Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

आज ही लगवाएं फास्टैग, अन्यथा भरना पड़ेगा दुगना टोल

15/02/2021
नई दिल्ली। टोल वसूली के लिए आज से फास्टैग लगवाना अनिवार्य होगा। ऐसा ना करने पर 15-16 फरवरी की आधी रात से दोगुना वसूली की जाएगी। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को स्पष्ट कर दिया कि इस बार वाहनों फास्टैग लगवाने में कोई राहत नहीं दि जाएगी। केंद्र सरकार ने फास्टैग से टोल वसूली अनिवार्य कर दी है।

नितिन गडकरी ने नागपुर एयरपोर्ट पर इस बारे में कहा, फास्टैग से टोल वसूली लागू करने की समय सीमा आगे नहीं बढ़ाई जाएगी। बिना फास्टैग वाले या निष्क्रिय फास्टैग वाले वाहनों से जुमार्ने के तौर पर दोगुना टोल वसूला जाएगा। वाहन चालकों को तत्काल ई-पेमेंट सुविधा का उपयोग शुरू कर देना चाहिए।
उन्होंने आगे कहा, बहुत सारे रास्तों पर 90 फीसदी तक फास्टैग पंजीकरण हो चुका है। 

फास्टैग सभी टोल नाकों पर उपलब्ध है और लोगों को इसे खरीदना चाहिए ताकि वे बिना रुकावट वाले यातायात का मजा ले सकें। इसके अलावा केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय ने भी रविवार को कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गों पर सोमवार-मंगलवार की मध्यरात्रि से सभी टोल बूथों को सौ फीसदी फास्टैग लेन कर दिया जाएगा।
                फास्टैग काम कैसे करता है?
जब आप टोल प्लाजा से गुजरेंगे तो टोल प्लाजा पर लगा फास्टैग रीडर आपके फास्टैग के बारकोड को रीड करेगा। इसके बाद टोल फीस आपके बैंक अकाउंट से कट जाएगी। इससे सबसे बड़ा फायदा यह होगा की अब टोल प्लाजा पर गाड़ियों की लंबी-लंबी लाइने नहीं लगेंगी। ये फास्टैग अभी दो पहिया वाहनों के लिए नहीं है। RFID को नेशनल पेमेंट्स कोऑपरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने बनाया है।
            2016 में लागू किया गया था फास्टैग
सबसे पहले फास्टैग से टोल वसूली को 2016 में लागू किया गया था।कई चरणों के बाद एक दिसंबर, 2019 से इसे सभी के लिए अनिवार्य कर दिया गया था। लेकिन तब से कई बार इसकी समयसीमा को बढ़ाया जा चुका है। आखरी बार केंद्र सरकार ने इसे एक जनवरी से अनिवार्य करने की घोषणा की थी। लेकिन एक बार फिर इसकी समयसीमा को बढ़ाकर 15 फरवरी कर दिया गया था।