Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

गर्मी की शुरुआत नहीं हुई और सात फीट नीचे गिर गया जल स्तर

17/02/2021

दुर्ग। जिले के कुछ क्षेत्रों में अभी से भू-जल स्तर नीचे जाने लगा है। धमधा व दु्‌र्ग के ब्लाक के कुछ गांवों में भू-जल स्तर में गिरावट को लेकर शिकायत सामने आने लगी है। जल स्तर गिरने से गर्मी की फसल गेंहू, धान और चना बोने वाले किसान इस बात से चिंतित है कि जरूरत पड़ने पर वे पानी की व्यवस्था कहां से करेंगे।

दुर्ग जिले के सिली, परसुली, अरसनारा, बोड़ेगांव, कोड़िया, दनिया, डोमा, पथरिया, पोटिया, दनिया, बीरेभाट, बासीन सहित आसपास के कुछ गांवों में भू-जल स्तर करीब पांच से सात फीट नीचे चला गया है। भू-जल स्तर एकाएक नीचे चले जाने से किसान परेशान है।

वैसे भी यह क्षेत्र ड्राइ जोन में आता है। लेकिन गर्मी शुरू होने के कुछ दिनों बाद ही भूजल स्तर में गिरावट देखने को मिलती रहती है। लेकिन जिले में अभी तो गर्मी की शुरुआत नहीं हुई है और जल-स्तर तेजी से नीचे चला जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार अरसनारा और सगनी घाट के निकट बने एनीकट से पिछले दिनों पानी छोड़ा गया था। किसानों को यह आशंका है कि एनीकट में पानी का लेबल कम होने की वजह से भू-जल स्तर तो नीचे नहीं जा रहा है।

ग्राम परसुली के किसान रमेश पटेल का कहना है कि क्षेत्र ड्राइ जोन जरूर है लेकिन वाटर लेबल इतना जल्दी नीचे नहीं जाता। वहीं बोड़ेगांव निवासी रविप्रकाश ताम्रकार ने बताया कि भू-जल स्तर नीचे से गर्मी में लगाए गए धान फसल की सिंचाई को लेकर किसान परेशान है आखिर इसके लिए पानी कहां से आएगा।

वैसे भी धमधा ब्लाक में भू-जल स्तर की स्थिति कभी अच्छी नहीं रही है। यहां गर्मी के दिनों में वाटर लेबल डेढ़ से दो सौ फीट तक नीचे चला जाता है।