Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

कार चालक सावधान, फास्टैग वाहन चालकों के लिए मुसीबत भी राहत भी

15/12/2019
पूरब टाइम्स।  देशभर में फास्टैग की शुरुआत हो चुकी है | इसके साथ ही टोल टेक्स बैरियर में हंगामा और घंटों जाम का दौर भी शुरू हो गया है | केंद्रीय परिवहन मंत्रालय के निर्देश के बाद 12 बजे के बाद यानी 15 दिंसबर से फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया है, इसके बिना अगर आप नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा पर फास्टैग लेने में ऐंट्री करते है तो जुर्माना देना पड़ सकता है यह जुर्माना टोल टैक्स का दोगुना होगा ऐसे में जरूरी है, कि आप गाड़ी पर फास्टैग लगवाकर तमाम झंझटो से फ्री रहे | अगर आपने छोटी या बड़ी वाहनों पर फास्टैग नहीं लगवाया है,तो आपकी परेशानी बढ़ने वाली है | फास्टैग को गाड़ी की विंडस्क्रीन पर लगाना होगा  इसके बाद अगर आप नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा से गुजरते है तो रुकने की जरूरत नहीं होगी ,टोल प्लाजा पर लगे कैमरे इसे स्कैन कर लेंगे और रकम आपने अकाउंट से अपने आप कट जाएगी ये प्रक्रिया चंद सेकेंड में पूरी हो जाती है। छत्तीसगढ़ में सभी आठ टोल नाकों में ऑनलाइन फास्टैग सुविधा एक साथ शुरू हुई।  बैरियर में शुरुआती दौर में नगद अदाएगी वाले एक या दो लेन ही मुहैया कराई गई है | शेष सभी लेन फास्टैग युक्त रखी गई है।  महाराष्ट्र सीमा से ओडिशा सीमा तक एनएच 6, एनएच 53 में 5 टोल नाके | राजनांदगांव, दुर्ग बाइपास, रायपुर में आरंग लखोली , महासमुंद जिले, में नदी मोड़ से सरायपाली के बीच 2 नाके | बिलासपुर से जगदलपुर तक एनएच 30 में 3 टोल नाके | नांदघाट बाइपास में एक और धमतरी से जगदलपुर तक हाईवे में दो नाके | इसके अलावा रायपुर में मंदिर हसौद एक और रायपुर-बिलासपुर हाईवे में एक टोल नाका सभी शुरू नहीं हुआ है |  

फास्टैग पर स्कैनर के जरिए पेमेंट होगा | ऑनलाइन टोल शुल्क पटाने के लिए रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईटी) वाला टेग बनाया गया है, जिसे फास्टैग नाम दिया गया है | यह टेन गाड़ी की विंडस्क्रीन पर लगेगा जो बैंक अकाउंट या एनएचएआई के पेमेंट वॉलेट से जुड़ा होगा | इससे गाड़ी मालिकों को टोल प्लाजा से गुजरते हुए रुकने की जरूरत नहीं होगी | टोल प्लाजा के सेंसर फास्टैग को रीड कर पैसा अकाउंट या फिर पेमेंट वॉलेट से अपने आप काट लेगा | फास्टैग लगाने के बाद टोल नाकों में बिना रुके आगे निकल सकेंगे | इसमें 24 घंटे से पहले वापसी पर बकाया रकम भी कट जाएगी | इस सिस्टम का सबसे अच्छा फायदा ये है कि अगर 24 घंटे में आप वापसी करते हुए टोल नाके को पार कर रहे हो तो 24 घंटे में दोनों तरफ का तय शुल्क ही आपके खाते से निकलेगा | दरअसल, ऐसा सिस्टम तय किया गया है, कि जाते वक़्त वन साइन का शुल्क कटेगा | अगर आप 24 घंटे से पहले वापस आ रहे हो तो बकाया राशि कटेगी |अब तक ये होता था कि 24 घंटे में वापसी के लिए दोनों तरफ का शुल्क एक साथ ही जमा किया जाता था, लेकिन अगर 24 घंटे से पहले वापस नहीं आए, तो नुकसान उठाना पड़ता था | अब फास्टैग होने पर ऐसे नुकसान से बचा जा सकेगा | फ़िलहाल नया सिस्टम कितना कारगर होगा इस ओर वाहन चालकों और सरकारी महकमे की निगाहें लगी हुई है | बताया जाता है कि देशभर से मिलने वाले फीडबैक के बाद इस सिस्टम में भी सुधार की गुंजाइस है |