Poorabtimes

जिसे सब छुपाते है उसे हम छापते है



Detail

भौतिकविद स्टीफन हॉकिंग ने वसीयत में लगाया था अंगूठा, छोड़ी 16.3 मिलियन पाउंड की संपत्ति

26/04/2020

दुनिया के सबसे प्रसिद्ध भौतिकविदों में से एक, स्टीफन हॉकिंग अपनी वसीयत में 16.3 मिलियन पाउंड छोड़ गए हैं। मोटर न्यूरॉन बीमारी के कारण उन्होंने इसमें हस्ताक्षर नहीं किए थे और अंगूठे का निशान लगाया था। हॉकिंग ने अपने तीन बच्चों और तीन पोते-पोतियों के लिए ट्रस्ट फंड में बड़ी संपत्ति छोड़ी है। द सन की एक रिपोर्ट के अनुसार, अपने वफादार निजी सहायक 71 वर्षीय जूडिथ क्रैसडेल को उन्होंने 10,000 पाउंड दिए हैं।

बताते चलें कि हॉकिंग की मृत्यु साल 2018 में कैम्ब्रिज में 76 वर्ष की आयु में हुई थी। यह भी अपने आप में बहुत खास बात है क्योंकि मोटर न्यूरॉन बीमारी की वजह से 21 साल की उम्र में डॉक्टरों ने चेतावनी दी थी कि वह तीन साल से ज्यादा नहीं जी पाएंगे। मगर, जीने की ललक और मजबूत इच्छाशक्ति की वजह से हॉकिंग न सिर्फ जीए, बल्कि अपने सयम के महान शोधकर्ताओं में से एक बने।

वैज्ञानिक ने अपने अकादमिक पुरस्कारों और पदकों को अपने बच्चों, रॉबर्ट, टिमोथी और लूसी के बीच बांटने की बात भी वसीयत में लिखी है, जिसमें 13 मानद उपाधियां, यूएस प्रेसिडेंशियल मेडल ऑफ फ्रीडम और कंपेनियन ऑफ ऑनर शामिल है। हॉकिंग के 13-पन्नों की अपनी वसीयत साल 2007 में अंगूठे का निशान लगाकर बनाई थी क्योंकि मोटर न्यूरॉन बीमारी की वजह से वह हस्ताक्षर नहीं कर सकते थे।

वह पूरी तरह से व्हीलचेयर पर निर्भर थे और अपने भाषण या संवाद के लिए एक कंप्यूटर का इस्तेमाल करते थे। बताते चलें कि इस हफ्ते की शुरुआत में उनकी बेटी लूसी ने कहा कि रॉयल पैपवर्थ अस्पताल (Royal Papworth Hospital) में उनका वेंटिलेटर को दान कर दिया है, जहां COVID-19 के रोगियों की देखभाल चिकित्साकर्मी कर रहे हैं। उनके पिता को इस अस्पताल में शानदार, समर्पित और दयालु देखभाल मिली थी।