Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

चरोदा में हुई लूट के मामले को 36 घंटों के भीतर पुलिस ने सुलझा लिया है,आरोपियों की तलाश में लगी पुलिस की टीमों को बड़ी सफलता मिली

04/06/2021

पूरब टाइम्स,भिलाई। चरोदा में 2 जून की आधी रात को हुई लूट के मामला पुलिस ने सुलझा लिया है. आरोपियों की तलाश में लगी पुलिस की टीमों को बड़ी सफलता मिली और घटना के 36 घंटों के भीतर पुलिस ने मामले का खुलासा किया। मामले में पुलिस ने समीर मानिकपुरी (20) जोन 3 चरोदा, दीप सिंह शेरगिल उर्फ दीपक (24) सुभाष चौक खुर्सीपार,आर्शीवादम मणिक्यम मानवेल उर्फ छोटू (21) नवीन नगर चरोदा और ओंकार निषाद उर्फ अभय (20) ग्राम अहिवारा को गिरफ्तार किया गया। 


युवकों के पास से पुलिस ने लूट की कार सीजी 07 बीडब्ल्यू. 6438 कीमती, 1 मोबाईल, पीडि़त का पर्स, एटीएम, ड्राईविंग लायसेंस, आधार कार्ड, पेन कार्ड, नगदी 1200 घटना में इस्तेमाल किये गए दो बाइक बरामद किया। दरअसल पूरा मामला 2 जून की रात का है। पंचशील नगर पूर्व चरोदा निवासी के एएस शंकर राव अपनी कार सीजी 07 बीडब्ल्यू 6438 दुर्ग से वापस आते रात 12.45 बजे बालाजी मार्बल एण्ड टाईल्स चरोदा के पास कार रोककर मोबाइल पर परिचित से बातचीत कर रहे थे।


इस दौरान दो बाइक में चार युवक आए और एक युवक कार को ड्राईवर साईड से खटखटा रहा था। जिसे देख शंकर ने अपनी कार की कांच को नीचे कर पूछने लगा। इसके बाद युवकों ने शंकर से गली गलौज करना शुरू कर दिया। इस दौरान शंकर कार के बाहर निकल गया। मौका पाते ही एक युवक कार लेकर फरार हो गया। वही तीन युवकों ने शंकर से मारपीट कर मोबाइल लूट कर रायपुर की ओर भाग निकले। मामले की शिकायत के बाद पुलिस ने जांच शुरू की और 36 घंटों के भीतर ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

            ऐसे पहुंची पुलिस लुटेरों तक
पुलिस ने लूटी गई कार से किसी गंभीर घटना की आशंका को देखते हुए तत्काल 294,505,394 के तहत जुर्म दर्ज किया और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी। एएसपी संजय ध्रुव, सीएसपी विश्वास चंद्राकर के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी विनय सिंह बघेल व उनकी टीम ने घटना को ट्रेस किया। पुलिस ने बताया कि आरोपियों को पकडऩे के लिए पहले टीम बनाई गई उसके बाद आसपास में लगे सीसी टीवी कैमरे को खंगाला गया। 250 अलग अलग मार्गों पर सीसीटीवी फुटेज देखे गए। लूटेरों को पकडऩे के लिए पुलिस की 5 टीमों ने संयुक्त प्रयास किया। टीम के संयुक्त प्रयास से आरोपियों का अहम इनपुट के आधार पर पुलिस को सफलता मिली।