होने की सूचना मिली थी। इस पर रविवार को सीआरपीएफ और डीआरजी के जवानों को मौके पर रवाना किया गया। रात करीब 10.30 बजे जवान सीतानदी पार कर जंगल में पहुंचे। उनके घुसते ही नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में जवानों ने भी फायरिंग की। 

रायपुर। शहर के जिला अस्पताल में एक गर्भवती महिला अमानवीयता का शिकार हो गई। डॉक्टर, नर्स या अस्पताल के अन्य स्टाफ, आम लोग किसी ने इंसानियत के नाते मदद का हाथ नहीं बढ़ाया। महिला ने दर्द से कहारते, चींखते हुए अस्पताल की लॉबी में जमीन पर बच्चे को जन्म दिया। उसे कोविड पॉजिटिव आने के बाद गर्भवती महिलाओं के लिए बने कमरे से बाहर निकाल दिया गया था। इसी बीच महिला को तेज दर्द हुआ और वह बेसुध हो गई। महिला के साथ मौजूद उसकी एक रिश्तेदार ने उसकी मदद की। 
मामला कालीबाड़ी इलाके में स्थित जिला अस्पताल का है। इस घटना के बारे में पूछे जाने पर यहां के प्रभारी डॉ. रवि तिवारी ने बताया कि इस घटना के मैंने जांच के आदेश दे दिए हैं। किसकी गलती है, यह तो मैं जांच के बाद ही बता पाऊंगा। दरअसल, किसी भी सर्जरी या डिलिवरी से पहले हम कोविड टेस्ट करते हैं। इस महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर मेकाहारा रेफर किया गया था। मेकाहारा और रायपुर एम्स में ही गर्भवती कोविड पॉजिटिव महिलाओं को भेजा जा रहा है।@GI@