Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

जिला अस्पताल में युवती की मौत, कोरोना टेस्ट के बाद शव परिजनों को सौंपा

30/08/2020
बालोद। जिले के डौंडी ब्लॉक के ग्राम ओड़गांव, घोटिया में 26 साल की एक युवती शैलेन्द्री पुरामे की मौत पीलिया से हो गई। युवती को पीलिया कब से था इस बात का अंदाजा न परिजनों को था ना ही उस खुद युवती को। बीच-बीच में उसकी तबीयत खराब होती रहती थी लेकिन कभी ठीक से जांच नहीं करवाए थे। दो दिन पहले ही युवती को पहले तबीयत खराब होने पर डौंडी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया था। जहां डॉक्टरों ने बताया कि इसे पीलिया है और रिस्क भी बढ़ गया है। इसे जिला अस्पताल ले जाओ। 

शुक्रवार को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहां इलाज चल ही रहा था कि युवती ने शनिवार को दोपहर 12 बजे दम तोड़ दिया। युवती के भाई रंजीत का कहना है कि बहन को पीलिया कब से था कोई नहीं जान पाए। जब उसे चेकअप कराने गए तब डॉक्टर से पता चला। तब तक बहन की हालत बहुत ही खराब हो गई थी और डॉक्टर भी उसे बचा ना पाए।
             कोरोना टेस्ट के बाद ही सौंपा गया लाश
पीलिया से मौत होने के बाद डॉक्टरों को इस बात का भी संदेह था कि कहीं युवती को कोरोना तो नही? मौत के बाद उसकी लाश को तब तक नहीं सौंपा गया, जब तक कि उसकी कोरोना जांच के बाद रिपोर्ट नेगेटिव नहीं आती। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद लाश सौंपा गया। जिसे मुक्तांजलि से फिर गांव छोड़ा गया। मृतक युवती 12 वीं तक पढ़ी थी और कंप्यूटर प्रशिक्षित थी। घरवालों का कहना है कि अगले साल शादी की तैयारी थी। कुछ रिश्ते आ रहे थे लेकिन रिश्ता फाइनल नहीं हुआ था। अचानक इस घटना में परिवार को झकझोर कर रख दिया।