Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

इंदिरा मार्केट सब्जी बाजार में बिना मास्क के व्यवसाय करते नजर आ रहे है व्यवसाई, दुर्ग निगम का स्वास्थ्य विभाग लापता

05/09/2020
पूरब टाइम्स,दुर्ग। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव व रोकथाम के बीच सरकार द्वारा अनलॉक -4 में अधिकांश कारोबार को छूट दे दी गई है। कारोबारों को छूट दिए जाने के बाद बाजार में खरीददारी के लिए पहुंचने वाले लोगों में से अधिकांश कोरोना से बचाव के लिए शासन द्वारा जारी गाइड लाइन का पालन करते नजर नहीं आ रहे है। 

शहर के सब्जी बाजार इंदिरा मार्केट सहित अन्य व्यापारिक स्थल में खरीददारी के लिए पहुंचने वाले लोगों में अधिकांश फीजिकल डिस्टेसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं। कई उपभोक्ताओं के साथ दुकानदार भी मास्क पहने बिना दुकान में बैठे नजर आते हैं। निगम प्रशासन द्वारा ऐसे लोगों के खिलाफ कार्यवाही के लिए कोई अभियान नहीं चलाया जा रहा है। 

पूर्व में निगम के स्वास्थ्य विभाग अमला ने गंजपारा, नया बस स्टैंड, पचरी पारा, फरिश्ता कॉम्पलेक्स क्षेत्र, इंदिरा मार्केट स्टेशन रोड की दुकानें, हटरी बाजार, गांधी चौक ब्राह्मण पारा, मान होटल क्षेत्र में अभियान चलाया था। इस दौरान निगम अमले ने 70 लोगों से जुर्माना वसूल किया था। जिनमें कुछ लोगों से फीजिकल डिस्टेसिंग का पालन नहीं करने व कुछ लोगों से बिना मास्क लगाए बाजार आने पर जुर्माना वसूल किया गया था। निगम ने सौ रुपये से लेकर पांच सौ रुपये तक जुर्माना वसूल किया था, परंतु दुर्ग निगम के स्वास्थ्य विभाग अमला अब चालानी कार्यवाई से मौन है। 

शहर के सब्जी बाजार,इंदिरा मार्केट सहित अन्य व्यापारिक स्थलों में बिना मास्क लगाए बाजार पहुंचने वालों तथा बाजार में खरीददारी के दौरान फीजिकल डिस्टेसिंग का पालन नहीं करने वाले  लोगों से जुर्माना वसूला बंद कर दिया है। बिना मास्क के नजर आते सब्जी व्यापारी, मिष्टान भंडार में सभी विक्रेता बिना मास्क व्यवसाय करते देखे जा सकते हैं । क्या दुर्ग नगर निगम आयुक्त निगम के स्वास्थ्य विभाग को कार्यवाही करने के निदेश देंगे ?

पूरब टाइम्स ने प्रमुखता से खबर बनाई थी कि दुर्ग नगर निगम के कर्मचारी भी अब बिना मास्क के निगम कार्यालय में नजर आने लगे. इस पर आयुक्त इंद्रजीत बर्मन ने कार्यवाही करते हुए कई कर्मचारियों पर पेनाल्टी लगाई थी व चेतावनी भी दी थी. क्या अब निगम के स्वास्थ्य विभाग अमला कार्यवाही करने के लिये इस बार भी आयुक्त के निर्देश का इंतज़ार कर रहा है। 

विदित हो दुर्ग जिले में दिन ब दिन कोरोना के मरीज मिल रहे है. दुर्ग जिले में बिना मास्क के ऐसे ही लोग घूमते व व्यवसाय करते रहे तो दुर्ग जिले को एक बड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है. अब लोगों के दिमाग में यह प्रश्न कौंध रहा है कि क्या राजनांदगांव की तर्ज़ पर दुर्ग जिला प्रशासन, कड़े निर्देश देकर, सात दिवसीय लॉकडाउन करवाएगा ?