Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

राजनांदगाव सांसद संतोष पांडेय ने रामधुन गाकर आदिवासियों का जीता दिल

24/12/2020
रायपुर । देशभर में एक और जहां आदिवासियों को हिंदू समाज से अलग करने के लिए अलग अलग तरीके अपनाए जा रहे हैं। आदिवासियों को बताया जा रहा है कि वह हिंदू नहीं आदिवासी हैं, उनका धर्म अलग है। इन सब के बीच छत्तीसगढ़ के एक सांसद आदिवासियों को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए रामधुन का इस्तेमाल कर रहे हैं। आदिवासियों के बीच रामायण की चौपाई पढ़ रहे हैं और बता रहे हैं कि आदिकाल से आदिवासी हिंदू समाज के अंग रहे हैं।

राजनांदगांव के भाजपा सांसद संतोष पांडे लगातार सुदूर वनांचल में छोटे-छोटे कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं। इस कार्यक्रम में वह रामायण की चौपाई पढ़ रहे हैं और आदिवासी समाज के लोगों को यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि उनका भी भगवान श्रीराम से नाता रहा है। अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर के लिए आदिवासी समाज को जोड़ने का भी काम कर रहे हैं। दरअसल, भाजपा राम मंदिर के लिए राशि एकत्र करने जा रही है। इसी कड़ी में आदिवासी घरों तक पहुंचने का बीड़ा सांसद संतोष पांडे ने उठाया है।

सांसद पांडे ने कहा कि आदिवासी समाज को भ्रमित किया जा रहा है। उन्हें यह बताने की कोशिश की जा रही है कि वह आदिवासी हैं, न कि हिंदू। जबकि रामायण काल से आदिवासी हिंदू समाज से जुड़े हैं और हिंदू समाज के अभिन्न अंग रहे हैं। राम मंदिर के लिए आदिवासी समाज के लोग भी सहयोग राशि दे रहे हैं। इससे उनका भगवान श्रीराम से सीधे जुड़ाव  होगा।