Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

राज्यपाल के नाम से जारी फर्जी खत मामले में दर्ज हुई एफआईआर

14/09/2019

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके के फर्जी दस्तखत से वायरल हुए एक पत्र के मामले में शुक्रवार को रायपुर के सिविल लाइंस थाने में केस दर्ज कर लिया गया। इस चिट्ठी में लिखा था कि छत्तीसगढ़ में आदिवासी मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए। इसके लिए कांग्रेस विधायकों को कथित तौर पर 50-50 करोड़ रुपए में खरीदकर तथा मंत्री पद का प्रलोभन देकर भाजपा सरकार बनानी चाहिए। पिछले महीने वायरल हुए इस पत्र को खुद राज्यपाल ने फर्जी करार देते हुए डीजीपी डीएम अवस्थी को जांच के निर्देश दिए थे। डीजीपी के निर्देश पर रायपुर पुलिस ने इस चिट्ठी की जांच की। प्रारंभिक जांच में पाया गया कि यह पूरी तरह से फर्जी पत्र था।  जांच में पुलिस को यह जानकारी भी मिली है कि राज्यपाल पूर्व में राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग में थी वहीं के लैटरपैड पर यह चिट्ठी लिखी गई है। इसमें छत्तीसगढ़ के किसी भाजपा कार्यकर्ता मोहित राम का नाम लिखा गया है। पुलिस उसकी तलाश में है, ताकि पूछताछ की जा सके और पता चले कि राज्यपाल के फर्जी दस्तखत आखिर किसने किए थे।