Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

दुनिया में कई ऐसे देश, जिनके पास नहीं है अपनी सेना, इस तरह से करते हैं अपने बॉर्डर की सुरक्षा

17/10/2021
पूरब टाइम्स। किसी भी देश की सुरक्षा उस देश की सेना करती है. हर देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी सेनाओं पर होती है. जहां पुलिस देश की आंतरिक सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालती है, तो वहीं बाहरी सुरक्षा देश की आर्मी संभालती है. आज हम आपको कुछ ऐसे देशों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके पास अपनी कोई सेना नहीं है.

आप भी यह बात सुनकर चौंक गए होंगे कि कैसे किसी देश के पास कोई सेना नहीं है. आपको लग रहा होगा कि जिन देशों के पास अपनी कोई सेना नहीं होती, उन देशों के बॉर्डर की सुरक्षा कौन करता है. अगर आप चौंक रहे होंगे तो हम आपको बता दें कि इन देशों के सुरक्षा की जिम्मेदारी उनकी सेना नहीं बल्कि दूसरे देश की पुलिस और सेना करती है-

मोनैको- मोनैको एक ऐसा देश है. जहां 17वीं शताब्दी से ही किसी तरह की कोई सेना नहीं है. हालांकि यहां छोटी-छोटी फौज की टुकड़ियां है. सबसे खास बात है कि फ्रांस की सेना इस देश को सुरक्षा प्रदान करती है.

आइसलैंड-यूरोप के दूसरे सबसे बड़े द्वीप में आइसलैंड आता है. आइसलैंड खूबसूरती के मामले में बहुत अच्छा देश है. यहां पर वर्ष 1869 से ही कोई सेना नहीं है. ये देश नाटो का सदस्य है और इसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी अमेरिका की है.

मॉरीशस-मॉरीशस देश में वर्ष 1968 से ही किसी तरह की कोई सेना नहीं है. हालांकि यहां 10 हजार पुलिस कर्मी हैं, जो आंतरिक और बाहरी दोनों तरह की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालते हैं.

वेटिकन सिटी-वैटिकन सिटी दुनिया का सबसे छोटा देश है. उसके पास किसी भी तरह की कोई आर्मी नहीं है. कुछ सालों पहले तक यहां नोबल गार्ड हुआ करते थे. लेकिन वर्ष 1970 में इस संस्था को ध्वस्त कर दिया गया. इस देश की सुरक्षा इटली की सेना करती है