Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

नशे के 4 सौदागरों से 10 लाख की प्रतिबंधित दवाइयों का जखीरा बरामद, प्रदेश भर में होता था सप्लाई

02/01/2020
दुर्ग। जिला पुलिस द्वारा नशे के खिलाफ चलाए जा रहे जियो खुलकर अभियान को नए साल की शुरुवात में बड़ी कामयाबी मिली है। इस अभियान के तहत नशे के 4 सौदागरों को गिरफ्तार किया गया है। जिनके कब्जे से 60 पेटी प्रतिबंधित आरटीएक्स केयर कोडिन शिरप और 19 डिब्बा अल्प्राजोलम टेबलेट जप्त की गई है। जिसकी कुल कीमत 10 लाख रु. आकि गई है।

आरोपी मनोज कुमार रमानी 35 वर्ष पिता सिवन लाल रमानी सूर्यविहार जुनवानी रोड मकान नंबर 101, अमृत देवांगन उर्फ रिंकू 32 वर्ष पिता हरिनारायण देवांगन पंचमुखी हनुमान मंदिर कायस्थपारा दुर्ग, सुमीत भोई 27 वर्ष पिता अजय भोई बांसपारा नया बस स्टैंड दुर्ग और अमनप्रीत सिंह 29 वर्ष पिता गोपाल सिंह ढिल्लन सड़क-12 सेक्टर-7 भिलाई का निवासी है। पकड़े गए आरोपी राज्यभर में प्रतिबंधित नशीली दवाईयों की सप्लाई करते थे। आरोपियों में सुमीत भोई पूर्व में नशीली दवाई की बिक्री करने के मामले में जेल की हवा भी खा चुका है। आरोपियों के विरुद्ध एनडीपीएस-8/22(ख) एक्ट के तहत कार्यवाही की गई है।

दुर्ग सीएसपी विवेक शुक्ला ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि दुर्ग जिले में पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज विवेकानंद सिन्हा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय कुमार यादव के मार्गदर्शन एवं अति. पुलिस अधीक्षक(शहर) रोहित झा, उप पुलिस अधीक्षक(क्राइम) प्रवीणचंद तिवारी के नेतृत्व में चलाये जा रहे नशामुक्ति अभियान जियो खुलकर के तहत लगातार अवैध नशे के कारोबार के खिलाफ कार्यवाही की जा रही है। इसी क्रम में 1 जनवरी को रात्रि में मुखबीर की सूचना मिली कि आरोपी अमृत देवांगन उर्फ रिंकू, सुनील भोई व अमनप्रीत सिंह तीनों बाईक से शंकराचार्य जुनवानी की ओर नशीली दवाईयॉ लेकर रवाना हुए है। सूचना पर घेराबंदी कर उन्हे पकड़ा गया। पूछताछ पर उक्त नशीली शिरप मनोज कुमार रमानी(सिंधी) जुनवानी भिलाई के पास जुनवानी रोड जे.जे. इंटरप्राइजेस से खरीदना बताया गया। आरोपी मनोज कुमार को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई।

 जिन्होने कोडिन शिरप को अपने गोदाम तथा कुछ शिरप को अपने क्रेटा कार में रखना बताया। आरोपीगणों के कब्जे से कुल 60 पेटी(7200 नग) प्रतिबंधित नशीली शिरप एवं 19 डिब्बे अल्प्राजोलम टेबलेट कुल जुमला 10 लाख रु. बरामद कर आरोपियों को गिरफ्तार कर ज्युडिशियल रिमांड पर भेजा गया है। पूछताछ के दौरान और अन्य मामलों के खुलासा होने की संभावना है। कार्यवाही में ड्रग इंस्पेक्टर ब्रिजराज सिंह दुर्ग, निरीक्षक यू.के. वर्मा, थाना प्रभारी पुलगांव, निरीक्षक गोपाल वैश्य थाना प्रभारी सुपेला, उपनिरीक्षक बी.पी. शर्मा चौकी प्रभारी जेवरा सिरसा, सउनि आर.एल. वर्मा, प्र.आर. नरेन्द्र सिंह राजपूत, प्र.आर. राजेन्द्र वानखेड़े, आरक्षक सुरेन्द्र साहू, प्रदीप सिंह, फारुख खान की भूमिका सराहनीय रही।