Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

नये बस स्टॉपेज हो गए हैं औचित्यहीन , निगम भिलाई ने जानबूझकर रूट प्लान का नहीं रखा ध्यान

08/11/2019
पूरब टाइम्स, भिलाई। निगम के के क्षेत्र में पिछले वर्ष पूर्व जगह- जगह पर बस स्टॉपेज बनाये गये थे जो कि अनुपयोगी साबित हो रहे हैं, बिना सोच- विचार किए ही निगम प्रशासन के द्वारा दनादन क्षेत्र में अनेक अमानक बस स्टॉपेज बनवा दिए हैं जोकि किसी उपयोग में नहीं आ रहे हैं, यहां पर बसें रूकती ही नहीं है और न ही सवारी वाहन ठहरते हैं। सबसे प्रमुख समस्या यह है कि आम जनता भी इसका कोई इस्तेमाल नहीं कर रही है। जिस वजह से यह बेकार और कंडम हो गये . पीपीपीके तहत इसे किसने बनाया , क्यों बनाया और किसने अप्रूव किया इस बात को बताने से निगम के अधिकारी बुचक रहे हैं . आम जनता के द्वारा कोई इस्तेमाल न करने और पीपीपी वाली कंपनी की निगरानी के अभाव में सार्वजनिक संपत्ति केवल दिखावा बनकर रह गई है। पता नहीं क्यों बिना सिटी बस के तय रुकने की जगह को ध्यान में रखे बिना बस स्टॉपेज बनाने में हड़बड़ी दिखाई गई और अब उस पर कोई कार्यवाही क्यों नहीं हो रही है ? अब इस मामले को नगर निगम के कमिश्नर  व दुर्ग जिले के जिलाधीश संज्ञान लेकर , फाइलों की जांच कर दोषियों पर कार्यवाही करेंगे 
.
अब इनका इस्तेमाल असामाजिक तत्वों द्वारा होता है
अब इनका सभी इस्तेमाल नशेड़ी एवं छेड़छाड़ करने वाले असामाजिक तत्व कर रहे हैं। निगम ने जो स्टॉपेज बनाकर दिया है मानो इनको मुंहमांगी मुराद मिल गई हो। यहां पर कोई रोकने- टोकने वाला रहता नहीं है, ये लोग मजे से अपना अड्डा जमा लेते हैं और फिर वहां ताश, सट्टा खेला जाता है। इसके अलावा गांजा, शराब इत्यादि नशे का जमकर सेवन करके मूर्छित अवस्था में यही सो जाते हैं। इनको रहने- सोने की फिक्र ही नहीं करनी पड़ती है , सब कुछ नि: शुल्क आसानीसे उपलब्ध हो जाता है। इसके साथ ही मार्गों में आवागमन करने वाली महिलाओं एवं युवतियों के साथ छेड़छाड़ करनेका स्थायी निवास बन गया है। इन स्टॉपेज को बनाने से पूर्व प्रशासन को पूरी तैयारी कर लेनी थी ताकि आमजनता कोसुविधा का लाभ मिल सके। अब देखना यह है कि प्रशासन इसकी सुध कब लेता है या फिर इसे यूं ही छोड़ दिया जाता है ताकि आगे फिर संधारण के नाम पर मलाई खाई जा सके।