Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

इंजीनियरिंग की पढ़ाई में अब गणित जरूरी नहीं

11/08/2021
रायपुर।  इंजीनियर के लिए अब बारहवीं में गणित लेकर पढ़ाई की जरूरत नहीं है। गणित के बगैर भी इंजीनियरिंग की पढ़ाई की जा सकती है। इंजीनियरिंग के लिए गणित की अनिवार्यता एक तरह से खत्म कर दी गई है। अब बायो पढ़ने वाले छात्र भी इंजीनियर बन सकेंगे। इस बार राज्य के इंजीनियरिंग कॉलेज में नए नियम से ही प्रवेश होगा। नए नियम ने बिजनेस स्टडीज समेत अन्य विषयों की पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए भी इंजीनियरिंग के रास्ते खोल दिए हैं।

अभी तक इंजीनियरिंग के लिए मैथ यानी गणित व फिजिक्स विषय की पढ़ाई अनिवार्य थी। इस सत्र से मैथ व फिजिक्स इंजीनियरिंग के अनिवार्य विषय में शामिल नहीं हैं। विकल्प के तौर पर छात्र भले ही इन विषयों को चुन सकते हैं। अफसरों का कहना है कि इंजीनियरिंग में प्रवेश को लेकर अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने नया नियम लागू किया है।

इस साल प्रवेश उसी नए नियम से किया जा रहा है। शिक्षाविदों का कहना है कि नए नियम से प्रवेश होने से इंजीनियरिंग के प्रति छात्रों का रुझान बढ़ेगा। पिछले कुछ वर्षों में इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश कम हुए हैं। इस वजह से सैकड़ों सीटें खाली रह जाती हैं। नए नियम के बाद कॉलेजों में छात्रों की संख्या बढ़ने की उम्मीद की जा रही है।

पिछली बार 12021 सीटें थी
पिछली बार राज्य के 33 इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश दिए गए थे। इन कॉलेजों में 12021 सीटें थी। इसमें से 5454 सीटों में ही प्रवेश हुए। रायपुर, बिलासपुर व जगदलपुर के सरकारी कॉलेजों को छोड़कर प्रावइेट कॉलेजों में प्रवेश कम हुए थे। शिक्षा सत्र 2021-22 के लिए छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद टेक्नीकल यूनिवर्सिटी (सीएसवीटीयू) से इंजीनियरिंग कॉलेजों की लिस्ट तैयार की गई है। इसके अनुसार ही यह पता चलेगा कि इस बार राज्य के कितने इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश होगा।

14 विषयों में से कोई तीन जरूरी
इंजीनियरिंग में प्रवेश के लिए 14 विषय में से कोई तीन जरूरी रह गए हैं। पहले मैथ व फिजिक्स अनिवार्य विषय थे। शेष 12 विषयों में से कोई एक विषय जरूरी था। अब 14 विषय जिनमें भौतिकी, गणित, रसायन, कंप्यूटर साइंस, इलेक्ट्रॉनिक्स, इंफोर्मेशन टेक्नोलॉजी, बायोलॉजी, इंफॉर्मेटिक्स प्रेक्टिस, जैव प्रोद्योगिकी, तकनीकी व्यावसायिक विषय, एग्रीकल्चर, इंजीनियरिंग ग्राफिक्स, बिजनेस स्टडीज, एंटरप्रेन्योरशिप में से कोई तीन विषय के साथ बारहवीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश ले सकते हैं।