Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

दुनिया की सबसे खुशनसीब जगह जहां नहीं पहुंच पाया कोरोना, रहते हैं मात्र 45 सौ लोग

27/10/2021
पूरब टाइम्स। ब्रिटेन के संत हेलेना आइलैंड को दुनिया की सबसे खुशकिस्मत जगह कहा जा सकता है. जहां दुनिया के लगभग हर देश और इलाके को कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया, वहीं ये एक ऐसी जगह है जहां कोरोना का एक भी मामला  सामने नहीं आया. 2019 में ही दुनिया में कोरोना  ने अपने पैर फैलाने शुरू कर दिए थे. इस वायरस की वजह से कई देश लाशों के ढेर में बदल गए. कुछ ही समय में हालात ऐसे हो गए कि कई देशों में नए कब्रिस्तान बनाए जाने लगे. इस बीच कुछ ही ऐसे देश थे, जिन्होंने अपनी सख्ती की वजह से कोरोना को फैलने नहीं दिया. जहां यूके कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए देशों में शामिल था, वहीं ब्रिटेन में ही मौजूद एक छोटे से द्वीप ने अपनी जमीन पर कोरोना  को टिकने नहीं दिया.

संत हेलेना द्वीप पर शुरुआत से लेकर अभी तक कोरोना का एक भी मामला देखने को नहीं मिला. ये द्वीप मात्र 120 स्क्वायर किलोमीटर में फैला है. साउथ अटलांटिक ओशन के बीच में स्थित इस द्वीप में मात्र 45 सौ लोग रहते हैं. इस आइलैंड को सबसे ज्यादा नेपोलियन की वजह से जाना जाता है.  इसी द्वीप पर 1821 में उसकी मौत हो गई थी.

ना मास्क, ना सोशल डिस्टेंसिंग
कोरोना के एक भी मामले सामने ना आने की वजह से यहां लोगों को मास्क की कोई जरुरत नहीं पड़ती. ना ही यहां लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हैं. अगर सेफ्टी की बात करें तो सिर्फ यहां लोग समय-समय पर हाथ धोते रहते हैं और खांसते हुए मुंह को कोहनी से ढंक लेते हैं. इसके अलावा यहां सेफ्टी के दूसरे तरीके नहीं अपनाए जाते. कोरोना के मामले जीरो होने की वजह से यहां टूरिस्ट्स की भीड़ लगी रहती है. ऐसा लगता हाउ जैसे कहीं कोई महामारी फैली ही नहीं है.

टूरिस्ट के लिए ऐसे नियम
संत हेलेना आइलैंड में आए हर टूरिस्ट को 14 दिन के लिए ब्राडलेस कैंप में क्वारेंटाइन होना पड़ता है. इस कैंप को एयरपोर्ट वर्कर्स के लिए बनाया गया था. लेकिन जब से कोरोना शुरू हुआ, तबसे से इसे क्वारेंटाइन सेंटर बना दिया गया. जहां यूके को कोरोना ने बुरी तरह झकझोर कर रख दिया, वहां इस आइलैंड ने समझदारी से महामारी को कंट्रोल कर लिया. जो भी पर्यटक यहां आते हैं, वो आने से 72 घंटे पहले की कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट और जाने से पहले भी नेगेटिव रिपोर्ट सब्मिट करते हैं. लोग इस आइलैंड द्वारा कोरोना कंट्रोल करने की काफी तारीफ कर रहे हैं.