Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है




जानकारी के मुताबिक, आरोपी आकाश ने जनवरी 2020 में चाइल्ड पोर्नोग्राफी वेबसाइट पर वीडियो अपलोड की थी. कुछ महीने पहले एनसीआरबी की निगरानी संस्था नई दिल्ली द्वारा 80 नम्बरों से छत्तीसगढ़ के अलग-अलग स्थानों से कई साइट पर अपलोड करने की शिकायत पीएचक्यू को मिला थी. इसके लिए एनसीआरबी ने आईपी एड्रेस दिया था. इसी आईपी एड्रेस को डिकोड कर रायपुर पुलिस ने जानकारियां निकाली थी. जो रायपुर जिले का था. उसमें मामले दर्ज किए जा रहे है और जो दूसरे राज्य का है उसे पुलिस वापस भेज दे रही है। 

एडिशनल एसपी क्राइम अभिषेक माहेश्वरी का कहना है कि एनसीआरबी से जो आईपी एड्रेस मिला था. उसे डिकोड किया गया है. इसमें जो बाहर का था उसे वापस भेजा गया. रायपुर जिले में चाइल्ड पोर्नोग्राफी अपलोड किए जाने के मामले में अब तक 10 से 12 मामले दर्ज किए जा चुके हैं. सब में आरोपियों की गिरफ्तारी भी हो चुकी है. मंगलवार को भी कोतवाली थाने में आईटी एक्ट के तहत एक मामला दर्ज कर आरोपी की गिरफ्तारी कर जेल भेजा दिया गया है।