Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

शंकरा कोरोना केयर सेंटर में लापरवाही का आलम जारी, उधर क्या कलेक्टर साहब भोजन करने में व्यस्त रहे?

05/09/2020

पूरब टाइम्स,भिलाई। शंकरा कोरोना केयर सेंटर जुनवानी में गुरुवार को दाखिल एक मरीज कराहता रहा , बिना चादर के बेड पर। वह मरीज तड़पते-तड़पते आखिर दुनिया से चल बसा। तब भी यहां के जिम्मेदारों की इंसानियत नही जागी। रात 10:30 बजे तक उसके शव को बेड से उठाया ही नही गया था। जिससे आसपास इस वार्ड में मौजूद दूसरे मरीज दहशत में आ गए थे।

कोरोना काल में अस्पतालों में घोर लापरवाही उजागर हो रही है। सूत्रों के अनुसार ,भिलाई के शंकरा कोरोना केयर सेंटर में भी शव ही बदल दिए गए हैं। अनेक मुद्दों को गंभीरता से नही लिया जा रहा है , तो इस लापरवाही के लिए जिम्मेदार किसे माना जाए? अस्पताल प्रबंधन या जिला प्रशासन ?

कोरोना मरीजों की मौत के बाद उनके शव बदल दिए गए। इनमें एक मरीज का शव, दूसरे मरीज दसरथ मार्कण्डेय के परिजनों को विजय मुखर्जी का शव सौप दिया गया और दसरथ मार्कण्डेय का शव विजय मुखर्जी के परिजनों को सौप दिया। 

इतना ही नहीं लापरवाही का आलम यह रहा कि जब इस गड़बड़ी का पता चला तब भी ध्यान नहीं दिया गया। क्या जिला प्रशासन, केयर सेंटरों में चल रहे अंधा धुंध लापरवाही को संज्ञान लेगा या किसी सेंटर में भोजन कर अखबारों में सुर्खियां पाने में व्यस्त रहेगा ? देखिये वीडियो