Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

केएल राहुल को टीम मैनेजमेंट ने टेस्ट में ओपनर से मध्यक्रम बल्लेबाज बना डाला, आकाश चोपड़ा हुए हैरान

08/07/2021
नई दिल्ली। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले शुभमन गिल चोटिल हो गए और इसके बाद वो इस टेस्ट सीरीज से बाहर भी हो गए। गिल के बाहर होने के बाद रोहित शर्मा के साथ पारी की शुरुआत करने का पहला विकल्प मयंक अग्रवाल ही हैं। मयंक का बतौर ओपनर काफी अच्छा रिकॉर्ड है और उन्होंने अब तक दो दोहरे शतक के साथ 1005 रन बनाए हैं। हालांकि पिछले कुछ टेस्ट मैचों में उन्हें बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला है, लेकिन वो इस वक्त टीम इंडिया के कुछ बेहतरीन ओपनर्स में से एक हैं। 

मयंक अग्रवाल के अलावा टीम इंडिया के पास केएल राहुल को भी आजमाने का विकल्प है, लेकिन टीम इंडिया के पूर्व ओपनर बल्लेबाज आकाश चोपड़ा को लगता है कि, ऐसा नहीं होगा। यही नहीं उन्होंने टीम मैनेजमेंट के उस फैसले पर भी आश्चर्य जाहिर किया जिसमें कहा गया है कि, वो केएल राहुल को मध्यक्रम के बल्लेबाज के रूप में देख रहे हैं। मैनेजमेंट के इस फैसले पर आकाश चोपड़ा हैरान हैं क्योंकि केएल राहुल ने टेस्ट क्रिकेट में ज्यादातर ओपनिंग की है। राहुल ने भारत के लिए 36 टेस्ट खेले हैं जिसमें से उन्होंने 33 मैचों में 36.82 की औसत से 1915 रन बनाए हैं। यही नहीं टेस्ट में उन्होंने पांच शतक भी ओपनिंग करते हुए ही लगाए हैं। 

आपको बता दें कि, कुछ दिन पहले ही दैनिक जागरण को एक सूत्र ने बताया था कि इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज मे केएल राहुल ओपनिंग नहीं करना चाहते और इसके लिए उन्होंने टीम मैनेजमेंट को भी बता दिया है साथ ही विराट कोहली भी अपने चहेते से ओपनिंग नहीं करवाना चाहते क्योंकि इससे हो सकता है उनका क्रिकेट करियर खराब हो जाए। अब आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि, इस कहानी में दो पहलू हैं। पहला ये कि भारत के पास मयंक अग्रवाल और अभिमन्यू ईश्वरन हैं जो ओपनिंग कर सकते हैं। दूसरा ये कि, केएल राहुल ओपनिंग कर सकते हैं, लेकिन टीम मैनेजमेंट उन्हें मध्यक्रम के बल्लेबाज के तौर पर देख रहा है। 

आकाश चोपड़ा ने कहा कि, ये चौंकाने वाला है क्योंकि राहुल ने अपने सभी पांच शतक टेस्ट में ओपनिंग करते हुए लगाए हैं। ऐसे में टीम मैनेंजमेंट अचानक ही क्यों उन्हें मध्यक्रम के बल्लेबाज के तौर पर देख रहा है मुझे नहीं पता।मैंने सोचा था कि वो हमेशा एक बैक-अप सलामी बल्लेबाज था, लेकिन जाहिर तौर पर वो नहीं है। असाधारण परिस्थितियों में भी। मैं समझता हूं लेकिन जो मुझे समझ नहीं आ रहा है वो यो है कि केएल राहुल अब सलामी बल्लेबाज नहीं हैं, वो मध्यक्रम बल्लेबाज हैं, वाह।