Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

छत्तीसगढ़ में अब युवा पीढ़ी को मिलेगी अंग्रेजी माध्यम में निःशुल्क शिक्षा

14/01/2021
कवर्धा। प्रदेश के परिवहन, आवास एवं पर्यावरण, वन, विधि विधायी कार्य विभाग के मंत्री मोहम्मद अकबर ने आज प्रदेश को शिक्षा के क्षेत्र में एक नई दिशा देने वाली छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा प्रारंभ की जा रही अंग्रेजी माध्यम के स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल भवन निर्माण का भूमिपूजन किया। इस अवसर नगर पालिका अध्यक्ष ऋषि शर्मा, कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा, जिला पंचायत सीईओ विजय दयाराम, डीएफओ दिलराज प्रभाकर, कन्हैया अग्रवाल, कलीम खान, उपाध्यक्ष जमील खान, भीखम कोसले, मोहित महेश्वरी, नरेन्द्र देवांगन, चुनवा खान, अशोक सिंह, सुनील साहू, दलजीत पाहुजा, राजकुमार तिवारी, गंगोत्री योगी सहित पार्षदगण एवं शिक्षक-शिक्षिका उपस्थित थे। 

कबीरधाम जिले के जिला मुख्यालय कवर्धा में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम का यह पहला स्कूल खुलने जा रहा है। राज्य शासन द्वारा इस स्कूल के भवन निर्माण के लिए 2 करोड़ 48 लाख रूपए की मंजूरी दी गई है। इस स्कूल में दाखिला लेने वाले सभी विद्यार्थियों को बेहतर शैक्षणिक सुविधा देने सर्व सुविधा युक्त प्रयोगशाला कक्ष, पुस्तकालय, ओपन जिम, बच्चों की खेलने की सुविधा, ऑडिटोरियम, शौचालय, साइकल स्टैंड, स्वच्छ पानी पीने की उत्तम व्यवस्था सहित अन्य सुविधाएं होगी। बेहतर और उत्कृष्ट शिक्षा को ध्यान में रखते हुए विद्यार्थियों को स्मार्ट क्लास प्रोजेक्टर के साथ अध्यापन कराया जाएगा। 

वर्तमान मे अंग्रेजी माध्यम स्कूल में कक्षा पहली में 81, दूसरी में 96, तीसरी में 104, चौथी में 43, पांचवी में 41, छठवीं में 41, सातवी में 51, आठवी में 50, नवमी में 50, दसवी में 36, ग्यारहवी में 91 कुल इस तरह स्वामी आत्मानंद के इस स्कूल में 682 विद्यार्थी अध्यनरत है। कोवडि-19 कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए विद्यार्थियों को छत्तीसगढ़ सरकार की पढ़ई तुहंर दुआर कार्यक्रम के तहत ऑनलाईन पढ़ाई, टेस्ट परीक्षा, एसाईमेंट तथा विभिन्न प्रकार के शैक्षणिक गतिविधियां और प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि शिक्षा हर समाज और देश की प्रगति का प्रतिबिम्ब है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सकारात्मक सोच से छत्तीसगढ़ सरकार ने उन परिवारों के सपनों को साकार करने का बीड़ा उठाया है, जो कमजोर आर्थिक स्थिति की वजह से अपने बच्चों को महंगे अंग्रेजी निजी स्कूलों में शिक्षा दिलाने में समर्थ नहीं थे। छत्तीसगढ़ शासन ने गरीब परिवारों के प्रतिभाशाली बच्चों के बेहतर शिक्षा के प्रबंध में एक और कड़ी को शामिल कर लिया है। यह कड़ी अंग्रेजी मीडियम के सरकारी स्कूल हैं, जहां बच्चों को मुफ्त में राष्ट्रीय स्तर की शिक्षा अंग्रेजी माध्यम से दिए जाने की पहल शुरू कर दी गई है। 

छत्तीसगढ़ जैसे हिंदी भाषी राज्य के छात्रों की प्रतिभा निखारने और उन्हें राष्ट्रीय स्तर की सभी प्रकार की प्रतियोगिताओं के काबिल बनाने के उद्देश्य से अंग्रेजी मीडियम में अध्ययन-अध्यापन को बढ़ावा देने के लिए स्वामी आत्मानंद के नाम से इंग्लिश मीडियम के स्कूल की शुरूआत की गई है। प्रथम चरण राज्य में 52 इंग्लिश मीडियम स्कूल राज्य के सभी जिला मुख्यालयों में शुरू कर दिए गए हैं। आगामी शिक्षा सत्र से 100 और नए इंग्लिश मीडियम स्कूल ब्लाक मुख्यालयों में खोले जाएंगे।