Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

जिला शिक्षा अधिकारी ने अनिवार्य किया हाई और हायर सेकेंडरी वालो के लिए मोहल्ला क्लास

08/07/2021
दुर्ग। जिले में नए शैक्षणिक सत्र की शुरूआत हो चुकी है। प्राथमिक और माध्यमिक शाला के विद्यार्थियों का मोहल्ला क्लास लिया जा रहा है। वहीं हाई व हायर सेकेंडरी स्कूल के अधिकांश शिक्षक आनलाइन क्लास ले रहे हैं। जिला शिक्षा अधिकारी ने अब हाई और हायर सेकेंडरी स्कूल के विद्यार्थियों के लिए भी मोहल्ला क्लास अनिवार्य कर दिया है। इस संबंध में प्राचार्यों को निर्देश जारी किया गया है। पिछले कोरोना काल के अनुभवों को देखते हुए जिला शिक्षा अधिकारी ने यह निर्देश जारी किया है। ग्रामीण अंचलों में नेटवर्क कनेक्टिविटी की समस्या बनी रहती है।

करीब 50 फीसद विद्यार्थियों के पास एनड्राइड मोबाइल फोन नहीं है। पिछले कोरोना काल में एक मोबाइल फोन पर चार-पांच बच्चे आन लाइन पढ़ाई करते थे। विभाग का मानना है कि ऐसे में सभी विद्यार्थियों को पढ़ाए जाने वाले विषय समझ में आ जाए यह संभव नहीं है। इसे ध्यान में रखते हुए जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा हाई व हायर सेकेंडरी स्कूल के सभी शिक्षकों को मोहल्ला क्लास लेने कहा जा रहा है। शिक्षक चाहें तो स्कूल के बरामदे में अथवा गांव के सामुदायिक भवन या अपनी व्यवस्था के हिसाब से क्लास ले सकते हैं। कुछ स्कूलों के शिक्षकों ने मोहल्ला क्लास लेना शुरू कर दिया है। वहीं प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक शालाओं में मोहल्ला क्लास नियमित चल रहा है।

हर संकाय की दो-दो दिन क्लास
मोहल्ला क्लास को लेकर जिला शिक्षा विभाग द्वारा रूपरेखा भी तैयार की गई है। जिसके मुताबिक हर संकाय की क्लास सप्ताह में दो-दो दिन लेने कहा गया है। हायर सेकेंडरी में गणित,वाणिज्य और कला संकाय है। यदि हर संकाय की दो-दो दिन क्लास ली गई तो भी पढ़ाई बेहतर ढंग से हो सकती है।
मोहल्ला क्लास का संचालन के दौरान कोरोना से बचाव के नियमों का पालन करना अनिवार्य है। मोहल्ला क्लास में शामिल होने के लिए विद्यार्थियों पर दवाब भी नहीं डाला जाएगा।

45 शिक्षकों की गई थी जान
पिछले कोरोना काल में दुर्ग जिले में बड़ी संख्या में शिक्षक सहित शिक्षा विभाग का अन्य स्टाफ कोरोना संक्रमित हुआ था। कोरोना की चपेट में आने से जिले में करीब 45 शिक्षकों की मौत हुई थी। इसे ध्यान में रखते हुए अधिकांश शिक्षक मोहल्ला क्लास लेने के पक्ष में नहीं है। शिक्षकों का कहना है कि वे तो कोरोना से बचाव के नियमों का पालन कर लेंगे लेकिन विद्यार्थियों को नियमों का पालन करवाना कठिन काम है। कई विद्यार्थी इधर-उधर घूमते भी रहते हैं। इन परिस्थितयों को ध्यान में रखते हुए पिछले साल भी शिक्षक संघ ने मोहल्ला क्लास लिए जाने का विरोध किया था।

सभी शिक्षकों को लेना है मोहल्ला क्लास
आनलाइन पढ़ाई के पिछले अनुभवों को ध्यान में रखते हुए इस बार हाइ व हायर सेकेंडरी स्कूल के शिक्षकों को मोहल्ला क्लास लेने कहा गया है। इस संबंध में सभी स्कूल के प्राचार्यों को निर्देश जारी किया गया है।